पुलिस कर्मियों के खिलाफ रेप का 'झूठा' मुकदमा दर्ज कराने के केस में महिला गिरफ्तार

उच्च न्यायालय के निर्देश पर कांस्टेबल शिशुपाल जगधने और एस गव्हाणे और ऑटोरिक्शा चालक घुरे को गिरफ्तार कर लिया गया. (सांकेतिक तस्वीर)
उच्च न्यायालय के निर्देश पर कांस्टेबल शिशुपाल जगधने और एस गव्हाणे और ऑटोरिक्शा चालक घुरे को गिरफ्तार कर लिया गया. (सांकेतिक तस्वीर)

अधिकारी ने बताया कि महिला ने बंबई उच्च न्यायालय (Bombay Highcourt) का रुख कर आरोप लगाया था कि 11 जनवरी को मानव तस्करी (Human Trafficking) के मामले की जांच के बहाने से उसके साथ बलात्कार किया गया.

  • भाषा
  • Last Updated: September 28, 2020, 12:00 AM IST
  • Share this:
मुंबई. मुंबई (Mumbai) में दो पुलिस कांस्टेबलों (Police Constable), एक ऑटो रिक्शा चालक (Auto Rickshaw) तथा अन्य के खिलाफ बलात्कार और छेड़छाड़ का ' झूठा ' मामला दर्ज कराने के आरोप में 35 वर्षीय महिला को गिरफ्तार किया गया है. घाटकोपर थाने (Ghatkopar) के एक अधिकारी ने रविवार को बताया कि जिस पुलिस कर्मी ने महिला की कथित झूठा मामला दर्ज कराने में मदद की थी, उसके खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है, लेकिन उसे गिरफ्तार नहीं किया गया है.

अधिकारी ने बताया कि महिला ने बंबई उच्च न्यायालय (Bombay Highcourt) का रुख कर आरोप लगाया था कि 11 जनवरी को मानव तस्करी (Human Trafficking) के मामले की जांच के बहाने से उसके साथ बलात्कार किया गया और उसकी 11 साल की बेटी के साथ छोड़छाड़ की गई . इसके बाद पिछले महीने दो कांस्टेबलों और ऑटोरिक्शा चालक को गिरफ्तार कर लिया गया. उसने अपनी शिकायत में यह भी आरोप लगाया था कि पुलिसकर्मियों के हमले की वजह से उसका गर्भपात हो गया.

ये भी पढ़ें- NDA छोड़ने से साल भर पहले ही अकाली दल के BJP के साथ रिश्तों में उभरने लगे थे तनाव



अदालत के निर्देश पर गिरफ्तार किए गए थे ये लोग
अधिकारी ने बताया कि उच्च न्यायालय के निर्देश पर कांस्टेबल शिशुपाल जगधने और एस गव्हाणे और ऑटोरिक्शा चालक घुरे को गिरफ्तार कर लिया गया. अधिकारी ने बताया कि पुलिस उपायुक्त (जोन सात) प्रशांत कदम के नेतृत्व में मामले की जांच और निगरानी के लिए एक एसआईटी बनाई गई थी. इसने पाया कि कथित घटना के समय जगधने उत्तर प्रदेश में था, गव्हाणे थाने में था जबकि ऑटोचालक साकीनाका स्थित अपने घर पर था.

उन्होंने बताया कि एसआईटी ने भारतीय दंड संहिता की धारा 120 (आपराधिक साजिश) के तहत महिला को गिरफ्तार किया है. अदालत ने उसे चार दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज