• Home
  • »
  • News
  • »
  • maharashtra
  • »
  • PMC बैंक घोटाला: 64 साल की कुलदीप कौर की हार्ट अटैक से मौत, अकाउंट में थे 15 लाख

PMC बैंक घोटाला: 64 साल की कुलदीप कौर की हार्ट अटैक से मौत, अकाउंट में थे 15 लाख

पीएमसी बैंक में लगभग 16 हजार खाता धारक हैं. आरबीआई के सख्त रूख के बाद उन्हें इस बात की चिंता सता रही है कि बैंक में उनका पैसा सुरक्षित है या नहीं. (फाइल फोटो)

पीएमसी बैंक में लगभग 16 हजार खाता धारक हैं. आरबीआई के सख्त रूख के बाद उन्हें इस बात की चिंता सता रही है कि बैंक में उनका पैसा सुरक्षित है या नहीं. (फाइल फोटो)

अब तक 7 खाताधारकों (Account Holders) की हो चुकी है मौत, ज्यादातर की मौत अवसाद के चलते दिल का दौरा (Heart attack) पड़ने से.

  • Share this:
    मुंबई. पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक घोटाले (PMC Bank Scam) में पीड़ित खाताधारकों (Account Holders) की मौत का सिलसिला रुक नहीं रहा है. अब इस मामले में एक और मौत (Death) हो गई है. अब कुलदीप कौर नाम की एक महिला की दिल का दौरा (Heart Attack) पड़ने से मौत हो गई है.

    जानकारी के अनुसार 64 साल की कुलदीप कौर पिछले कुछ दिनों से अवसाद में थीं. बैंक में उनके करीब 15 लाख रुपये जमा थे और वह इन्हें नहीं निकाल पाने के चलते काफी परेशान थीं. खाते से पैसा नहीं निकलने के कारण उनकी आर्थिक स्थिति खराब हो गई थी. यहां तक कि वह अपने इलाज के लिए भी बैंक से रुपये नहीं निकाल पा रही थीं. गौरतलब है कि अब तक पीएमसी बैंक के 7 खाताधारकों की मौत हो चुकी है.

    एक दिन पहले भी हार्ट अटैक से ही मौत
    एक दिन पहले गुरुवार को भी केशुमल हिंदुजा नाम के खाता धारक की मौत हो गई थी. वह भी पैसे फंसे होने की वजह से तनाव में थे. समझा जा रहा है कि इसी कारण उन्हें दिल का दौरा पड़ा और मौत हो गई.
    बताया जा रहा है कि केशुमल हिंदुजा के लाखों रुपये पीएमसी बैंक में फंसे हुए थे. वो इन पैसों को निकाल नहीं पा रहे थे. केशुमल बीमार थे और इलाज के लिए उनके पास पैसे नहीं थे. बता दें कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने बीते लगभग 40 दिनों से पीएमसी बैंक से पैसे की निकासी पर आंशिक रोक लगा रखी है. इसके तहत खाता धारक अपने अकाउंट से एक तयशुदा राशि से ज्यादा पैसे नहीं निकाल सकते.

    16 हजार खाता धारक
    पीएमसी बैंक में लगभग 16 हजार खाता धारक हैं. आरबीआई के सख्त रुख के बाद उन्हें इस बात की चिंता सता रही है कि बैंक में उनका पैसा सुरक्षित है या नहीं. इस कारण लोगों को तमाम परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. पहले से बीमार लोगों की हालत और खराब हो गई है. हालांकि खाता धारकों की मौत और पैसे की निकासी पर अभी तक आरबीआई की तरफ से कोई बयान नहीं आया है.



    25,000 रुपये थी कैश निकासी की सीमा
    बीते 24 सितंबर को आरबीआई ने नोटिस जारी कर पीएमसी बैंक पर छह महीने के लिए लेनदेन समेत कई तरह के प्रतिबंध लगा दिए थे. जिसके मुताबिक न तो बैंक कोई नया लोन जारी कर सकता है और न ही इसका कोई ग्राहक 25 हजार रुपये से अधिक की निकासी कर सकता था. इस मामले में कई गिरफ्तारियां हुई हैं और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) हाउसिंग डेवलपमेंट एंड इन्फ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड से संबंधित अन्य कंपनियों के बारे में जांच कर रहा है.

    तीसरी बार बढ़ाई लिमिट
    रिजर्व बैंक ने तीन अक्टूबर को PMC बैंक के ग्राहकों के लिए कैश निकालने की सीमा 10 हजार रुपये से बढ़ाकर 25 हजार रुपये कर दी थी. लेकिन बाद में इसमें फिर तब्दीली की गई और विदड्रॉल रकम की सीमा बढ़ाकर 40 हजार कर दी गई. जिससे वर्तमान में पीएमसी बैंक के ग्राहक अपने खाते से 40 हजार रुपये तक निकाल सकते हैं. एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक जमाकर्ताओं (डिपॉजिटर्स) के हित और बैंक का रिवाइवल पहली प्राथमिकता है.

    ये भी पढ़ेंः PMC बैंक घोटाले ने लील ली छठी जिंदगी, हार्ट अटैक से एक और खाता धारक की मौत

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज