हॉस्पिटल में 1.17 करोड़ रुपये था जयललिता का खाने का खर्च, 75 दिन में खर्च हुए 6 करोड़

हॉस्पिटल में 1.17 करोड़ रुपये था जयललिता का खाने का खर्च, 75 दिन में खर्च हुए 6 करोड़
जयललिता (फाइल फोटो)

जब बिल के लीक होने के बारे में पूछा गया तो मामले की जांच कर रहे जस्टिस अरुमुगस्वामी कमीशन और अस्पताल के वकील दोनों ने इस बात से इनकार किया.

  • News18.com
  • Last Updated: December 19, 2018, 9:38 AM IST
  • Share this:


दिवंगत मुख्यमंत्री जयललिता का 2016 में अपोलो अस्पताल में 75 दिन तक चले उपचार का खर्च 6.85 करोड़ रुपये आया था. उनकी मौत की परिस्थितियों की जांच कर रहे एक पैनल को हाल ही में यह जानकारी दी गई जो सोशल मीडिया में वायरल हो रही है. पैनल को दी गई जानकारी के अनुसार कुल बिल 6 करोड़ और 85 लाख रुपये है और 44.56 लाख रुपये अभी बकाया है.

पांच दिसंबर 2016 को जयललिता की मौत के कुछ महीनों के बाद 15 जून 2017 को सत्तारूढ़ एआईएडीएमके द्वारा छह करोड़ रुपये का भुगतान दिखाया गया है. 13 अक्टूबर 2016 को अस्तपाल को 41.13 लाख रूपये दिए जाने का ज़िक्र किया गया है. हालांकि इसमें यह नहीं बताया गया है कि इस राशि का भुगतान किसने किया.



ये भी पढ़ेंः क्या जयललिता को जानबूझकर मौत की दवाई दी गई?
जब बिल के लीक होने के बारे में पूछा गया तो मामले की जांच कर रहे जस्टिस अरुमुगस्वामी कमीशन और अस्पताल के वकील दोनों ने इस बात से इनकार किया. पर अस्पताल के वकील ने कहा कि जो बिल 27 नवंबर 2018 को पैनल के पास जमा कराया गया है वह सही है. बिल में 'फूड एंड बिवरेज सर्विस' के अंतर्गत एक करोड़ 17 लाख से ज्यादा का खर्च दिखाया गया है. अस्पताल के वकील के मुताबिक इसमें अस्पताल आने वाले लोगों को शामिल किया गया है.

दूसरे खर्चों में 'कंसल्टेशन फी' 71 लाख रुपये है. यूके के एक डॉक्टर रिचर्ड बेल को 92 लाख रुपये व सिंगापुर के एक अस्पताल को 1 करोड़ 29 लाख रुपये दिए गए हैं. बिल के मुताबिक, अस्पताल में कमरे का किराया 1 करोड़ 24 लाख रुपये है जिसमें जयललिता की देखरेख करने वालों के कमरों के किराए भी शामिल हैं.

75 दिन तक चले इलाज के बाद 5 दिसंबर 2016 को जयललिता का निधन हो गया था. सितंबर 2017 में राज्य सरकार ने जांच के लिए एक पैनल बनाया ताकि अस्पताल में जयललिता का किए गए इलाज और उनके निधन के कारणों का पता लगाया जा सके.

ये भी पढ़ेंः जयललिता के स्वास्थ्य पर पहली बार अपोलो ने दिया बयान, संक्रमण का हो रहा इलाज, लंदन से बुलाया है डॉक्टर

(भाषा इनपुट के साथ)


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज