भारत में अनुमान से 5 दिन पहले हुए 10 लाख कोरोना केस, अगले साल तक 3 करोड़ केस होने की आशंका

भारत में अनुमान से 5 दिन पहले हुए 10 लाख कोरोना केस, अगले साल तक 3 करोड़ केस होने की आशंका
देश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है.

विशेषज्ञों ने आगाह किया है कि कोरोना वायरस (Coronavirus) की रोकथाम के लिए सही कदम नहीं उठाए गए तो अगले साल जनवरी तक कोरोना मरीजों (Corona patient) की संख्या 3 करोड़ को पार कर सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 18, 2020, 12:08 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. देश में कोरोना (Corona) केस अब 10.50 लाख के करीब पहुंच चुके हैं. कोरोना के मामलों को लेकर विशेषज्ञों का अनुमान था कि देश में जुलाई के चौथे सप्ताह में यह आंकड़ा 10 लाख को पार करेगा, हालांकि यह 5 दिन पहले ही पूरा हो गया है. ऐसे में विशेषज्ञों ने आगाह किया है कि कोरोना की रोकथाम के लिए सही कदम नहीं उठाए गए तो अगले साल जनवरी तक कोरोना मरीजों की संख्या 3 करोड़ को पार कर सकती है.

विभिन्न गणितीय मॉडल के आधार पर कोरोना पर नजर रखने वाले विशेषज्ञों ने जून के महीने में ही कोरोना के रोजाना बढ़ रहे मामलों को लेकर चेतावनी जारी कर दी थी. बता दें कि 1 जुलाई से लेकर 16 जुलाई के बीच में ही 5 लाख से अधिक कोरोना केस सामने आ चुके हैं. विशेषज्ञों के अनुमान के मुताबिक जुलाई खत्म होने तक यह आंकड़ा एक महीने में 7 से 8 लाख के करीब पहुंच सकता है.





केरल के डेटा विशेषज्ञ जेम्स विल्सन का कहना है कि देश में केवल कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों पर ही डेटा जारी किया जा रहा है, ज​बकि हालात काफी खराब होते जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि कोरोना का ग्राफ जिस तेजी से बढ़ रहा है उसे देखने के बाद हमारी टीम ने 26 जून को ही जुलाई की स्थिति पर अपनी रिपोर्ट पेश की थी. केवल जुलाई के महीने में ही 8 लाख के करीब कोरेाना के मरीजों का बढ़ जाना काफी चिंता का विषय है. जोधपुर आईआईटी के पूर्व प्रोफेसर रीजो एम जॉन ने कहा कि देश में जिस तेजी से कोरोना के मरीज बढ़ रहे हैं उसे देखने के बाद सरकार की ओर से किए जा रहे उपाय फिलहाल नाकाफी दिखाई दे रहे हैं.
इसे भी पढ़ें :- अब दिल्ली के कोरोना संक्रमित बच्चों में पाए जा रहे दुर्लभ रोग कावासाकी के लक्षण

कोरोना के पीक की ओर बढ़ रहा भारत
दिल्ली एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया के मुताबिक कोरोना के मामले जिस तेजी से आगे बढ़ रहे हैं उसे देखने के बाद भले ही इसे अभी पीक न कहा जाए लेकिन उसका संकेत जरूर माना जा सकता है. देश में कोरोना अपने पीक की ओर आगे बढ़ रहा है. इसी तरह सफदरजंग अस्पताल के डॉ. जुगल किशोर का कहना है हम भले ही अभी 10 लाख के आंकड़े को देखकर डरे हुए हों. लेकिन अभी कोरोना का पीक आना बाकी है.

इसे भी पढ़ें :- Coronavirus India: 24 घंटे में आए 34,884 नये मामले, 671 लोगों की हुई मौत

जनवरी तक 3 करोड़ होंगे कोरोना केस
कोरोना के तेजी से बढ़ते मामलों को देखते हुए बंगलूरू स्थित भारतीय विज्ञान संस्थान (आईआईएससी) के शोधार्थियों ने भी गणितीय मॉडल पेश किया है. आईआईएमसी के शोधार्थियों के मुता​बिक जिस तेजी से कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं उसके आधार पर अगले साल जनवरी तक भारत में मरीजों की संख्या करीब 3 करोड़ होने की आशंका व्यक्त की गई है. बताया जा रहा है कि सितंबर तक देश में मरीजों की संख्या 35 लाख के करीब हो सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज