लाइव टीवी

अब भ्रूण खरीदने-बेचने पर लगेगा 10 लाख का जुर्माना, दोबारा किया तो होगी 12 साल की जेल

News18Hindi
Updated: February 20, 2020, 11:33 AM IST
अब भ्रूण खरीदने-बेचने पर लगेगा 10 लाख का जुर्माना, दोबारा किया तो होगी 12 साल की जेल
इस विधेयक को संसद में पेश किया जायेगा.

देश में सहायक प्रजनन प्रौद्योगिकी सेवाओं में सुरक्षित एवं नैतिक तौर-तरीकों को अपनाने के लिए अनेक प्रावधान किए गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 20, 2020, 11:33 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को सहायक प्रजनन तकनीक (नियमन) विधेयक  (Assisted Reproductive Technology Regulation Bill, 2020) को मंजूरी दी, जिसमें महिलाओं के प्रजनन अधिकारों के संरक्षण के लिए महत्वपूर्ण प्रावधान किये गए हैं. इस विधेयक में भ्रूण की खरीद फरोख्त करने वालों के खिलाफ भी सजा का प्रावधान किया गया है. जो भी चिकित्सक या गैर पेशेवर लोग यह काम करेंगे, उन पर पहले 10 लाख रुपये का जुर्माना लगेगा. अगर वह ऐसा करते हुए दोबारा पकड़े गए तो 12 साल की सजा दी जाएगी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में इस आशय के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर एवं स्मृति ईरानी ने बताया कि इस विधेयक को संसद में पेश किया जाएगा.

शोध उद्देश्यों के लिए होगा डेटा का इस्तेमाल
महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि महिलाओं के प्रजनन अधिकारों की दृष्टि से यह महत्वपूर्ण कदम है. इसके तहत एक राष्ट्रीय रजिस्ट्री और पंजीकरण प्राधिकरण के गठन का प्रस्ताव किया गया है जो सभी चिकित्सा पेशेवरों एवं इससे जुड़ी तकनीक का उपयोग करने वाले प्रतिनिधियों पर लागू होगा. इसमें एक राष्ट्रीय बोर्ड और राज्य बोर्ड गठन की बात कही गयी है जो कानूनी रूपरेखा को लागू करने में मदद करेगा. इसमें एक सेंट्रल डाटा बेस बनाने की भी बात कही गई है. इस डाटा का उपयोग शोध उद्देश्यों के लिए किया जाएगा.



इस कानून का सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि यह देश में सहायक प्रजनन प्रौद्योगिकी सेवाओं का नियमन करेगा. अत: यह कानून बांझ दंपतियों में सहायक प्रजनन तकनीक (एआरटी) के तहत नैतिक तौर-तरीकों को अपनाए जाने के संबंध में कहीं अधिक भरोसा पैदा करेगा.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

यह भी पढ़ें:- 

नींद कम लेने से बढ़ सकता है हार्ट की बीमारी का खतरा: शोध
मगध काल से जुड़ा है लिट्टी-चोखा का इतिहास, मुगल भी थे खाने के शौकीन
जानिए क्या है 'हुनर हाट', सरकार कैसे देती हैं इसके जरिए लाखों नौकरी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 20, 2020, 10:51 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर