Home /News /nation /

10 people died in aasam arunachal pradesh due to landslide and heavy rainfall

भारी बारिश और भूस्खलन के चलते असम व अरुणाचल में 10 लोगों की मौत, 20 जिलों के 1.97 लाख लोग प्रभावित

असम में भारी बारिश के चलते बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं. ANI

असम में भारी बारिश के चलते बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं. ANI

नई दिल्ली. पूर्वोत्तर राज्यों के कुछ हिस्सों में लगातार मूसलाधार बारिश जारी है, जिससे जान-माल दोनों को भारी नुकसान हुआ है. असम और अरुणचाल प्रदेश में तीन दिनों में बाढ़ से संबंधित घटनाओं में कम से कम 10 लोगों की मौत हो गई है.

नई दिल्ली. पूर्वोत्तर राज्यों के कुछ हिस्सों में लगातार मूसलाधार बारिश जारी है, जिससे जान-माल दोनों को भारी नुकसान हुआ है. असम और अरुणचाल प्रदेश में तीन दिनों में बाढ़ से संबंधित घटनाओं में कम से कम 10 लोगों की मौत हो गई है. बीते सोमवार को असम राज्य आपदा प्रबंधन विभाग ने रिपोर्ट जारी किया, जिसमें बताया गया है कि असम के कछार जिले में दो लोगों की मौत हो गई है. इसके चलते असम में बीते शुक्रवार से अब तक पांच लोगों की मौत हो गई है. वहीं अरुणाचल प्रदेश के ईटानगर में कई जगहों पर भारी भूस्खलन के चलते पांच लोगों की मौत हो गई है. जबकि 6 लोग घायल हो गए. इस घटना की जानकारी अरुणाचल के सीएम पेमा खांडू ने ट्वीट कर दी.

बता दें कि इन दिनों असम, अरुणाचल प्रदेश और मेघालय के अलग-अलग हिस्सों में मूसलाधार बारिश हो रही है, जिसके चलते कई जगह भूस्खलन की घटना सामने आई है. बता दें कि बीते रविवार को असम के दीमा हसाओ जिले में भूस्खलन के चलते तीन लोगों की मौत हो गई थी. इसकी जानकारी असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने दी थी.

वहीं मेघालय में बीते शुक्रवार को भारी बारिश होने के चलते भूस्खलन हो रहा है. राज्य में बारिश संबंधित घटनाओँ में दो लोगों की मौत हो गई. बता दें कि असम में लगातार हो रही बारिश के चलते बाढ़ और भूस्खलन की समस्या शुरू हो गई है. असम के 20 जिले में करीब 1.97 लाख लोग बाढ़ की स्थिति से प्रभावित हैं. वहीं भारी भूस्खलन और लगातार हो रही बारिश के चलते रेल की पटरियों पर भी जलजमाव हो गया है. वहीं इसके चलते असम के लुमडिंग-बदरपुर पहाड़ी खंड में दो दिनों से फंसी दो ट्रेनों के करीब 2800 यात्रियों को वायु सेना और अन्य एजेंसियों की मदद से सुरक्षित निकाला गया.

Tags: Assam news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर