लाइव टीवी

आज एम्स सहित राजधानी के 18 अस्पतालों में 10 हजार से ज्यादा डॉक्टर हड़ताल पर

News18Hindi
Updated: June 15, 2019, 5:18 AM IST
आज एम्स सहित राजधानी के 18 अस्पतालों में 10 हजार से ज्यादा डॉक्टर हड़ताल पर
पश्चिम बंगाल में शुक्रवार को हड़ताल पर बैठे जूनियर डॉक्टर.

कोलकाता के एनआरएस मेडिकल कॉलेज के मामले ने तूल पकड़ा, देश के कई हिस्सों में स्वास्‍थ्य व्यवस्‍था का हाल बेहाल

  • Share this:
कोलकाता के एनआरएस मेडिकल कॉलेज में डॉक्टरों से मारपीट का मामला खत्म होता नहीं दिख रहा है. पश्चिम बंगाल से सुलगी यह आग अब पूरे देश में फैल गई है और दिल्ली तक डॉक्टर हड़ताल पर उतर आए हैं. राजधानी में 18 अस्पतालों के डॉक्टरों ने शनिवार को हड़ताल पर रहने का ऐलान कर दिया है. इन अस्पतालों में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान और सफदरजंग हॉस्पिटल भी शामिल हैं.

दस हजार डॉक्टर हड़ताल पर
हड़ताल में 10 हजार से ज्‍यादा डॉक्टर शामिल हो रहे हैं. फेडरेशन ऑफर रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन के बैनर पर सभी अस्पतालों के डॉक्टरों ने हड़ताल की पूर्व लिखित सूचना मेडिकल सुपरिंटेंडेंट को दे दी है. गौरतलब है कि डॉक्टरों के हड़ताल पर जाने से देश के कई हिस्सों में स्वास्‍थ्य सेवाओं पर गंभीर असर पड़ा है और लाखों की संख्या में मरीज प्रभावित हुए हैं.

इन अस्पतालों के डॉक्टर रहेंगे हड़ताल पर

एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली के जिन अस्पतालों के डॉक्टर हड़ताल पर शामिल रहेंगे, उनमें एम्स, सफदरजंग हॉस्पिटल, बाबा साहब अंबेडकर मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल, हिंदूराव हॉस्पिटल, बीएमएच दिल्ली, दीनदयाल उपाध्याय हॉस्पिटल, संजय गांधी मेमोरियल हॉस्पिटल, लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज एंड एसोसिएटेड हॉस्पिटल्स, इंस्टीट्यूट ऑफ ह्यूमन बिहेवियर एंड अलाइड साइंसेज (इहबास), श्री दादा देव मातृ एवं शिशु चिकित्सालय, नॉर्दन रेलवे सेंट्रल हॉस्पिटल, ईएसआईसी हॉस्पिटल, चाचा नेहरू बाल चिकित्सालय, गुरु तेग बहादुर हॉस्पिटल और गुरु गोविंद सिंह हॉस्पिटल समेत अन्य हॉस्पिटल शामिल हैं.

जम्मू कश्मीर में भी हड़ताल की घोषणा
इसके साथ ही जम्मू एंड कश्मीर डॉक्टर्स को ऑर्डिनेशन कमेटी ने हड़ताल का ऐलान कर दिया है. इसके चलते शनिवार को सुबह 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक लेह क्षेत्र के सभी अस्पतालों में दो घंटे की सांकेतिक हड़ताल की जाएगी और इसके बाद भी यदि पश्चिम बंगाल की समस्या का हल नहीं निकला तो यह पूर्ण हड़ताल में तब्दील की दी जाएगी.डॉक्टरों पर किया था हमला
गौरतलब है कि 10 जून को नील रत्न सरकार मेडिकल कॉलेज में इलाज के दौरान एक व्यक्ति की मौत के बाद इस मामले ने तूल पकड़ा था. मौत से गुस्साए परिजन ने डॉक्टरों को अपशब्द कहे थे. जिसके बाद डॉक्टरों ने माफी मांगने को कहा था लेकिन बाद में मामला गर्मा गया और कुछ ही देर में भीड़ ने अस्पताल पर हथियारों सहित हमला कर दिया. इस हमले में दो जूनियर डॉक्टर गंभीर रूप से घायल हो गए थे और कई अन्य डॉक्टरों को भी चोट आई थी. जिसके बाद जूनियर डॉक्टर हड़ताल पर चले गए थे.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 15, 2019, 5:18 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर