• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • क्रिप्टोकरेंसी का किया इस्तेमाल तो हो सकती है 10 साल की जेल, विधेयक तैयार

क्रिप्टोकरेंसी का किया इस्तेमाल तो हो सकती है 10 साल की जेल, विधेयक तैयार

क्रिप्टोकरेंसी का किया इस्तेमाल तो हो सकती है 10 साल की जेल

क्रिप्टोकरेंसी का किया इस्तेमाल तो हो सकती है 10 साल की जेल

'क्रिप्टोकरेंसी पर प्रतिबंध और नियमन आधिकारिक डिजिटल करेंसी विधेयक 2019' तैयार. गैर-जमानती अपराध की श्रेणी में रखा गया.

  • Share this:
    क्रिप्टोकरेंसी का इस्तेमाल करना अब खतरे से खाली नहीं है. बिटकॉयन रखने, बेचने या खरीदने वालों को अब 10 साल तक जेल की हवा खानी पड़ सकती है. 'क्रिप्टोकरेंसी पर प्रतिबंध और नियमन आधिकारिक डिजिटल करेंसी विधेयक 2019' के तहत किसी भी तरह की क्रिप्टोकरेंसी को रखने, बेचने और सौदा करने पर 10 साल सजा का प्रावधान किया गया है.

    विधेयक में क्रिप्टोकरेंसी रखने को गैर-जमानती अपराध की श्रेणी में भी रखा जाना तय माना जा रहा है. क्रिप्टोकरेंसी एक डिजिटल या वर्चुअल करेंसी है. बिटकॉयन दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी मानी जाती है. क्रप्टोकरेंसी के जरिए किसी लेन-देन का कोई डाटा मौजूद नहीं होता है. यही कारण है कि कई तरह के सरकारी विभागों जैसे आयकर विभाग और केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर सीमा शुल्क विभाग ने क्रिप्टोकरेंसी पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाने की सिफारिश की थी.

    इसे भी पढ़ें :- फेसबुक का बड़ा ऐलान, जल्द लाने वाला है अपना 'बिटकॉइन'

    आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने बताया है कि पिछले कुछ समय से क्रिप्टोकरेंसी को प्रतिबंधित करने को लेकर विधेयक के मसौदे पर काम किया जा रहा है. बताया जाता है कि एक ओर जहां क्रिप्टोकरेंसी पर जल्द प्रतिबंध लगा दिया जाएगा, वहीं भारत खुद की डिजिटल करेंसी लॉन्च करेगा.
    भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) से बातचीत के बाद ही डिजिटल करेंस को लॉन्च करने का निर्णय लिया जाएगा.

    क्या है क्रिप्टोकरेंसी?
    यह करेंसी है जो कंप्यूटर एल्गोरिदम पर बेस्ड होती है. यह इंडिपेंडेंट करेंसी होती है, जिसका कोई मालिक नहीं होता. वहीं, यह करेंसी किसी भी ऑथोरिटी के काबू में नहीं होती यानी इसका संचालन किसी राज्य, देश या सरकार द्वारा नहीं किया जाता. इसे डिजिटल करेंसी, वर्चुअल करेंसी, इंटरनेट करेंसी, ई-करेंसी और पीपुल्स करेंसी के नाम से भी जाना जाता है. सबसे पहली क्रिप्टो करेंसी बिटकॉइन है, जिसे 2009 में जापान के सतोषी नाकमोतो नाम के इंजीनियर ने डेवलप किया था.

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज