Home /News /nation /

100 करोड़ कोरोना वैक्‍सीन डोज के साथ विश्‍व में किस स्‍थान पर है भारत, यहां जानिये सबकुछ

100 करोड़ कोरोना वैक्‍सीन डोज के साथ विश्‍व में किस स्‍थान पर है भारत, यहां जानिये सबकुछ

भारत में कोरोना वैक्‍सीन की 100 करोड़ डोज दी गई हैं. (File pic)

भारत में कोरोना वैक्‍सीन की 100 करोड़ डोज दी गई हैं. (File pic)

100 Crore Vaccination: इन डेटा के अनुसार अब तक दुनिया भर में कोविड के टीकों की 664 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी है. भारत में इस संख्या का लगभग 15 फीसदी हिस्सा है.

    नई दिल्‍ली. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की ओर से कोरोना संक्रमण (Coronavirus) को महामारी घोषित किए जाने के ठीक 10 महीने बाद भारत ने 16 जनवरी को कोरोन वायरस (Covid 19) के खिलाफ अपना टीकाकरण (Corona Vaccination) अभियान शुरू किया था. अगले 9 महीनों में देश अपनी आबादी को 100 करोड़ खुराक देने में कामयाब रहा है. हालांकि यह संख्या प्रभावशाली है, लेकिन भारत को सबसे अधिक टीकाकरण वाले देशों में शामिल नहीं करती है.

    चीन भी इस मुकाम को छूने में कामयाब रहा है. यह भी ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि केवल इन दोनों देशों की आबादी 100 करोड़ से अधिक है. अवर वर्ल्ड इन डेटा के अनुसार अब तक दुनिया भर में कोविड के टीकों की 664 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी है. भारत में इस संख्या का लगभग 15 फीसदी हिस्सा है. विश्व की लगभग 48 फीसदी आबादी को कोविड के टीके की कम से कम एक खुराक मिली है.

    चीन सबसे आगे
    जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के अनुसार चीन, जिसने पिछले साल अपना टीकाकरण अभियान शुरू किया था, अब तक 223 करोड़ से अधिक खुराक लगा चुका है. देश ने जून में 100 करोड़ वैक्सीन का आंकड़ा पार किया था. इसके अलावा सितंबर के मध्य में चीन ने अपने राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग के अनुसार 100 करोड़ से अधिक लोगों को पूरी तरह से टीका लगाया. देश अपनी लगभग 75 फीसदी आबादी को पूरी तरह से टीका लगाने में कामयाब रहा है.

    भारत दूसरे स्‍थान पर 
    कुल वैक्‍सीन डोज देने के मामले में भारत विश्व स्तर पर दूसरे स्थान पर है. देश के टीकाकरण अभियान को मंगलवार को 277 दिन पूरे हो गए. इन लगभग 40 हफ्तों में भारत अपनी आबादी को 100 करोड़ खुराक देने में कामयाब रहा. जबकि प्रतिशत के संदर्भ में इसकी पात्र आबादी का केवल करीब 21 प्रतिशत ही पूरी तरह से टीका लगाया गया है, यह उपलब्धि देश के लिए एक विशेष मील का पत्थर है, यह देखते हुए कि 18 साल से ऊपर के सभी टीके केवल 1 मई को शुरू हुए हैं.

    केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों से पता चलता है कि अब तक प्रशासित कुल खुराक में से लगभग 29 करोड़ दूसरी खुराक हैं और 70 करोड़ से अधिक पहली खुराक हैं.

    अमेरिका तीसरे पायदान पर 
    जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय के आंकड़ों के अनुसार, लगभग 41 करोड़ खुराक के साथ अमेरिका विश्व स्तर पर तीसरे स्थान पर है. इसने अपनी 58 प्रतिशत आबादी को कम से कम 19 करोड़ खुराक के साथ पूरी तरह से टीकाकरण करने में कामयाबी हासिल की है.

    भारत के लिए अभी लंबा रास्‍ता
    भले ही भारत 100 करोड़ खुराक का जश्‍न मना रहा है, लेकिन चुनौती अभी खत्म नहीं हुई है. जबकि कई देशों ने अपनी आबादी के एक बड़े हिस्से का टीकाकरण किया है, भारत एक चौथाई तक भी पूरी तरह से टीकाकरण से दूर है. जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय के आंकड़ों के अनुसार, भारत ने अपनी लगभग 21 प्रतिशत आबादी को पूरी तरह से टीका लगाया है. कई देशों की तुलना में यह काफी कम है.

    संयुक्त अरब अमीरात, पुर्तगाल, माल्टा और सिंगापुर ने अपने 80 प्रतिशत से अधिक नागरिकों को पूरी तरह से टीका लगाया है और पूरी तरह से टीकाकरण की आबादी के मामले में शीर्ष स्थान पर हैं. यह भी ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि ये देश जनसंख्या के मामले में भारत से बहुत छोटे हैं.

    भारत विश्व स्तर पर चीन के बाद दूसरा सबसे अधिक आबादी वाला देश है. चीन ने अपने लगभग 75 प्रतिशत नागरिकों को पूरी तरह से टीका लगाया है. अमेरिका जनसंख्या के मामले में विश्व स्तर पर तीसरा देश है और लगभग 58 प्रतिशत टीकाकरण पूरी तरह से कर चुका है.

    इंडोनेशिया, जो जनसंख्या के मामले में चौथे स्थान पर है, ने अपने 23 फीसदी से अधिक लोगों को पूरी तरह से टीका लगाया है, और पांचवें स्थान पर पाकिस्तान ने अपनी आबादी का केवल 16 प्रतिशत पूरी तरह से टीकाकरण किया है.

    Tags: Corona vaccination, Coronavirus, COVID 19

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर