• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • बद्रीनाथ की पहाड़ियों में सेना ने भर दिया हरा रंग!

बद्रीनाथ की पहाड़ियों में सेना ने भर दिया हरा रंग!

बद्रीनाथ धाम के चारों ओर हरियाली लाने के लिए भारतीय सेना के जवानों ने बीड़ा उठाया है। सेना की दो यूनिट ने यहां 7 लाख पेड़ लगाए हैं। जिसका नतीजा है कि यहां की सूखी रहने वाली पहाड़ियों में हरियाली का रंग भरने लगा है।

  • Share this:
    नई दिल्ली। बद्रीनाथ धाम के चारों ओर हरियाली लाने के लिए भारतीय सेना के जवानों ने बीड़ा उठाया है। सेना की दो यूनिट ने यहां 7 लाख पेड़ लगाए हैं। जिसका नतीजा है कि यहां की सूखी रहने वाली पहाड़ियों में हरियाली का रंग भरने लगा है।

    मालूम हो कि 1982 में बद्रीश वन बनाने के लिए खासतौर पर इको टास्क फोर्स बनाई गई थी। और साल 2008 में यहां पौधे लगाने का काम शुरू किया गया। महज तीन सालों में एक हजार हेक्टेयर ज़मीन में यहां सात लाख इक्कीस हजार पौधे लगाए जा चुके हैं। यहां के मौसम की वजह से ये बेहद मुश्किल काम था। यहां छह महीने बर्फ़ ही बर्फ रहती है। इसे ध्यान में रखते हुए यहां देवदार, कैल, पहाड़ी पीपल, अखरोट, मौरू के पेड़ लगाए गए हैं। इन पेड़ों को लगाना और उनकी देखभाल आसान नहीं है। पेड़ लगाने के पांच साल तक उसे बेहद देखभाल की ज़रूरत होती है।



    पुराणों में श्री बद्रीनाथ धाम के चारों और बद्रीश वन का ज़िक्र आता है। कहा जाता है कि इस वन में ज़न कल्याण के लिए भगवान विष्णु ने कठोर तप किया था लेकिन कालांतर में प्राकृतिक और मानवीय विपदा के चलते यहां से धीरे धीरे बद्रीश वन का अस्तित्व ही समाप्त हो गया। चार साल पहले तक बद्रीनाथ धाम जानेवालों को बिना पेड़ के पहाड़ियां नज़र आती थी लेकिन अब यहां फिर से पौराणिक बद्रीश वन लौटाने का ज़िम्मा उठाया है भारतीय सेना के ज़वानो ने।

    पर्यावरण सुरक्षा के लिए सेना द्वारा 1982 में इको टास्क फ़ोर्स का गठन किया गया था। धरती को हरा भरा करने के अपने उद्देश्य की कड़ी में 2008 में इनकी दो यूनिट ने श्री बद्रीनाथ धाम का रुख किया था। इन तीन सालों में अपने लक्ष्य 1400 हेक्टेअर के मुकाबले 1000 हेक्टेअर ज़मीन पर रिकॉर्ड 7 लाख 21 हज़ार पौधे लगाये जा चुके हैं। जिसकी सफलता धाम के चारों और पहाड़ियों पर हरियाली के रूप नज़र आने लगी है।

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज