केरल में सामने आए कोरोना के 11 नए मामले, संक्रमितों का आंकड़ा 437 पहुंचा

केरल में सामने आए कोरोना के 11 नए मामले (फाइल फोटो)
केरल में सामने आए कोरोना के 11 नए मामले (फाइल फोटो)

केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन ने बताया कि दोनों ने राज्य से बाहर की यात्रा की थी. प्रदेश में सामने आये ताजा मामलों में से कन्नूर में सात, कोझीकोड़ में दो जबकि कोट्टायम एवं मलप्पुरम में एक एक व्यक्ति के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है.

  • Share this:
तिरूवनंतपुरम. केरल (Kerala) में बुधवार को 11 और मरीजों में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) की पुष्टि हुई है. इसी के साथ प्रदेश में कोविड-19 के मरीजों की संख्या बढ़कर 437 हो गई है. कोझीकोड़ मेडिकल कॉलेज के दो हाउस सर्जनों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है.

केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन ने बताया कि दोनों ने राज्य से बाहर की यात्रा की थी. प्रदेश में सामने आये ताजा मामलों में से कन्नूर में सात, कोझीकोड़ में दो जबकि कोट्टायम एवं मलप्पुरम में एक एक व्यक्ति के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. एक व्यक्ति की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है. राज्य में 29 हजार लोगों को निगरानी में रखा गया है जिनमें से 346 अस्पतालों में हैं.

‘सरकार, अमेरिकी कंपनी के करार को रद्द करने की अपील’



केरल विधानसभा में विपक्ष के नेता रमेश चेन्नीतला ने बुधवार को केरल उच्च न्यायालय का रुख किया और राज्य सरकार तथा अमेरिकी कंपनी की बीच कोविड-19 के मरीजों की जानकारी को लेकर हुए समझौते को रद्द करने की मांग की. जनहित याचिका में चेन्नीतला ने आरोप लगाया कि केरल सरकार ने न्यूयॉर्क की स्प्रिंकलर कंपनी को कोरोना वायरस के संदिग्ध और इससे संक्रमित हुए लोगों की संवेदनशील निजी जानकारी दी है जो संविधान में दिए गए निजता के मौलिक अधिकार का हनन है.
कांग्रेस ने अदालत से उन मरीजों के लिए मुआवजा भी मांगा जिनकी जानकारी विदेशी कंपनी को दी गई है. चेन्नीतला ने कहा कि राज्य के मुख्य सचिव, आईटी सचिव और मुख्यमंत्री को मुआवजे का भुगतान करने के लिए संयुक्त रूप से उत्तरदायी होना चाहिए. राज्य सरकार ने यह जांच करने के लिए दो सदस्यीय समिति का गठन किया है कि क्या कोविड-19 रोगियों की व्यक्तिगत और संवेदनशील जानकारी अमेरिका स्थित आईटी कंपनी स्प्रिंकलर के उसके समझौते के तहत सुरक्षित है ?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज