सीजफायर उल्लंघन का भारत ने दिया मुंहतोड़ जवाब, मार गिराए दो कमांडो सहित 11 पाकिस्तानी सैनिक

पाकिस्तानी सेना ने बारामुला के उरी सेक्टर में भी भारतीय चौकियों पर गोलीबारी की.
पाकिस्तानी सेना ने बारामुला के उरी सेक्टर में भी भारतीय चौकियों पर गोलीबारी की.

CEASE FIRE VIOLATION BY PAKISTAN: इसके अलावा पाकिस्तान सेना के कई बंकर, ईंधन के ढेर और आतंकवादियों के ठिकानों को नष्ट कर दिया गया. सूत्रों ने कहा कि पाकिस्तान ने डावर, केरन, उरी और नौगाम में अकारण संघर्ष विराम का उल्लंघन किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 13, 2020, 11:37 PM IST
  • Share this:
श्रीनगर. पाकिस्तानी सैनिकों (Pakistan Army) द्वारा शुक्रवार को अकारण संघर्षविराम समझौते का उल्लंघन (CEASE FIRE VIOLATION) कर कई स्थानों पर गोलाबारी किए जाने के बाद भारत की जवाबी कार्रवाई में 11 पाकिस्तानी सैनिक मारे गए और 12 अन्य घायल हो गए. भारतीय सेना (Indian Army) ने उत्तरी कश्मीर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर टैंक रोधी निर्देशित मिसाइलों और तोपों से पड़ोसी देश के कई ठिकानों को निशाना बनाया.

इससे पहले पाकिस्तानी सैनिकों ने उत्तरी कश्मीर में कई स्थानों पर भारी गोलीबारी की जिसमें चार सुरक्षाकर्मियों सहित दस लोगों की मौत हो गयी. भारतीय सेना द्वारा जारी किए गए कई वीडियो में दिख रहा है कि एलओसी के पार कई पाकिस्तानी ठिकानों और बंकरों को नष्ट कर दिया गया. उनमें से कुछ भारतीय जवाबी कार्रवाई के बाद आग की लपटों में घिर गए.

ये भी पढ़ेंः- भारतीय मिसाइल ने उड़ाए पाकिस्तानी बंकर, लॉन्च पैड्स को किया तबाह, देखें VIDEO



स्पेशल सर्विस ग्रुप के दो कमांडों भी शामिल
सैन्य सूत्रों ने कहा कि पाकिस्तानी सेना के सुने गए संचार के अनुसार मृतकों में स्पेशल सर्विस ग्रुप के दो कमांडो भी शामिल हैं. सूत्रों ने कहा कि भारत की जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तानी सेना के कम से कम 11 जवान मारे गए और 12 अन्य घायल हो गए.

इसके अलावा पाकिस्तान सेना के कई बंकर, ईंधन के ढेर और आतंकवादियों के ठिकानों को नष्ट कर दिया गया. सूत्रों ने कहा कि पाकिस्तान ने डावर, केरन, उरी और नौगाम में अकारण संघर्ष विराम का उल्लंघन किया.

पाकिस्तान ने दागे मोर्टार और हथियार
पाकिस्तान ने मोर्टार और अन्य हथियारों का इस्तेमाल किया तथा जान-बूझकर असैनिक क्षेत्रों को निशाना बनाया. आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार पाकिस्तान ने 2019 में 3,233 बार संघर्ष विराम समझौते का उल्लंघन किया था जबकि इस वर्ष यह संख्या 4,052 है.

इस क्षेत्र में कोरोना वायरस महामारी के बावजूद पाकिस्तान नियंत्रण रेखा पर बिना किसी उकसावे के संघर्ष विराम का उल्लंघन करता रहा है और आतंकवादियों को कश्मीर में धकेलने के लिए प्रयास कर रहा है. पिछले साल अगस्त में जम्मू कश्मीर से विशेष दर्जा वापस लेने और राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेशों में विभाजित किए जाने के बाद पाकिस्तानी कटुता बढ़ गयी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज