• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • '30 अगस्त तक बिल पास करो वर्ना जेल भर देंगे'

'30 अगस्त तक बिल पास करो वर्ना जेल भर देंगे'

अन्ना ने साफ कर दिया है कि अब वो जनलोकपाल बिल पास हुए बगैर रामलीला मैदान नहीं छोड़ेंगे। अब तक वो सिर्फ संसद में मजबूत बिल पेश करने की ही बात करते थे।

अन्ना ने साफ कर दिया है कि अब वो जनलोकपाल बिल पास हुए बगैर रामलीला मैदान नहीं छोड़ेंगे। अब तक वो सिर्फ संसद में मजबूत बिल पेश करने की ही बात करते थे।

अन्ना ने साफ कर दिया है कि अब वो जनलोकपाल बिल पास हुए बगैर रामलीला मैदान नहीं छोड़ेंगे। अब तक वो सिर्फ संसद में मजबूत बिल पेश करने की ही बात करते थे।

  • Share this:
    नई दिल्ली। रामलीला मैदान में अन्ना का अनशन जारी है। अन्ना और उनकी टीम अब और भी सख्त रुख के साथ सामने आई है। अन्ना ने साफ कर दिया है कि अब वो जनलोकपाल बिल पास हुए बगैर रामलीला मैदान नहीं छोड़ेंगे। अब तक वो सिर्फ संसद में मजबूत बिल पेश करने की ही बात करते थे।

    अन्ना हजारे ने साफ कहा कि 30 अगस्त तक संसद में बिल पास नहीं हुआ तो वो जेल भरो आंदोलन शुरू कर देंगे। रुख में ये ताजा बदलाव उस जनसमर्थन का नतीजा है जो आज दिल्ली की सड़कों पर दिखा। तिहाड़ से लेकर रामलीला मैदान तक अन्ना की अगवानी में हजारों की भीड़ थी। इस भीड़ को देखकर, भीड़ का आक्रोश देखकर सरकार को सांप सूंघ गया है।

    इससे पहले अन्ना हजारे रामलीला मैदान पहुंचे। तिहाड़ से रामलीला मैदान पहुंचते ही अन्ना ने हुंकार लगाई कि जब तक जनलोकपाल बिल संसद में नहीं लाया जाएगा तब तक वो रामलीला मैदान नहीं छोड़ने वाले। अन्ना ने कहा कि पहले जनलोकपाल बिल लाओ तभी वो रामलीला मैदान से हटेंगे यानि अन्ना ने अपनी तरफ से साफ कर दिया है कि जनलोकपाल बिल के लागू होने तक ये क्रांति जारी रहेगी।

    इससे पहले अन्ना ने तिहाड़ जेल के बाहर लोगों को संदेश दिया और वहां से मायापुरी के लिए कूच कर गए। मायापुरी से अन्ना सीधे राजघाट पहुंचे और यहां उन्होंने बापू को श्रद्धांजलि दी। इसके बाद यहां से वो रामलीला मैदान पहुंचे।

    रामलीला मैदान पहुंचे अन्ना ने कहा कि अगर भ्रष्टाचार खतम नहीं हुआ और लूट खत्म नहीं हुई तो ये लड़ाई जारी रहेगी। उन्होंने कहा कि सिर्फ लोकपाल नही परिवर्तन भी लाना है। साथ ही कहा कि अपने भाई बहनों की लड़ाई को बर्बाद नहीं होने दूंगा।

    अन्ना ने समर्थकों के बीच कहा कि तीन किलो वजन कम हुआ है लेकिन अब दस किलो भी कम हो जाए तो कोई गम नहीं होगा। अन्ना ने रामलीला मैदान में अपने समर्थकों से कहा कि मुझे विश्वास है कि इस देश का युवक जाग गया है। देश के लोग मेरी ताकत हैं। अन्ना ने कहा कि जब तक जन लोकपाल बिल नहीं बनेगा तब तक ग्राउंड नहीं छोड़ूंगा।
    इससे पहले अन्ना आज सुबह करीब 11.45 बजे तिहाड़ जेल से बाहर निकले। मंगलवार से अनशन पर बैठे अन्ना ने तिहाड़ के बाहर समर्थकों को सम्बोधित करते हुए पहले 'भारत माता की जय' और 'वंदेमात्रम' के नारे लगाए। उन्होंने कहा कि 16 अगस्त से दूसरी आजादी की लड़ाई शुरू हो गई है जिसे आपको अंजाम तक पहुंचाना है।
    उन्होंने कहा कि अन्ना रहे या न रहे लेकिन भ्रष्टाचार के खिलाफ यह मशाल जलती रहनी चाहिए। अन्ना ने कहा कि जेल के बाहर चार दिन से बैठे आप लोगों को मैं धन्यवाद देता हूं। करीब दो किलोमीटर लम्बे अन्ना के इस ऐतिहासिक कारवां में कुछ ऐसे लोग भी दिखे जो मंगलवार से ही तिहाड़ के बाहर अन्ना के आने का इंतजार कर रहे थे। अन्ना को मंगलवार सुबह उनके प्रस्तावित अनशन स्थल जेपी पार्क जाने से पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया था।

    मंगलवार शाम को हालांकि उन्हें रिहा करने का आदेश दिया गया लेकिन अन्ना ने जेल से बाहर आने से इंकार कर दिया। उन्होंने दिल्ली में किसी सार्वजनिक स्थल पर बिना शर्त अनशन करने की अनुमति मांगी थी।
    एक खुले ट्रक पर सवार अन्ना के पीछे चल रहे लोग बारिश की बूंदों के बीच 'इंकलाब जिंदाबाद', 'जय हिंद' और 'भारत माता की जय' जैसे नारे लगा रहे थे।

    वहीं, इससे पहले अन्ना के प्रमुख सहयोगी केजरीवाल ने कहा कि इस आंदोलन के दौरान किसी भी राजनीतिक पार्टी के नेता को अन्ना के मंच पर जाने की इजाजत नहीं दी जाएगी। हां, यदि कोई हमारे समर्थन में आता है तो उसका स्वागत है।
    केजरीवाल से यह पूछे जाने पर कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कार्यकर्ता इसमें बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं, तो उन्होंने कहा कि हम किसी भी पार्टी के कार्यकर्ता और नेता को मना नहीं कर रहे हैं, उनका स्वागत है। वे यहां आकर अन्य समर्थकों के बीच बैठ सकते हैं।
    केजरीवाल से जब यह पूछा गया कि सरकार आरोप लगा रही है कि आप अन्ना हजारे को बरगला रहे हैं, तो उन्होंने कहा कि अन्ना कोई बच्चे नहीं हैं, जो मैं उन्हें बरगला रहा हूं। वह वर्षों से समाजसेवा कर रहे हैं और मैं तो पिछले पांच साल से ही उनके सम्पर्क में हूं। मुझसे पहले उन्हें कौन बरगला रहा था। सरकार लोगों को गुमराह कर रही है। वह अपने अनशन के बल पर सात कानून पास करवा चुके हैं।

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज