लाइव टीवी

पायलटों के समर्थन में केबिन क्रू, अब तक 15 उड़ानें रद्द

News18India
Updated: May 12, 2012, 2:25 AM IST

सरकार ने भी पायलटों के खिलाफ सख्ती बरतते हुए और 25 पायलटों को बर्खास्त कर दिया। इसके साथ ही शुक्रवार तक सरकार 71 पायलटों को बर्खास्त कर चुकी है। यही नहीं डीजीसीए को 11 अधिकारियों के लाइसेंस रद्द करने को भी कहा है।

  • Share this:
नई दिल्ली। कब खत्म होगी एयर इंडिया के पायलटों की हड़ताल। कब सरकार और पायलटों के बीच होगी सहमति। ये ऐसे सवाल हैं जिसका जवाब हड़ताल के पांचवें दिन भी नहीं मिल पाया है। हालत है कि जैसे जैसे दिन गुजरते जा रहे हैं हालात और भी खराब होते जा रहे हैं। अब तो एयर इंडिया के केबिन क्रू ने भी हड़ताली पायलटों का साथ देने का फैसला कर लिया है।
जानकारी के मुताबिक केबिन क्रू पायलटों के समर्थन में अगले हफ्ते से हड़ताल पर शामिल हो जाएंगे। यही नहीं एयर इंडिया के एक्जक्यूटिव पायलटों ने भी एयर इंडिया के सीएमडी को एक खत लिखकर बताया कि पायलटों की मांग जायज है उस पर गौर करना चाहिए। जाहिर है एक तरफ जहां पायलटों का रुख सख्त होता जा रहा है, वहीं सरकार ने भी सख्ती बरतते हुए साफ कर दिया है कि पहले पायलट हड़ताल खत्म करें, तभी बातचीत होगी

उधर सरकार ने भी पायलटों के खिलाफ सख्ती बरतते हुए और 25 पायलटों को बर्खास्त कर दिया। इसके साथ ही शुक्रवार तक सरकार 71 पायलटों को बर्खास्त कर चुकी है। यही नहीं डीजीसीए को 11 अधिकारियों के लाइसेंस रद्द करने को भी कहा है। उधर पायलट यूनियन ने आरोप लगाया कि एयर इंडिया बात करने के बजाय मामले को और बिगाड़ रही है। जबकि वो बात करने के लिए तैयार हैं।

एक तरफ सरकार तो दूसरी तरफ पायलट दोनों ही अपने अपने रुख पर अड़े हुए हैं। इसके बीच पिस रही है आम जनता। दिल्ली और मुंबई समेत देश भर के एयरपोर्ट पर मुसाफिरों का बुरा हाल है। सिर्फ शुक्रवार को 23 अंतर्राष्ट्रीय और घरेलू उड़ानें रद्द की गईं। सबसे बड़ी दिक्कत ये है कि मुसाफिरों को विमानों के बारे में सही से जानकारी तक नहीं दी जा रही है।

मालूम हो कि एयर इंडिया पहले ही कर्ज और मिसमैनेजमेंट की वजह से बदहाल है। सरकार ने बेल आउट पैकेज देकर सरकार एयरलाइंस कंपनी को संभालने की कोशिश तो की लेकिन पायलटों की हड़ताल से ये मुश्किल और बढ़ गई है। हड़ताली पायलटों पर न तो सरकार की सख्ती का असर पड़ रहा है और न ही कोर्ट के आदेश का। ऐसे में सवाल ये है कि एयर इंडिया कंपनी इस समय किसके भरोसे काम कर रही है? आखिर सरकार ने समय रहते इस मुद्दे का हल क्यों नहीं किया कि हालात बेकाबू हो गए?


News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 12, 2012, 2:25 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर