• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • ऑस्ट्रेलिया से भारत लाई जाएंगी चोरी हुईं 14 प्राचीन वस्तुएं, मीनाक्षी लेखी ने किया पीएम का धन्यवाद

ऑस्ट्रेलिया से भारत लाई जाएंगी चोरी हुईं 14 प्राचीन वस्तुएं, मीनाक्षी लेखी ने किया पीएम का धन्यवाद

मीनाक्षी लेखी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद किया है. (फाइल फोटो-ANI)

मीनाक्षी लेखी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद किया है. (फाइल फोटो-ANI)

Indian artefacts News: द नेशनल गैलरी ऑफ ऑस्ट्रेलिया एक बदनाम अंतरराष्ट्रीय डीलर से जुड़ी 14 प्राचीन वस्तुएं लौटाएगी. संग्रहालय अपने एशियन आर्ट कलेक्शन में शामिल लूटी हुईं वस्तुओं को हटाने के लिए अभियान चला रहा है.

  • Share this:

    नई दिल्ली. कैनबरा स्थित द नेशनल गैलरी ऑफ ऑस्ट्रेलिया (The National Gallery of Australia) ने भारत (India) को 14 प्राचीन विरासत वस्तुएं लौटाने का फैसला किया है. इस खबर के बाद केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी (Meenakashi Lekhi) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) का धन्यवाद किया है. उन्होंने कहा है कि पीएम के प्रयासों के चलते ही 14 वस्तुएं वापस लाई जा रही हैं. नेशनल गैलरी संग्रह में शामिल लूटी गई वस्तुओं को हटाने का काम कर रही है. इनकी कीमत 30 लाख डॉलर आंकी गई है.

    मीनाक्षी लेखी ने लिखा, ‘मैं इस मौके पर माननीय प्रधानमंत्री के प्रयासों के लिए धन्यवाद करना चाहती हूं, जिसके कारण 14 चुराई हुई विरासत वस्तुओं को वापस लाया जा रहा है.’ ऑस्ट्रेलियन फाइनेंशियल रिव्यू के मुताबिक, द नेशनल गैलरी ऑफ ऑस्ट्रेलिया एक बदनाम अंतरराष्ट्रीय डीलर से जुड़ी 14 प्राचीन वस्तुएं लौटाएगी. संग्रहालय अपने एशियन आर्ट कलेक्शन में शामिल लूटी हुईं वस्तुओं को हटाने के लिए अभियान चला रहा है.

    यह भी पढ़ें: पीएम मोदी से लेकर शबाना आजमी से मुलाकात, ऐसी रही ममता बनर्जी की दिल्ली यात्रा

    रिपोर्ट के अनुसार, निदेशक निक मित्जेविच ने कहा कि न्यूयॉर्क के कुख्यात डीलर सुभाष कपूर से खरीदी हुईं 13 वस्तुओं को भारत सरकार को लौटाया जाएगा. इसमें 1989 में प्राप्त वस्तु भी शामिल है. डीलर कपूर को 2011 में चोरी के षड्यंत्र के आरोप में गिरफ्तार किया गया था और भारत में ट्रायल का इंतजार कर रहा है. अमेरिका में अभियोजक उसे प्रत्यर्पित करना चाहते हैं. इसके अलावा ब्रिटेन के एक शख्स नील पैरी स्मिथ पर भी इसी तरह का मामला दर्ज हुआ है.

    9वीं शताब्दी जितनी पुरानी कुछ वस्तुओं को हाल में 2009 में खरीदा गया था. इन वस्तुओं की कीमत 30 लाख डॉलर बताई जा रही है. इसमें 6 कांस्य और पत्थर की मूर्तियां, प्रोसेशनल स्टैंडर्ड, चित्रित स्क्रोल और 6 तस्वीरें शामिल हैं. इनमें कुछ धार्मिक और सांस्कृतिक वस्तुएं शामिल हैं. ऑस्ट्रेलिया में भारत के उच्चायुक्त मनप्रीत वोहरा ने ऑस्ट्रेलिया की सरकार और नेशनल आर्ट गैलरी के फैसले का स्वागत किया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज