कर्नाटक: अयोग्‍य ठहराए जाने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंचे 14 विधायक

इस मामले को लेकर तत्‍कालीन स्‍पीकर रमेश कुमार ने पहले तीन और बाद में बाकी सभी बागी विधायकों को अयोग्‍य करार दे दिया था.

News18Hindi
Updated: August 1, 2019, 6:47 PM IST
कर्नाटक: अयोग्‍य ठहराए जाने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंचे 14 विधायक
इस मामले को लेकर तत्‍कालीन स्‍पीकर रमेश कुमार ने पहले तीन और बाद में बाकी सभी बागी विधायकों को अयोग्‍य करार दे दिया था.
News18Hindi
Updated: August 1, 2019, 6:47 PM IST
कर्नाटक के आयोग्‍य ठहराए गए 14 बागी विधायकों ने गुरुवार को तत्‍कालीन स्‍पीकर आर रमेश कुमार के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. कांग्रेस के 11 और जेडीएस के तीन विधायकों ने अपनी पार्टी से बगावत करके इस्‍तीफा दे दिया था. इसी कारण कांग्रेस-जेडीएस की सरकार भी गिरी.

इस मामले को लेकर तत्‍कालीन स्‍पीकर रमेश कुमार ने पहले तीन और बाद में बाकी सभी बागी विधायकों को अयोग्‍य करार दे दिया था. इसके साथ ही रमेश कुमार ने आदेश दिया था कि ये विधायक 2023 तक कोई भी चुनाव, उपचुनाव नहीं लड़ पाएंगे.

कांग्रेस ने बागी विधायकों को पार्टी से निकाला
कांग्रेस ने कर्नाटक के अपने उन 'पूर्व विधायकों' को 'पार्टी विरोधी गतिविधियों' के आरोप में मंगलवार को निष्कासित कर दिया जिन्हें हाल ही में विधानसभा अध्यक्ष द्वारा अयोग्य ठहराया गया था. पार्टी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल की ओर से जारी बयान के मुताबिक कर्नाटक कांग्रेस की ओर से दिए गए प्रस्ताव को अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी ने स्वीकृति प्रदान कर दी. कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने इन नेताओं को पार्टी से निकालने की अनुशंसा की थी.

बता दें कि कांग्रेस के 14 विधायकों ने पार्टी से बगावत करते हुए इस्‍तीफा सौंपा था. जिसके बाद पार्टी ने इनके खिलाफ दलबदल विरोधी कानून के तहत कार्रवाई की मांग की थी. अब इन नेताओं ने विधानसभा अध्‍यक्ष के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है.

कुमारस्वामी सरकार के सामने पैदा हुआ संकट
कर्नाटक में सत्तारूढ़ कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन से 18 विधायकों के इस्तीफे की वजह से कुमारस्वामी की सरकार के सामने राजनीतिक संकट पैदा हो गया था. जबकि बागी विधायकों ने इस मामले को लेकर शीर्ष अदालत में याचिका दायर की है. इसमें विधानसभा अध्यक्ष को उनके इस्तीफे स्वीकार करने का निर्देश देने का अनुरोध किया गया था.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 1, 2019, 6:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...