अपना शहर चुनें

States

केंद्र ने राज्यसभा में दी जानकारी, देश में कोरोना से अब तक 162 डॉक्टरों की मौत

केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने मंगलवार को राज्यसभा में बताया कि देश में 22 जनवरी तक 162 डॉक्टर, 107 नर्स और 44 आशा कार्यकर्ताओं को कोरोना वायरस संक्रमण के चलते मौत हुई है.
केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने मंगलवार को राज्यसभा में बताया कि देश में 22 जनवरी तक 162 डॉक्टर, 107 नर्स और 44 आशा कार्यकर्ताओं को कोरोना वायरस संक्रमण के चलते मौत हुई है.

Coronavirus in India: केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे (Ashwini Choubey) ने मंगलवार को राज्यसभा (Rajya Sabha) में बताया कि देश में 22 जनवरी तक 162 डॉक्टर, 107 नर्स और 44 आशा कार्यकर्ताओं की कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के चलते मौत हुई है.

  • News18.com
  • Last Updated: February 2, 2021, 8:28 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे (Ashwini Choubey) ने मंगलवार को राज्यसभा (Rajya Sabha) में बताया कि देश में 22 जनवरी तक 162 डॉक्टर, 107 नर्स और 44 आशा कार्यकर्ताओं की कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) के चलते मौत हुई है. इसके साथ ही केंद्र सरकार ने राज्य सभा को बताया कि 28 जनवरी तक देश के अस्पतालों में ऑक्सीजन की सुविधा वाले बिस्तरों की संख्या बढ़कर अब 1,57,344 हो गई है. पहले बिस्तरों की संख्या 62,458 थी. इसी दौरान आईसीयू सुविधा वाले बेड की संख्या 27,360 से बढ़कर 36,008 हो गई है. संसद के ऊपरी सदन को जानकारी देते हुए केंद्र सरकार ने कहा कि उपलब्ध जानकारी के मुताबिक सितंबर 2020 तक देश के 63 जिलों में कोई ब्लड बैंक नहीं है.

देश में कोरोना वायरस संक्रमण पर केंद्र सरकार ने कहा कि महाराष्ट्र और केरल में कोरोना वायरस को लेकर हालात काबू में नहीं आ रहे हैं. इस संबंध में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने दोनों राज्यों में हाईलेवल मल्टी डिस्प्लिनरी टीमों को भेजने का फैसला लिया है. ये टीमें कोरोना वायरस प्रबंधन में राज्यों की मदद करेंगी. खास बात है कि देश में कोरोना वायरस के मामले लगातार कम हो रहे हैं. सोमवार को देश में करीब 8 हजार नए मामले सामने आए.

एक ओर जहां देश के लगभग सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में मामले कम हो रहे हैं. वहीं, केरल (Kerala) और महाराष्ट्र (Maharashtra) वायरस संक्रमण के मामलों में 70 फीसदी का योगदान दे रहे हैं. महाराष्ट्र कोरोना वायरस से देश का सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य भी है. इन दोनों राज्यों में कोरोना वायरस पर लगाम लगाने के लिए दो हाई लेवल टीमें तैनात की जा रही हैं. महाराष्ट्र भेजी जा रही केंद्रीय टीम में नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल के एक्सपर्ट्स और नई दिल्ली स्थित आरएमएल अस्पताल के एक्सपर्ट्स शामिल हैं.



वहीं, केरल जाने वाली टीम में स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय (Health Ministry) के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ तिरुवनंतपुरम् स्थित क्षेत्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण और नई दिल्ली के लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज के एक्सपर्ट्स शामिल होंगे. महाराष्ट्र में अब तक कोरोना वायरस के 20 लाख 28 हजार 347 मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें से 51 हजार 109 लोगों की मौत हो गई है. जबकि, केरल में अब तक 9 लाख 32 हजार 638 मरीज मिल चुके हैं. यहां 12 हजार 220 मरीजों की कोविड-19 के चलते मौत हो गई है.

महाराष्ट्र का सबसे प्रभावित जिला पुणे हैं. केरल के एर्नाकुलम जिले में मरीजों का आंकड़ा 1 लाख 8 हजार 414 पर पहुंच गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज