Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    दार्जिलिंग: 17 पार्षदों ने भी छोड़ा भाजपा का साथ, एनडीए से पहले ही अलग हो चुकी है गोरखा जनमुक्ति मोर्चा

    बिमल गुरुंग (फोटो:ANI/Twitter)
    बिमल गुरुंग (फोटो:ANI/Twitter)

    एनडीए (NDA) से नाता तोड़ने वाले गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (Gorkha Janmukti Morcha) के बिमल गुरुंग (Bimal Gurung) ने आगामी चुनावों में ममता बनर्जी का साथ देने का फैसला किया है. पार्टी ने आरोप लगाया है कि भाजपा ने गोरखालैंड (Gorkhaland) के वादे को पूरा नहीं किया.

    • News18Hindi
    • Last Updated: November 5, 2020, 7:23 PM IST
    • Share this:
    कोलकाता. पश्चिम बंगाल में अगले साल चुनाव होने हैं. चुनावी तैयारियां शुरू कर चुकी भारतीय जनता पार्टी को झटका लगा है. 2019 में बीजेपी में शामिल हुए दार्जिलिंग म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन के 17 पार्षदों ने फिर से गोरखा जनमुक्ति मोर्चा में वापसी कर ली है. खास बात है कि गृहमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता अमित शाह (Amit Shah) दो दिन के बंगाल दौरे पर हैं. उनके इस दौरे को भाजपा की चुनावी तैयारियों का आगाज माना जा रहा है.

    भाजपा पर लगाए वादे पूरे नहीं करने के आरोप
    एनडीए से नाता तोड़ने वाले गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के बिमल गुरुंग ने आगामी चुनावों में ममता बनर्जी का साथ देने का फैसला किया है. गुरुंग ने कहा 'हम एनडीए के साथ 17 साल तक रहे थे, लेकिन बीजेपी ने वादे पूरे नहीं किए. ममता बनर्जी को वादे पूरे करते देखते हुए हम 2021 में उनका समर्थन करेंगे.'

    पार्टी प्रमुख गुरुंग ने कहा था 'हम एनडीए छोड़ रहे हैं, क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने गोरखालैंड को लेकर किया वादा पूरा नहीं किया. 6 साल हो चुके हैं.' उन्होंने कहा 'इसके मुकाबले मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने जो समाधान पेश किए हैं, वे ज्यादा मजबूत हैं. हम बीजेपी को सबक सिखाने के लिए 2021 के विधानसभा चुनाव (Assembly Election) में तृणमूल कांग्रेस (Trinmool Congress) के साथ होंगे.' हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि वे पुख्ता समाधान के लिए किसी भी राजनीतिक पार्टी के साथ शामिल हो जाएंगे. गुरुंग ने कहा 'हमने राज्य या गोरखालैंड की मांग को छोड़ा नहीं है.'



    ममता बनर्जी से मिले जीजेएम के बिनॉय तमांग
    गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के एक धड़ के प्रमुख बिनॉय तमांग (Binoy Tamang) ने मंगलवार को ममता बनर्जी से मुलाकात की थी. 2017 से टीएमसी के साथ रह रहे तमांग ने कहा कि दार्जिलिंग में बिमल गुरुंग एक क्लोज्ड चैप्टर है. उन्होंने अपने साथी और गोरखा टैरिटोरियल एडमिनिस्ट्रेशन के अध्यक्ष अनित थापा के साथ मिलकर सीएम से कई मुद्दों पर बात की थी.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज