अब प्रति व्यक्ति आय से तय होगी दवा की कीमत

अब प्रति व्यक्ति आय से तय होगी दवा की कीमत
दवा मूल्य नीति पर गठित सरकार के एक समूह ने दवाईयों की कीमत प्रति व्यक्ति आय के अनुसार तय करने की सिफारिश की है।

दवा मूल्य नीति पर गठित सरकार के एक समूह ने दवाईयों की कीमत प्रति व्यक्ति आय के अनुसार तय करने की सिफारिश की है।

  • Share this:
नई दिल्ली। दवा मूल्य नीति पर गठित सरकार के एक समूह ने दवाईयों की कीमत प्रति व्यक्ति आय के अनुसार तय करने की सिफारिश की है और उसका कहना है कि इससे दवाओं की कीमत आम आदमी की पहुंच में हो जाएगी।

रसायन एवं उवर्रक मंत्रालय की वेबसाइट पर जारी एक रिपोर्ट में कहा गया है कि कैंसर, एचआईवी, एडस और हैपेटाईटिस जैसी खतरनाक बीमारियों के इलाज में आने वाली दवाईयों की कीमत राष्ट्रीय स्तर पर प्रति व्यक्ति आय के आधार पर तय की जानी चाहिए।

समूह ने इसके लिए एक समिति गठित करने की सिफारिश की है जो इन दवाईयों की कीमतें तय करने के लिए निर्माता कंपनियों के साथ बातचीत करेगी। हालांकि समूह ने कहा है कि इस संबंध में फैसला करते समय सभी संबद्ध पक्षों, सरकारी विभागों, कंपनियों और उद्योगों से सलाह मशविरा किया जाना चाहिए।



सूत्रों ने कहा कि विभिन्न देशों में दवाओं की कीमत संबद्ध देशों की प्रति व्यक्ति आय के आधार पर तय होती है। भारतीयों को विदेशी दवाएं संबद्ध देशों की प्रति व्यक्ति आय के अनुसार खरीदनी पड़ती हैं। अगर दवाईयों की कीमत भारत में राष्ट्रीय प्रति व्यक्ति आय के आधार पर तय की जाएगी तो निश्चित रूप से दवाओं की कीमत आम आदमी की पहुंच में रहेगी। इसलिए देश में दवाओं की कीमतों का नियमन करना जरूरी है।
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज