• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • अजीत ने तोड़ा उपवास, विपक्ष ने उपवास को दिया ढोंग करार

अजीत ने तोड़ा उपवास, विपक्ष ने उपवास को दिया ढोंग करार

सूखा पीड़ितों पर दिए विवादास्पद बयान के चलते मुश्किल में फंसे अजित पवार ने प्रायश्चित करने का निर्णय लिया है। इसके लिए उन्होंने एक दिन का आत्मक्लेश अनशन किया। जो शाम को खत्म हो गया।

सूखा पीड़ितों पर दिए विवादास्पद बयान के चलते मुश्किल में फंसे अजित पवार ने प्रायश्चित करने का निर्णय लिया है। इसके लिए उन्होंने एक दिन का आत्मक्लेश अनशन किया। जो शाम को खत्म हो गया।

सूखा पीड़ितों पर दिए विवादास्पद बयान के चलते मुश्किल में फंसे अजित पवार ने प्रायश्चित करने का निर्णय लिया है। इसके लिए उन्होंने एक दिन का आत्मक्लेश अनशन किया। जो शाम को खत्म हो गया।

  • Share this:
    मुंबई। सूखा पीड़ितों पर दिए विवादास्पद बयान के चलते मुश्किल में फंसे अजित पवार ने प्रायश्चित करने का निर्णय लिया है। इसके लिए उन्होंने एक दिन का आत्मक्लेश अनशन किया। लेकिन उनके प्रायश्चित को ढोंग बताते हुए विपक्ष ने महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री पर जबरदस्त हमला बोला है, विपक्ष अजित पवार के इस्तीफे पर अड़ा है। ताजा जानकारी के अनुसार कुछ देर पहले अजित पवार ने अपना उपवास खत्म कर दिया है।

    सूखे से कराह रहे महाराष्ट्र को लेकर बेतुका बयान देना उपमुख्यमंत्री अजित पवार को इतना भारी पड़ा कि उन्हें पश्चाताप करना पड़ गया। अजित पवार को महाराष्ट्र की राजनीति में नैतिकता के ऊंचे मानदंडों का पालन करने वाले और राज्य के पहले मुख्यमंत्री यशवंत राव चव्हाण की समाधि पर शरण लेनी पड़ी। अपने बेतुके बयान के लिए पवार दो बार माफी मांग चुके हैं। लेकिन अब अपनी गलती का प्रायश्चित करने के लिए उन्होंने सांगली में चव्हाण की समाधि पर अब एक दिन का उपवास कर रहे हैं।

    अजित पवार ने कहा कि यह अनशन आत्मक्लेश के लिए है। सूबे के मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने भी पवार के इस कदम का समर्थन किया है। पृथ्वीराज चव्हाण ने कहा कि आत्मचिंतन सब करते है, अजित पवार भी आत्मचिंतन कर रहे है। मैं भी आत्मचिंतन करता हूं।

    दूसरी ओर लगातार अजित पवार को निशाना बनाने वाले राज ठाकरे का कहना है कि ये महज ढोंग के अलावा कुछ नहीं। बीजेपी ने भी पवार के उपवास को नौटंकी बताया है। महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे ने कहा कि अजित पवार ने अपने बयान से महाराष्ट्र की जनता को ऐसा दर्द दिया है जो आने वाले 50 सालों तक लोग भुल नहीं पाएंगे। अजित पवार सिर्फ नौटकीं कर रहें हैं।

    बीजेपी नेता बलबीर पुंज ने कहा कि अजित पवार जी का यह नाटक है। अगर उनको अपने इस घटिया बयान पर इतना ही दुःख होता तो वो अपने पद से इस्तीफ़ा दे देते और जाकर घर बैठते। यह सब मगरमच्छ के आंसू हैं।

    गौरतबल है कि शनिवार को एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार ने अजित पवार के बयान की निंदा करते हुए कहा था कि उनके इस्तीफे पर पार्टी की उच्चस्तरीय कमेटी फैसला लेगी।

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज