कठुआ: पास्टर पर यौन शोषण के आरोप के बाद शेल्टर होम से रेस्क्यू किए गए 19 बच्चे

पुलिस के मुताबिक, इस मामले में एंथनी थॉमस को गिरफ्तार किया गया है और उसके खिलाफ पोस्को के तहत मामला दर्ज किया गया है.

भाषा
Updated: September 8, 2018, 7:19 PM IST
कठुआ: पास्टर पर यौन शोषण के आरोप के बाद शेल्टर होम से रेस्क्यू किए गए 19 बच्चे
प्रतीकात्मक फोटो
भाषा
Updated: September 8, 2018, 7:19 PM IST
जम्मू कश्मीर के कठुआ जिले में एक गैर पंजीकृत अनाथालय में छापा मार कर आठ लड़कियों सहित 19 बच्चों को मुक्त कराया गया है. अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी. अनाथालय में रहने वाले कुछ बच्चों नें शिकायत की थी कि केरल के पास्टर द्वारा चलाए जा रहे इस केन्द्र में उन्हें परेशान और प्रताड़ित किया जा रहा है जिसके बाद नागरिक प्रशासन और पुलिस ने शुक्रवार को छापे मारे.

पुलिस के मुताबिक, इस मामले में एंथनी थॉमस को गिरफ्तार किया गया है और उसके खिलाफ पोस्को के तहत मामला दर्ज किया गया है. वहीं थॉमस ने कुछ भी गलत करने से इनकार किया है. उसने पुलिस द्वारा ले जाए जाने से पहले संवाददाताओं को बताया, ‘‘कुल 21 बच्चे अनाथालय में रह रहे हैं. उनमें से दो बच्चे पंजाब के पठानकोट स्थित अपने पैतृक निवास में एक विवाह समारोह में शामिल होने के लिए गए हैं.’’

अधिकारियों ने बताया कि पांच से 16 साल के इन बच्चों को सरकारी बाल आश्रम और नारी निकेतन भेजा गया है और ये बच्चे पंजाब, हिमाचल प्रदेश और जम्मू के विभिन्न स्थानों से हैं. कठुआ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्रीधर पाटिल ने कहा, ‘‘एक शिकायत के आधार पर बचाव अभियान चलाया गया था और आगे की जांच चल रही है.’’ उन्होंने बताया कि अनाथालय कई वर्षों से चल रहा था और यह एक एनजीओ से संबंद्ध था हालांकि कुछ दिन पूर्व ही उसने इसे अलग कर दिया था.

पुलिस ने बताया, ‘‘अधिकारियों ने अनाथालय से कुछ चीजें जब्त की हैं. मुक्त कराए गए बच्चों को उपचार दिया जा रहा है और उनकी काउंसलिंग की जा रही है.’’ उन्होंने बताया कि पास्टर की पत्नी केरल में बाढ़ आने के बाद वहां गई है और वह कुछ दिनों में लौटेंगी. संयुक्त छापे की अगुवाई करने वाले कठुआ के सहायक आयुक्त राजस्व जितेन्द्र मिश्रा ने बताया कि अनाथालय में बच्चों को परेशान और प्रताड़ित करने की अनेक शिकायत मिलने के बाद यह छापा कठुआ के उपायुक्त के निर्देश पर ड़ाला गया. बच्चों के परिजन से संपर्क करने के प्रयास किए जा रहे हैं.

उन्होंने बताया कि छापे के दौरान थॉमस केन्द्र चलाने के कोई भी दस्तावेज पेश नहीं कर पाया. उन्होंने बताया कि केन्द्र चलाने की मंशा की जांच की जा रही है. इस बीच राष्ट्रीय बजरंग दल के कार्यकर्ताओं के एक दल ने जम्मू में प्रेस क्लब के बाहर प्रदर्शन कर आरोपी को कड़ी सजा दिए जाने की मांग की. उन्होंने पास्टर का पुतला भी जलाया.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर