• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • तमिलनाडु में कोरोना वायरस संक्रमण के 1997 नए मामले, 33 लोगों की मौत

तमिलनाडु में कोरोना वायरस संक्रमण के 1997 नए मामले, 33 लोगों की मौत

तमिलनाडु में बृहस्पतिवार को कोरोना वायरस के 1997 नये मामले सामने आए. ( प्रतीकात्‍मक चित्र )

तमिलनाडु में बृहस्पतिवार को कोरोना वायरस के 1997 नये मामले सामने आए. ( प्रतीकात्‍मक चित्र )

तमिलनाडु (tamil nadu) में बृहस्पतिवार को कोरोना वायरस (Corona Virus) के 1997 नये मामले सामने आये जिसके बाद संक्रमितों की कुल संख्या बढ़ कर 25,69,398 हो गयी है. स्वास्थ्य विभाग ने एक बुलेटिन में इसकी जानकारी दी. बुलेटिन के अनुसार बृहस्पतिवार को महामारी के कारण 33 लोगों की मौत हो गयी.

  • Share this:

    चेन्नई. तमिलनाडु (tamil nadu) में बृहस्पतिवार को कोरोना वायरस (Corona Virus) के 1997 नये मामले सामने आये जिसके बाद संक्रमितों की कुल संख्या बढ़ कर 25,69,398 हो गयी है. स्वास्थ्य विभाग ने एक बुलेटिन में इसकी जानकारी दी. बुलेटिन के अनुसार बृहस्पतिवार को महामारी के कारण 33 लोगों की मौत हो गयी जिसके बाद इस वायरस से मरने वालों की कुल संख्या बढ़ कर 34,230 हो गयी है. इसमें कहा गया है कि प्रदेश में पिछले 24 घंटों में 1,943 मरीज ठीक हुए हैं जो सामने आये नये मामलों से कम है.

    बुलेटिन के अनुसार राज्य में संक्रमण मुक्त होने वाले मरीजों की कुल संख्या बढ़ कर अब 25,15,030 पर पहुंच गयी है. प्रदेश में फिलहाल 20,138 मरीज उपचाराधीन हैं. इसमें कहा गया है कि पिछले 24 घंटे में 1,58,797 नमूनों की कोविड-19 जांच की गयी. प्रदेश में अब तक 3,82,11,132 नमूनों की जांच की जा चुकी है. कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए तमिलनाडु सरकार ने राज्य में जारी लॉकडाउन को बिना किसी अतिरिक्त ढील के 9 अगस्त तक बढ़ा दिया.

    ये भी पढ़ें : केजरीवाल सरकार का दावा, तीसरी लहर से पहले ही तैयार कर लिए जाएंगे इतने हजार बेड

    ये भी पढ़ें :  West Bengal: टीएमसी कार्यालय में अवैध रूप से चल रहा टीकाकरण शिविर, विधायक ने पुलिस को पत्र लिखकर जांच की मांग की

    राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि तमिलनाडु ने पिछले कुछ महीनों में गिरावट के बाद नए कोविड​​​-19 मामलों में मामूली वृद्धि दर्ज की है. तमिलनाडु सरकार ने अपना नजरिया बदलते हुए लॉकडाउन नियमों में ढील देने पर रोक लगाने का फैसला किया है और इसके बजाय ‘वेट एंड वॉच’ की नीति अपनाई है. चेन्नई, कोयंबटूर, चेंगलपट्टू और कल्लाकुरुची जैसे जिलों को कड़ी निगरानी में रखा गया है. तमिलनाडु को कोरोना वायरस की दूसरी लहर के दौरान बिस्तरों और ऑक्सीजन की भयानक कमी का सामना करना पड़ा था; मौतें भी बढ़ गई थीं, जिससे कोयंबटूर जैसे जिलों में कोरोना मामलों की कम रिपोर्टिंग की शिकायत बढ़ गई थी.

    एमके स्टालिन की अगुआई वाली द्रमुक सरकार महामारी की खतरनाक तीसरी लहर की संभावित चुनौती का सामना कर रही है. इस बीच, केंद्र से आपूर्ति के आधार पर, राज्य में टीकाकरण को किया जाना जारी है. शुक्रवार को जारी प्रेस विज्ञप्ति में, सरकार ने कहा कि जिला कलेक्टरों और पुलिस को महामारी नियमों का उल्लंघन करने वालों-सार्वजनिक व्यक्तियों और प्रतिष्ठानों को दंडित करने के सख्त आदेश दिए गए हैं. आने वाला सप्ताह डीएमके सरकार के लिए संभावित वायरल लहर को कम करने में अपनी क्षमता साबित करने के लिए अहम होंगे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज