जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में बारूदी सुरंग विस्फोट में सेना के 2 जवान घायल

जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में बारूदी सुरंग विस्फोट में सेना के 2 जवान घायल
जम्मू-कश्मीर की सड़कों पर गश्त लगाते सेना के अफसर (फाइल फोटो, PTI)

रिपोर्टों में कहा गया है कि विस्फोट (Blast) में दो सैनिक उस समय घायल हो गये, जब जिस इलाके में दोनों गश्त (Patrolling) कर रहे थे, वहां एक बारूदी सुरंग (Landmine) पर उनका पांव पड़ गया.

  • Share this:
जम्मू. जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के राजौरी जिले (Rajouri District) में मंगलवार को एक बारूदी सुरंग विस्फोट (Landmine Blast) में सेना के दो जवान (Soldiers) घायल हो गए. सूत्रों ने बताया की एस के मिंजुर रहमान को उधमपुर बेस अस्पताल (Udhampur Base Hospital) में भर्ती कराया गया, जबकि उपाध्याय प्रसाद राजिंद्रा को राजौरी के सेना अस्पताल (Military Hospital) में स्थानांतरित (Transfer) कर दिया गया.

रिपोर्टों में कहा गया है कि विस्फोट (Blast) में दो सैनिक उस समय घायल हो गये, जब जिस इलाके में दोनों गश्त कर रहे थे, वहां एक बारूदी सुरंग (Landmine) पर उनका पांव पड़ गया. पुलिस सूत्रों ने बताया कि सेना के दोनों जवानों (Soldiers) की पहचान सिपाही एस. मिंजूर रहमान और सिपाही उपाध्याय प्रसाद राजिंदरा के रूप में हुई है. राजौरी जिले के नौशेरा सेक्टर में कलाल के आगे के क्षेत्रों में ड्यूटी पर रहते हुए ब्लास्ट के दौरान उन्हें ये चोटें आईं.

पाकिस्तान की गोलीबारी में भी इस साल अब तक मारे गये 21 नागरिक
पाकिस्तानी उच्चायोग के प्रभारी (Charge d'Affairs) को दो दिन पहले तलब किया गया था. ऐसा 17 जुलाई की रात में पाकिस्तानी सशस्त्र बलों की ओर से बिना किसी वजह किए गये संघर्ष विराम उल्लंघन में एक बच्चे सहित तीन निर्दोष नागरिकों की मौत पर जोरदार विरोध दर्ज कराने के लिए किया गया था. पाकिस्तान (Pakistan) की इस करतूत मे एक अन्य बच्चे को गंभीर चोटें भी आई थीं. पाकिस्तान के सशस्त्र बलों की ओर से यह संघर्ष विराम का उल्लंघन 17 जुलाई 2020 में जम्मू और कश्मीर के कृष्णाघाटी सेक्टर में किया गया था. बताया गया है कि इस गोलीबारी में जिन तीन लोगो की मौत हुई है, वे सभी मृतक एक ही परिवार के थे.
पाकिस्तानी उच्चायोग (Pakistan High Commission) के प्रभारी को बुलाकर उनसे कहा गया था कि पाकिस्तानी सेनाओं की ओर से लगातार भारत के निर्दोष नागरिकों को निशाना बनाने के लिए भारत सबसे कठोर शब्दों के साथ इसकी (युद्धविराम उल्लंघन की) निंदा करता है. पाकिस्तान की सेना (Pakistani Army) द्वारा निर्दोष नागरिकों को जानबूझकर निशाना बनाया जा रहा है. इस वर्ष अकेले पाकिस्तानी सशस्त्र बलों की ओर से द्वारा 2711 से अधिक युद्धविराम उल्लंघन (Ceasefire Violation) हुए हैं, जिसमें 21 भारतीय मारे गए हैं और 94 घायल हुए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज