• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • Parliament Winter Session Live: संसद सत्र को लेकर PM मोदी की बैठक, राहुल गांधी ने विपक्षी नेताओं संग दिया धरना

Parliament Winter Session Live: संसद सत्र को लेकर PM मोदी की बैठक, राहुल गांधी ने विपक्षी नेताओं संग दिया धरना

Parliament Winter Session Live: संसद के शीतकालीन सत्र (Parliament Winter Session Live) में गुरुवार को भी हंगामा जारी रहा. राज्यसभा (Rajya Sabha) में 12 सांसदों के निलंबन (12 MP Suspended) के बाद से सरकार पर आक्रामक विपक्ष ने बुधवार को सदन बाधित किया था, जिसके चलते कार्यवाही सुचारू रूप से नहीं चल सकी. गुरुवार को 12 बजे तक राज्‍यसभा की कार्रवाई स्‍थगित कर दी गई है. वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संसद सत्र को लेकर अहम बैठक कर रहे हैं.

  • News18Hindi
  • | December 02, 2021, 12:00 IST
    LAST UPDATED 2 MONTHS AGO
    13:34 (IST)
    लोकसभा में COVID-19 महामारी पर चर्चा हुई.

    13:32 (IST)
    राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने संसद का शीतकालीन सत्र शुरू होने के बाद से उच्च सदन में अब तक उल्लेखनीय कामकाज न हो पाने को लेकर बृहस्पतिवार को चिंता जाहिर करते हुए कहा कि संविधान निर्माताओं ने जन प्रतिनिधियों को महती जिम्मेदारी दी है जिसका निर्वहन किया जाना चाहिए.  संसद के मॉनसून सत्र के दौरान ‘‘अशोभनीय आचरण’’ करने के लिए वर्तमान शीतकालीन सत्र की शेष अवधि के लिए 12 सांसदों को निलंबित किए जाने के बाद, उनका निलंबन वापस लेने की मांग को लेकर विपक्षी दलों के हंगामे के कारण उच्च सदन की कार्यवाही लगातार बाधित होती रही है. इन 12 सदस्यों को सोमवार को, शीतकालीन सत्र के पहले दिन निलंबित किया गया. सोमवार को ही सदन में तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करने के लिए लाए गए ‘‘कृषि विधि निरसन विधेयक 2021’’ को ध्वनिमत से मंजूरी दी गई. इसके अलावा अन्य कामकाज सदन में नहीं हो पाया है. हंगामे की वजह से आज भी उच्च सदन में शून्यकाल नहीं हो पाया.

    13:31 (IST)
    प्रश्नकाल में ही विपक्ष के कुछ सदस्यों ने व्यवस्था के प्रश्न के तहत कोई मुद्दा उठाने का प्रयास किया. उस समय कई सदस्य 12 सदस्यों के निलंबन सहित विभिन्न मुद्दों पर हंगामा कर रहे थे. लेकिन उपसभापति ने इसकी अनुमति नहीं दी और कहा कि प्रश्नकाल में आमतौर पर व्यवस्था के प्रश्न के तहत कोई मुद्दा उठाने को मंजूरी नहीं दी जाती.

    13:31 (IST)
    महंगाई और किसानों के मुद्दों पर चर्चा की मांग कर रहे कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों के सदस्यों ने बृहस्पतिवार को राज्यसभा से वाकआउट किया. उच्च सदन में प्रश्नकाल के दौरान विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने महंगाई का जिक्र करते हुए इस पर चर्चा कराने की मांग की. लेकिन उपसभापति हरिवंश ने उनकी इस मांग को स्वीकार नहीं किया और कहा कि यह समय प्रश्नकाल का है जिसमें सदस्य अपने पूरक सवाल पूछते हैं. अपनी मांग स्वीकार नहीं किए जाने के बाद सबसे पहले कांग्रेस के सदस्यों ने वाकआउट किया. उसके कुछ देर बाद कई अन्य विपक्षी दलों के सदस्यों ने भी सदन से वाकआउट किया.

    13:30 (IST)
    कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने राज्यसभा के 12 सदस्यों के निलंबन के मुद्दे को लेकर सदन में चल रहे गतिरोध की पृष्ठभूमि में बृहस्पतिवार को आरोप लगाया कि केंद्र सरकार सवालों से डरती है. उन्होंने ट्वीट किया, ‘सवालों से डर, सत्य से डर, साहस से डर…जो सरकार डरे, वो अन्याय ही करे.’ राहुल गांधी ने यह टिप्पणी उस वक्त की है जब राज्यसभा में 12 सदस्यों के निलंबन को लेकर पिछले चार दिनों से गतिरोध बना हुआ है. संसद के सोमवार को आरंभ हुए शीतकालीन सत्र के पहले दिन राज्यसभा में कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी दलों के 12 सदस्यों को इस सत्र की शेष अवधि तक के लिए उच्च सदन से निलंबित कर दिया गया था.

    12:23 (IST)

    नायडू ने कहा कि वह पहले भी कह चुके हैं कि यदि निलंबित सदस्यों को अपनी गलती का एहसास हो तो नेता प्रतिपक्ष और सदन के नेता आपस में चर्चा कर सकते हैं और उनका निलंबन वापस लेने के विपक्ष के प्रस्ताव पर विचार किया जा सकता है. उन्होंने सदस्यों से शांत रहने, अपने स्थानों पर लौट जाने और शून्यकाल चलने देने की अपील की. उन्होंने शून्यकाल के तहत मुद्दा उठाने के लिए भारतीय जनता पार्टी के अजय प्रताप सिंह का नाम पुकारा. सिंह ने बोलना शुरू किया लेकिन हंगामे की वजह से उनकी बात सुनी नहीं जा सकी. हंगामा थमता न देख सभापति नायडू ने 11 बज कर करीब दस मिनट पर बैठक दोपहर बारह बजे तक के लिए स्थगित कर दी.

    12:23 (IST)
    उन्होंने कहा कि 12 सदस्यों के निलंबन की कार्रवाई की वजह भी बताई गई थी. उन्होंने कहा ‘सोमवार को संसदीय कार्य मंत्री ने सदन में वजह बताते हुए निलंबन का प्रस्ताव रखा था. यह सब ‘पब्लिक डोमेन’ में है. कुछ सदस्यों ने निलंबन को अलोकतांत्रिक बताया है. कुछ ने कहा कि ऐसा पहली बार किया गया है.’ सभापति ने कहा ‘ऐसा पहली बार नहीं हुआ है. पहले भी अशोभनीय आचरण के चलते, नियमानुसार निलंबन की कार्रवाई की गई है और सदस्यों के अफसोस जाहिर करने के बाद उनका निलंबन वापस लिया गया है. लेकिन इस बार सदस्यों ने कोई पछतावा जाहिर नहीं किया है. ’

    12:22 (IST)
    सभापति ने कहा ‘शीतकालीन सत्र की आज चौथी बैठक है लेकिन अब तक कोई कामकाज नहीं हो पाया है. संविधान निर्माताओं ने जन प्रतिनिधियों पर महती जिम्मेदारी दी है जिसका समुचित निर्वहन जरूरी है.’ इस बीच, विपक्षी दलों के सदस्यों ने 12 सदस्यों का निलंबन वापस लेने की मांग करते हुए हंगामा शुरू कर दिया. कुछ सदस्य आसन के समीप आ गए. सभापति ने इन सदस्यों से अपने स्थानों पर लौट जाने की अपील की और कहा ‘आप मुझ पर कुछ भी थोप नहीं सकते.’

    12:22 (IST)
    राज्यसभा में, मॉनसून सत्र के दौरान ‘अशोभनीय आचरण’ करने की वजह से शीतकालीन सत्र की शेष अवधि के लिए निलंबित 12 सदस्यों का निलंबन वापस लेने की मांग कर रहे विपक्ष के हंगामे के कारण बृहस्पतिवार को उच्च सदन की बैठक शुरू होने के केवल दस मिनट बाद ही दोपहर बारह बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई. हंगामे की वजह से आज भी उच्च सदन में शून्यकाल नहीं हो पाया. बैठक शुरू होने पर सभापति एम वेंकैया नायडू ने आवश्यक दस्तावेज सदन के पटल पर रखवाए. इसके बाद उन्होंने, शीतकालीन सत्र शुरू होने के बाद से अब तक सदन में कोई कामकाज न हो पाने को लेकर चिंता जाहिर की.

    12:21 (IST)
    राज्यसभा सदस्य डॉ मनमोहन सिंह तबियत ठीक नहीं होने की वजह से मौजूदा शीतकालीन सत्र में भाग नहीं ले सकेंगे और अवकाश के लिए उनके अनुरोध को सदन ने बृहस्पतिवार को स्वीकार कर लिया. पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह राज्यसभा के सदस्य हैं. उच्च सदन की बैठक शुरू होने पर सभापति एम वेंकैया नायडू ने बताया कि उन्हें डॉ सिंह का एक पत्र प्राप्त हुआ है जिसमें उन्होंने स्वास्थ्य संबंधी कारणों से मौजूदा सत्र में भाग लेने में असमर्थता जाहिर की है. उन्होंने बताया कि सिंह ने 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक अवकाश का अनुरोध किया है. सदन की सहमति के बाद उन्होंने डॉ सिंह को वर्तमान सत्र से अवकाश की मंजूरी दे दी.

    नई दिल्ली. संसद के शीतकालीन सत्र (Parliament Winter Session Live) में गुरुवार को भी हंगामा जारी रहा. राज्यसभा (Rajya Sabha) में 12 सांसदों के निलंबन (12 MP Suspended) के बाद से सरकार पर आक्रामक विपक्ष ने बुधवार को सदन बाधित किया था, जिसके चलते कार्यवाही सुचारू रूप से नहीं चल सकी. गुरुवार को 12 बजे तक राज्‍यसभा की कार्रवाई स्‍थगित कर दी गई है. वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संसद सत्र को लेकर अहम बैठक कर रहे हैं.

    वहीं लोकसभा में सांसद, किसान आंदोलन में मारे गए किसानों को मुआवजा और एमएसपी बिल पर अड़ रहे. तख्तियां लेकर वह वेल में पहुंचे और सदन की कार्यवाही बाधित की. उधर, बुधवार को केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाले किसानों के परिजनों को मुआवजा दिये जाने संबंधी सवाल पर संसद में कहा था कि प्रदर्शन के दौरान किसानों की मौत के बारे में सरकार को सूचना नहीं है और इसलिए वित्तीय सहयोग का सवाल पैदा नहीं होता है. जिसके बाद सरकार किसानों के मुद्दे पर विपक्ष के निशान पर है.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन