नागपुर में पकड़े गए दो ISI एजेंट, तीन और की तलाश जारी

कार्रवाई सेना की खुफिया विभाग से मिली जानकारी के आधार पर की गई है. मिली जानकारी के मुताबिक ISI के ये एजेंट शहर में रहकर आतंकियों का स्लीपर सेल तैयार कर रहे थे.

News18Hindi
Updated: November 10, 2018, 9:03 AM IST
नागपुर में पकड़े गए दो ISI एजेंट, तीन और की तलाश जारी
प्रतीकात्मक फोटो
News18Hindi
Updated: November 10, 2018, 9:03 AM IST
पाकिस्तान की खुफिया एंजेसी ISI के दो संदिग्ध एजेंट्स को नागपुर के भालदारपुर से गिरफ्तार किया गया है. मुंबई पुलिस की स्पेशल सेल और नागपुर पुलिस की एटीएस की संयुक्त कार्रवाई में इन दो एजेंट्स को गिरफ्तार किया गया है. वहीं इंटेलिजेंस इनपुट के मुताबिक अभी भी तीन एजेंट इलाके में सक्रिय हैं और उनकी तलाश शुरू हो गई है.

महाराष्ट्र टाइम्स की खबर के अनुसार ये दोनों संदिग्ध शहर में पिछले कुछ दिनों से रह रहे थे. उनके घर से बरामद चीजों की जांच की जा रही है. ये कार्रवाई सेना की खुफिया विभाग से मिली जानकारी के आधार पर की गई है. मिली जानकारी के मुताबिक ISI के ये एजेंट शहर में रहकर आतंकियों का स्लीपर सेल तैयार कर रहे थे.

ब्रह्मोस जासूसी केस: 'FB पर दो पाकिस्तानी महिलाओं की फेक प्रोफाइल्स के संपर्क में था निशांत'

इससे पहले अक्टूबर में यूपी एटीएस और महाराष्ट्र पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में अक्टूबर में नागपुर की ब्रह्मोस मिसाइल यूनिट से एक इंजीनियर निशांत अग्रवाल को गिरफ्तार किया गया था. निशांत अग्रवाल फेसबुक पर ‘नेहा शर्मा’ और ‘पूजा रंजन’ नाम से चल रहे दो फर्जी एकाउंट के जरिये पाकिस्तान के संदिग्ध खुफिया सदस्यों से संपर्क में था. इतना ही नहीं उसके फोन से पाकिस्तान में कई कॉल्स भी किए गए थे.

‘ब्रह्मोस ऐरोस्पेस’ भारत के रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) और रूस के ‘मिलिटरी इंडस्ट्रियल कनसोर्टियम’ का संयुक्त उपक्रम है. यंग साइंटिस्ट अवॉर्ड से सम्मानित हो चुका निशांत यहां इंजीनियर के तौर पर कार्यरत था. जिन पाकिस्तानी प्रोफाइल्स के संपर्क में वह था उन्हें इस्लामाबाद से चलाया जा रहा था.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर