अपना शहर चुनें

States

देश में कोरोना के 2 नए स्‍ट्रेन मिले, लेकिन नई लहर में इनकी हिस्‍सेदारी के सबूत नहीं- केंद्र

देश में फिर बढ़ रहे हैं कोरोना के नए केस. (Pic- AP)
देश में फिर बढ़ रहे हैं कोरोना के नए केस. (Pic- AP)

COVID-19 in India: केंद्र सरकार ने जानकारी दी है कि तीन राज्‍यों महाराष्‍ट्र, केरल और तेलंगाना में कोरोना वायरस के 2 नए स्‍ट्रेन (Coronavirus Strain) पाए गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 24, 2021, 9:23 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. देश में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) के बढ़ते मामलों ने एक बार फिर से चिंता को बढ़ा दिया है. इसके साथ ही देश के कुछ हिस्‍सों में कोरोना वायरस (COVID-19) के नए स्‍ट्रेन भी मिल रहे हैं. केंद्र सरकार ने मंगलवार को जानकारी दी है कि तीन राज्‍यों महाराष्‍ट्र, केरल और तेलंगाना में कोरोना वायरस के 2 नए स्‍ट्रेन (Coronavirus Strain) पाए गए हैं. हालांकि सरकार का कहना है कि अभी तक ऐसे ठोस सबूत नहीं मिले हैं कि इन दो नए स्‍ट्रेन के कारण ही महाराष्‍ट्र और केरल में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी हो रही है. इससे पहले देश में ब्रिटेन, दक्षिण अफ्रीकी और ब्राजीलियाई कोरोना स्‍ट्रेन की पुष्टि हो चुकी है.

नीति आयोग के सदस्‍य डॉ. वीके पॉल ने मंगलवार को जानकारी दी है कि इंडियन सार्स सीओवी-2 जीनोमिक कंसोर्टिया ने कोरोना वायरस के दो नए रूप एन440के और ई484के की पहचान की है. उन्‍होंने कहा कि हम वायरस के किसी भी तरह के बदलाव करने की आंशका को देखते हुए उस पर नजर बनाए हुए हैं. कोरोना वायरस के दो नए रूप एन440के और ई484के महाराष्‍ट्र में पाए गए हैं. ई484के वैरिएंट केरल और तेलंगाना में भी पाया गया है.

डॉ. वीके पॉल का कहना है कि INSACOG कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन की बड़े स्‍तर पर ट्रैकिंग कर रहा है. यह प्रयास तेजी से चल रहा है. हमने 3,500 नमूनों पर शोध किया है. हमने इस प्रक्रिया के माध्यम से 187 व्यक्तियों में यूके स्ट्रेन का पता लगाया है. छह लोगों में हमने दक्षिण अफ्रीकी स्‍ट्रेन का पता लगाया है. एक मामले में हमने ब्राजील की वैरिएंट का पता लगाया है.

हालांकि पॉल ने इस दौरान यह भी कहा कि महाराष्ट्र और केरल में कोरोना के नए मामलों में आ रहे उछाल के लिए नए स्‍ट्रेन को जिम्‍मेदार नहीं ठहराया जा सकता है. उन्‍होंने कहा कि हमारे पास उपलब्ध जानकारी के आधार पर मौजूदा समय में हमारे पास कोरोना के पांच वैरिएंट मौजूद हैं. लेकिन वैज्ञानिक प्रमाणों के आधार पर ऐसे सबूत सामने नहीं आए हैं कि महाराष्ट्र और केरल के कुछ जिलों में देखी जा रही तेजी के लिए ये जिम्‍मेदार हैं. हम इसके म्‍यूटेशन पर नजर रखे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज