ओडिशा में 91 साल के दो बुजुर्गों ने जीती कोरोना वायरस से जंग

स्वस्थ होने के बाद दोनों को रविवार को अस्पताल से छुट्टी मिल गई.
स्वस्थ होने के बाद दोनों को रविवार को अस्पताल से छुट्टी मिल गई.

Odisha Coronavirus Cases: दोनों मरीजों को संक्रमण की पुष्टि होने के बाद पांच सितंबर को अस्पताल में भर्ती किया गया था. दोनों को आईसीयू में रखा गया था.

  • भाषा
  • Last Updated: September 22, 2020, 3:39 PM IST
  • Share this:
भुवनेश्वर. ओडिशा (Odisha) में 90 साल से ज्यादा उम्र के दो बुजुर्गों ने कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण को मात दे दी है. उनके स्वस्थ होने के बाद चिकित्सा जगत से जुड़े लोगों ने खुशी जताई. सच्चिदानंद मोहंती और धीरेंद्रनाथ दास दोनों ही 91 साल के हैं. इन्हें क्रमश: कटक (Cuttak) और भुवनेश्वर (Bhuvneshwar) के कोविड-19 अस्पतालों (Covid-19 Hospitals) में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था. इन दोनों को संक्रमण की पुष्टि होने के बाद पांच सितंबर को अस्पताल में भर्ती किया गया था. स्वस्थ होने के बाद दोनों को रविवार को अस्पताल से छुट्टी मिल गई.

मोहंती केंद्रपाड़ा कस्बे से ताल्लुक रखने वाले प्रसिद्ध वकील हैं. वह ‘हाइपोथाइरॉइड’ और तंत्रिका तंत्र से जुड़ी बीमारियों से भी पीड़ित थे. संक्रमण की पुष्टि होने पर उन्हें तत्काल अस्पताल के आईसीयू में भेजा गया. उनका इलाज करनेवाले एक डॉक्टर ने कहा, ' हम उनकी स्थिति को लेकर चिंता में थे क्योंकि भर्ती होने के एक दिन बाद उनका ऑक्सीजन स्तर नीचे चला गया. हालांकि, उन्हें जब ऑक्सीजन प्रणाली पर रखा गया तो उनकी स्थिति धीरे-धीरे सुधरने लगी.'

ये भी पढ़ें- पवार और उद्धव को आयकर नोटिस, बोले- कुछ लोगों को हमसे ज्यादा प्यार



बेटे का भी अस्पताल में चल रहा था इलाज
मोहंती ने मंगलवार को पीटीआई-भाषा से कहा, 'मैं अतिरिक्त मुख्य सचिव (स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण) पी के महापात्र और राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (National Health Mission) की ओडिशा की निदेशक शालिनी पंडित का बुजुर्ग लोगों की अतिरिक्त देखभाल के लिए शुक्रिया अदा करता हूं.' उनके बेटे देबदास का भी इसी अस्पताल में संक्रमण का इलाज चला और वह भी अब स्वस्थ हैं. वह टाइप-2 मधुमेह के मरीज भी हैं.

पत्र सूचना कार्यालय और आकाशवाणी के पूर्व वरिष्ठ अधिकारी धीरेंद्रनाथ दास को भी आईसीयू में भर्ती किया गया था. संक्रमित होने के बाद 91 वर्षीय दास को सांस लेने में तकलीफ होने लगी थी. दास की बेटी देबदत्ता ने बताया कि उनके पिता ने कहा था कि वह कोरोना वायरस को हराएंगे और डॉक्टरों तथा नर्सों की मदद से ऐसा संभव हो गया. इन दोनों बुजुर्गों के कोरोना वायरस को मात देने पर चिकित्सा जगत से जुड़े कई लोगों ने खुशी जताई है.

ये भी पढ़ें- ड्रग्स केस: सारा और श्रद्धा को समन भेजेगा NCB, दीपिका से भी हो सकती है पूछताछ

ओडिशा में 4 हजार से ज्यादा नए केस
बता दें ओडिशा में 4,189 और लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई जिसके बाद मंगलवार को राज्य में संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 1,88,311 हो गई. वहीं, कोविड-19 के 11 और मरीजों की मौत होने से मृतकों की संख्या 721 पर पहुंच गई. स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि पृथक-वास केंद्रों में 2,453 नए मामले सामने आए और जबकि संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों की तलाश के दौरान 1,736 संक्रमितों का पता चला.

खुर्दा में आए सबसे ज्यादा केस
खुर्दा जिले में संक्रमण के सर्वाधिक 712 नए मामले सामने आए. इसके अलावा कटक में 586, पुरी में 265 और सुंदरगढ़ में 201 मामले सामने आए. अधिकारी ने कहा कि गंजाम जिले में कोविड-19 से सर्वाधिक 218 मरीजों की मौत हो चुकी है. उन्होंने बताया कि मौत के नए मामलों में से दो-दो मामले बालेश्वर, बोलंगीर, गंजाम और मलकानगिरि जिले में सामने आए जबकि भद्रक, खुर्दा और पुरी में एक-एक मरीज की मौत हुई. उन्होंने कहा कि खुर्दा में 106 और कटक में 59 मरीजों की मौत हो चुकी है.

ओडिशा में वर्तमान में कोविड-19 के 38,158 मरीजों का इलाज चल रहा है और अब तक 1,49,379 मरीज ठीक हो चुके हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज