देश में 1000 बांग्‍लादेशी लड़कियों की तस्‍करी, इंदौर में छुड़ाई गईं 20

मध्‍य प्रदेश पुलिस कर रही मामले की जांच.
मध्‍य प्रदेश पुलिस कर रही मामले की जांच.

इंदौर में छुड़ाई गई इन युवतियों का कनेक्‍शन नशे के कारोबार से भी बताया जा रहा है. इस संबंध में जानकारी को आईबी और विदेश मंत्रालय से भी शेयर किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 5, 2020, 3:01 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. बांग्‍लादेश (Bangladesh) से तस्‍करी कर भारत लाई गई लड़कियों से देह व्‍यापार और अन्‍य काम कराने के रैकेट बड़ी संख्‍या में सक्रिय हैं. इंदौर पुलिस ने ऐसे ही एक रैकेट के चंगुल में फंसीं 20 लड़कियों को छुड़ाया है. इन्‍हें देह व्‍यापार के लिए लाया गया था. हालांकि पूरे देश में इनकी संख्‍या एक हजार से अधिक बताई जा रही है. इंदौर में छुड़ाई गई इन युवतियों का कनेक्‍शन नशे के कारोबार से भी बताया जा रहा है. इस संबंध में जानकारी को आईबी और विदेश मंत्रालय से भी शेयर किया गया है.

बताया जा रहा है कि इंदौर पुलिस ने 2 साल पहले वेबसाइट के माध्‍यम से ऑनलाइन एस्कॉर्ट सर्विस चलाने वाले मुख्य आरोपी सागर जैन उर्फ सैंडी उसके भाई कपिल जैन, हेमंत जैन और धर्मेंद्र जैन को मामले में आरोपी बनाया गया था. मामला प्रकाश में आने के बाद जब एसआईटी प्रमुख एएसपी राजेश रघुवंशी, टीआई तहजीब काजी, विजय सिसौदिया ने पूछताछ की तो मुंबई और सूरत में इस धंधे में शामिल एजेंटों का पता चला है. ये लोग नौकरी का झांसा देकर बांग्लादेश से एजेंटों के जरिए लड़कियों को भारत लाते हैं और फिर यहां देह व्यापार व अन्य के नशे का कारोबार में धकेल देते हैं.

इंदौर पुलिस की सूचना के बाद मुंबई और आंध्र प्रदेश पुलिस भी सक्रिय हुई है. दोनों ही जगह एजेंटों पर केस दर्ज किया गया है और उनकी धरपकड़ जारी है. जानकारी सामने आ रही है कि मुंबई में कार्रवाई के बाद बड़ी संख्‍या में लड़कियों छिपा दिया गया है. डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्रा ने बताया कि सूरत से भी लिंक मिला है. वहां हमारी एक टीम जांच कर रही है.

सागर जैन ड्रग्स तस्करी से भी जुड़ा है. उसके पकड़े जाने के बाद ही पूरे मामले का खुलासा संभव है. पिछले दिनों में इंदौर के विजय नगर थाना पुलिस ने विदेशी लड़कियों से देह व्यापार कराने वाले रैकेट का पर्दाफाश किया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज