लद्दाख सीमा पर गलवान घाटी में 20 जवान शहीद- पढ़ें भारतीय सेना का पूरा बयान

लद्दाख सीमा पर गलवान घाटी में 20 जवान शहीद- पढ़ें भारतीय सेना का पूरा बयान
LAC पर सोमवार देर रात हिंसक झड़प हुई थी (PTI)

लद्दाख सीमा (Ladakh Lac Border) पर सेना के 20 जवानों की शहादत के बाद भारतीय सेना (Indian Army Statement on Galwan Valley) ने अपने बयान में क्या कहा? पढ़ें यहां...

  • Share this:
नई दिल्ली. लद्दाख सीमा (Ladakh Lac Border) पर भारत और चीन (India China rift) के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प में 20 भारतीय सैनिक शहीद हो गए. इस घटना से पहले से जारी गतिरोध की स्थिति और गंभीर हो गई है. इससे पहले मंगलवार दिन में जानकारी दी गई थी कि 1 अधिकारी और 2 जवानों समेत भारतीय सेना के 3 सैनिक शहीद हुए हैं, हालांकि देर रात सेना की ओर से आधिकारिक बयान में शहीदों की संख्या 20 बताई गई.

भारतीय सेना (Indian Army Statement on Galwan Valley)  ने अपने बयान में कहा, '17 अन्य सैनिक 'जो अत्यधिक ऊंचाई पर गतिरोध वाले स्थान पर शून्य से नीचे के तापमान में ड्यूटी के दौरान गंभीर रूप से घायल हो गए थे, ने दम तोड़ दिया है. इसके बाद शहीद हुए सैनिकों की संख्या बढ़कर 20 हो गई है. भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच गलवान क्षेत्र में जिस स्थान पर 15/16 जून 2020 को झड़प हुई, वहां से दोनों सेनाओं के सैनिक हट गए हैं. भारतीय सेना राष्ट्र की संप्रभुता और अखंडता की रक्षा के लिए दृढ़ता से प्रतिबद्ध है.'

1975 के बाद ऐसा पहली बार
सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार 1975 में अरुणाचल प्रदेश में तुलुंग ला में हुए संघर्ष में चार भारतीय जवानों की शहादत के बाद यह इस तरह की पहली घटना है. सैन्य सूत्रों ने कहा कि दोनों सेनाओं के बीच घटनास्थल पर मेजर जनरल स्तर की बातचीत हुई.
सेना की ओर से जारी एक संक्षिप्त वक्तव्य में कहा गया था, 'गलवान घाटी में तनाव कम करने की प्रक्रिया के दौरान सोमवार रात हिंसक टकराव हो गया. इस दौरान भारतीय सेना का एक अधिकारी और दो जवान शहीद हो गए.' वक्तव्य में कहा गया था, 'दोनों पक्षों की ओर से सेना के वरिष्ठ अधिकारी तनाव कम करने के लिये घटनास्थल पर संवाद कर रहे हैं.'



रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने प्रमुख रक्षा अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत, तीनों सेनाओं के प्रमुख व विदेश मंत्री एस जयशंकर के साथ एक उच्च स्तरीय बैठक के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को झड़प के साथ-साथ पूर्वी लद्दाख के मौजूदा हालात के बारे में जानकारी दी. (एजेंसी इनपुट के साथ)


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज