होम /न्यूज /राष्ट्र /

भारत ने फिर रचा इतिहास, 200 करोड़ कोविड टीकाकरण के लक्ष्य को किया हासिल

भारत ने फिर रचा इतिहास, 200 करोड़ कोविड टीकाकरण के लक्ष्य को किया हासिल

भारत ने हासिल किया कोविड-19 टीकाकरण का 200 करोड़ का लक्ष्य.

भारत ने हासिल किया कोविड-19 टीकाकरण का 200 करोड़ का लक्ष्य.

भारत ने कोविड-19 (Covid-19) की लड़ाई में नया मुकाम हासिल कर लिया है. शनिवार को कोरोना के खिलाफ चल रहे महाअभियान के दूसरे दिन ही भारत ने 200 करोड़ वैक्सीनेशन (India Achived 200 Crore Vaccination Target) का लक्ष्य हासिल कर लिया है. भारत ने यह मुकाम 18 महीने में हासिल किया है. चीन के बाद भारत दूसरा देश है, जिसने 200 करोड़ का लक्ष्य हासिल किया है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. भारत ने कोविड-19 (Covid-19) की लड़ाई में नया मुकाम हासिल कर लिया है. शनिवार को कोरोना के खिलाफ चल रहे महाअभियान के दूसरे दिन ही भारत ने 200 करोड़ वैक्सीनेशन (India Achived 200 Crore Vaccination Target) का लक्ष्य हासिल कर लिया है. भारत ने यह मुकाम 18 महीने में हासिल किया है. चीन के बाद भारत दूसरा देश है, जिसने 200 करोड़ का लक्ष्य हासिल किया है. पिछले साल 16 जनवरी को पीएम मोदी ने देश में कोविड टीकाकरण अभियान की शुरुआत की थी. शनिवार को स्वास्थ्य मंत्रालय ने अपने वक्तव्य में कहा है कि भारत जैसे देशों के लिए 200 करोड़ का लक्ष्य हासिल करना आसान नहीं था.

आपको बता दें कि बीते शुक्रवार यानी 15 जुलाई से पूरे देश में 18 से 59 वर्ष के लोगों को कोरोना वैक्सीन की बूस्टर डोज लगाने कि प्रक्रिया शुरू हुई है. मोदी सरकार ने आजादी के अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में 75 दिनों तक प्रीकॉशन डोज का यह महाअभियान चलाने का फैसला किया था.

booster

राष्ट्रीय कोविड टीकाकरण अभियान के अंतर्गत देश में फिलहाल तीन प्रमुख वैक्सीन कोविशील्ड, कोवैक्सीन एवं कोर्बिवैक्स लगाए जा रहे हैं.

200 करोड़ का लक्ष्य हासिल करने का सफर
राष्ट्रीय कोविड टीकाकरण अभियान के अंतर्गत देश में फिलहाल तीन प्रमुख वैक्सीन कोविशील्ड, कोवैक्सीन एवं कोर्बिवैक्स लगाए जा रहे हैं. कोविशील्ड 18 साल से अधिक उम्र के व्यक्तियों को, कोवैक्सीन 18 साल से अधिक उम्र के व्यक्तियों के साथ-साथ 15 से 18 वर्ष के युवक -युवतियों को भी लगाया जाता है. जबकि, कोर्बिवैक्स 12 से 15 साल तक के किशोर-किशोरियों को लगाया जा रहा है.

कोरोना कब शुरू हुआ और भारत में पहला मामला कब आया
कोरोना महामारी शुरुआत 2019 के आखिर में चीन के वुहान शहर से हुई थी. धीरे-धीरे यह महामारी ने पुरी दुनिया को शिकंजे में ले लिया. 11 मार्च 2020 को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना वायरस के प्रकोप को एक महामारी के तौर पर घोषित कर दिया था. भारत में कोरोना वायरस का पहला केस 30 जनवरी 2020 को केरल के त्रिशूर में देखा गया.

ये भी पढ़ें: सिर्फ 75 दिन तक ही फ्री में लगेगी बूस्टर डोज! जानें वैक्सीनेशन को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय का आगे का प्लान

भारत में कोरोना से पहली मौत
12 मार्च 2020 को भारत में कोरोना वायरस महामारी से पहली मौत दर्ज की गई थी. 19 अप्रैल 2020 को भारत सरकार ने एक हाई लेवल टास्क फोर्स का गठन कर दिया. इसके साथ ही 30 जून 2020 को कोवैक्सीन के पहले और दूसरे चरण के ट्रायल को मंजूरी दी गई. महामारी के बीच में ही मोदी सरकार ने 29 नवंबर 2020 को महामारी से लड़ाई के लिए 900 करोड़ के प्रोत्साहन पैकेज की घोषणा की थी.

Tags: Corona Vaccination Record, Corona virus Vaccination, Covid Vaccination, Health Minister Mansukh Mandaviya, PM Modi

अगली ख़बर