• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • Delhi University के 207 प्रोफेसर्स ने कहा- राजीव गांधी पर अपमानजनक कमेंट कर मोदी ने घटाई पीएमओ की प्रतिष्ठा

Delhi University के 207 प्रोफेसर्स ने कहा- राजीव गांधी पर अपमानजनक कमेंट कर मोदी ने घटाई पीएमओ की प्रतिष्ठा

दिल्ली विश्वविद्यालय के प्रोफेसर्स ने अपने सार्वजनिक बयान में कहा है कि, 'देश के लिए सर्वोच्च बलिदान देने वाले दिवंगत राजीव जी के बारे में नरेंद्र मोदी अपमानजनक और झूठा बयान जारी कर प्रधानमंत्री कार्यालय की प्रतिष्ठा कम की है. '

  • Share this:
    राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली स्थित प्रतिष्ठित दिल्ली विश्वविद्यालय के 207 प्रोफेसर्स ने पूर्व प्रधानमंत्री दिवंगत राजीव गांधी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयान की निंदा करते हुए एक सार्वजनिक बयान जारी किये हैं. प्रोफेसर्स ने अपने बयान में मोदी के बयान को 'अपमानजनक और झूठा' करार दिया है.

    बता दें शनिवार को उत्तर प्रदेश स्थित बस्ती में एक रैली के दौरान पीएम मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर राफेल मुद्दे को लेकर निशाना साधा. इस दौरान पीएम मोदी ने कहा था - 'देश आपके पिता को बेशक 'मिस्टर क्लीन' के नाम से जानता है, लेकिन मिस्टर क्लीन का जीवनकाल 'भ्रष्टाचारी नंबर 1' के रूप में खत्म हुआ था.'

    यह भी पढ़ें:  पीएम मोदी ने लिया राजीव गांधी का नाम तो सीएम ने दिया ये जवाब

    दिल्ली विश्वविद्यालय के प्रोफेसर्स ने अपने सार्वजनिक बयान में कहा है कि, ' देश के लिए सर्वोच्च बलिदान देने वाले  दिवंगत राजीव जी के बारे में  नरेंद्र मोदी अपमानजनक और झूठा बयान जारी कर प्रधानमंत्री कार्यालय की प्रतिष्ठा कम की है. '

    सार्वजनिक बयान में कहा गया है कि कोई भी प्रधानमंत्री इस पर स्तर तक 'नीचे' नहीं आया.

    प्रोफेसर्स के इस बयान को गांधी परिवार के करीबी सैम पित्रोदा ने ट्वीट भी किया है. अपने बयान में प्रोफेसर्स ने कहा है कि देश पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की सफलताओं के लिए आभार प्रकट करता है. बयान में कहा गया है - इतिहास लोगों के अच्छे और नेक कामों को याद रखता है. किसी के जीवन में विवादों पर कम ध्यान देता है.'

    यह भी पढ़ें:   राजीव गांधी पर कमेंट: कांग्रेस की मांग- पीएम मोदी के चुनाव प्रचार पर लगे रोक

    सार्वजनिक बयान में साल 1999 के कारगिल युद्ध और टेलिकम्यूनिकेशन रिवॉल्यूशन का भी जिक्र है. बयान में कहा गया है- 'जब कारगिल से हमारे जवानों ने घुसपैठियों को खदेड़ा तो वह बोफोर्स गन के लिए राजीव गांधी की प्रशंसा करते हुए नारे लगा रहे थे.'

    बयान में कहा गया है कि आज अगर रेल की यात्रा ज्यादा आसान है तो वह पूरी तरह से राजीव गांधी की वजह से है क्योंकि उन्होंने रेल रिजर्वेशन को कंप्यूटराइज्ड किया था. इस बयान पर दिल्ली यूनिवर्सिटी टीचर्स असोसिएशन के आदित्य नारायण मिश्रा, DU के दो एग्जीक्यूटिव काउंसिल मेंबर, तीन एकडमिक काउंसिल मेंबर्स, डूटा के वाइस प्रेसिडें, ज्वाइंट सेक्रेटरी का नाम शामिल है.

    यह भी पढ़ें:  PM Modi के कमेंट पर राहुल गांधी का जवाब, अभिनेत्री गौहर खान ने किया ये ट्वीट
    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज