जम्मू-कश्मीर में आतंक की कमर तोड़ रहे सुरक्षा बल, इस साल 200 आतंकियों का सफाया

कश्मीर में सुरक्षाबलों ने बड़ा अभियान छेड़ रखा है. (AP Photo/Mukhtar Khan)

कश्मीर में सुरक्षाबलों ने बड़ा अभियान छेड़ रखा है. (AP Photo/Mukhtar Khan)

सबसे ज्यादा एनकाउंटर दक्षिण कश्मीर (South Kashmir) में हुए हैं. सिर्फ इसी इलाके में 138 एनकाउंटर हुए. शोपियां (Shopian) और पुलवामा (Pulwama) जैसे इलाकों में 98 एनकाउंटर हुए. इनमें 49 पुलवामा तो 49 शोपियां में हुए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 2, 2020, 7:40 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. सुरक्षा बलों (Security Forces) ने इस साल जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में तकरीबन 200 आतंकियों (200 Terrorists Killed) का सफाया किया है. समाचार एजेंसी एएनआई द्वारा दी गई जानकारी में बताया गया है कि ये आंकड़े सिर्फ अक्टूबर महीने तक के हैं. गौरतलब कि 2019 में सुरक्षाबलों ने 159 आतंकी मार गिराए थे. जानकारी के मुताबिक सीआरपीएफ, सेना और पुलिस के संयुक्त डेटा के मुताबिक जून महीने में सबसे ज्यादा 49 आतंकी मारे गए.

पुलवामा और शोपियां में सबसे ज्यादा एनकाउंटर

डेटा के मुताबिक सबसे ज्यादा एनकाउंटर दक्षिण कश्मीर में हुए हैं. सिर्फ इसी इलाके में 138 एनकाउंटर हुए. शोपियां और पुलवामा जैसे इलाकों में 98 एनकाउंटर हुए. इनमें 49 पुलवामा तो 49 शोपियां में हुए. गौरतलब है कि शोपियां और पुलवामा में आतंकी संगठन सबसे ज्यादा युवाओं को बरगला कर आतंकी बनाने का काम करते हैं. सर्वाधिक आतंकी भी हिज्बुल मुजाहिदीन के मारे गए हैं. पाक समर्थित इस आतंकी संगठन के 72 आंतकियों का सफाया हुआ है. लश्कर-ए-तैयबा के 59 आतंकियों को सुरक्षाबलों ने एनकाउंटर में ढेर किया.

किस तरह घटनाओं को अंजाम देने की तैयारी करते आतंकी संगठन
सिक्योरिटी इनपुट्स के मुताबिक इस वक्त जम्मू-कश्मीर में आतंकी हमले करवाने की जिम्मेदारी लश्कर-ए-तैयबा ने ले रखी है. वहीं हिज्बुल मुजाहिदीन बड़े बंद करवाने और पुलिस/राजनीतिज्ञों की हत्या में शामिल है. डेटा में बताया गया है कि जैश-ए-मोहम्मद के 37 आतंकियों का सफाया किया गया है. इसके अलावा 32 आतंकी विभिन्न संगठनों से जुड़े हुए थे. इनमें इस्लामिक स्टेट भी शामिल है.

जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों ने छेड़ रखा है बड़ा अभियान

गौरतलब है कि इस साल सुरक्षाबलों ने कश्मीर में बड़ा अभियान छेड़ रखा है. कुछ महीने पहले जम्मू-कश्मीर पुलिस के महानिदेशक दिलबाग सिंह ने प्रेस वार्ता में कहा था कि बड़े संगठनों की टॉप लीडरशिप का सफाया किया गया है. सुरक्षा बलों की एक के बाद एक कार्रवाई ने आतंकी गतिविधियों की कमर तोड़कर रख दी है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज