लाइव टीवी

आयुष्मान भारत योजना : 2000 कोविड-19 मरीजों का हुआ फ्री इलाज, 3000 की फ्री टेस्टिंग

News18Hindi
Updated: May 20, 2020, 5:34 PM IST
आयुष्मान भारत योजना : 2000 कोविड-19 मरीजों का हुआ फ्री इलाज, 3000 की फ्री टेस्टिंग
आयुष्मान भारत योजना के तहत 2000 कोरोना मरीजों का मुफ्त इलाज किया जा रहा है (सांकेतिक फोटो)

सितंबर 2018 से शुरू होने वाली दुनिया की सबसे बड़ी सार्वजनिक स्वास्थ्य बीमा योजना (Public Health Insurance Scheme) का लाभ उठाने वालों की संख्या अब 1 करोड़ तक पहुंच गई है.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (COVID-19) इलाज को आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (AB-PMJAY) के तहत निशुल्क बनाए जाने के डेढ़ महीने के अंदर, कम से कम 2,000 लोगों का इस वायरस से होने वाले रोग के लिए मुफ्त इलाज किया गया या वर्तमान में किया रहा है. यह तब है जब सितंबर 2018 से शुरू होने वाली दुनिया की सबसे बड़ी सार्वजनिक स्वास्थ्य बीमा योजना (Public Health Insurance Scheme) का लाभ उठाने वालों की संख्या अब 1 करोड़ तक पहुंच गई है.

योजना के तहत कोविड-19 (Covid-19) के लिए कम से कम 3,000 व्यक्तियों का मुफ्त परीक्षण (Free Testing) भी किया गया है.

संक्रमण में असामान्य वृद्धि होने पर प्राइवेट अस्पतालों की ली जाएगी मदद
राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (NHA), जो इस योजना का कार्यान्वयन करने वाला प्राधिकरण है, उसने बुधवार को बताया कि कोविड-19 रोगियों का भार सहने के लिए पिछले महीने इस योजना के तहत लगभग 1,500 अतिरिक्त अस्पतालों को सूचीबद्ध किया है.



NHA (आयुष्मान भारत) की मुख्य कार्यकारी अधिकारी इंदु भूषण ने कहा, “हम चाहते हैं कि मामलों में वृद्धि होने की स्थिति में हम तैयार रहें. अब तक, सार्वजनिक क्षेत्र बहुत अधिक भार सह रहा है, लेकिन यदि इसमें कोई असामान्य वृद्धि होती है, तो हमें निजी क्षेत्र के अस्पतालों को भी इस काम में लगाने की जरूरत होगी. हम वर्तमान में सूची में और अधिक अस्पतालों को जोड़ने का काम कर रहे हैं. हमने अलग-अलग कोविड-19 उपचार पैकेज बनाए हैं, क्योंकि इन रोगियों के उपचार के लिए आइसोलेशन, पीपीई किट, अतिरिक्त मैनपावर आदि की आवश्यकता होती है. ”



ICMR से अनुमोदित प्राइवेट लैबों को कोविड परीक्षण करने वाली लिस्ट में जोड़ा रहा
यह अथॉरिटी, कोविड-19 परीक्षण के लिए निजी प्रयोगशालाओं को जोड़ने की प्रक्रिया में है, जिन्हें भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) ने अनुमोदित किया है. रेट पैकेज का उपयोग पहले से मौजूद श्रेणी से किया जा रहा है, जो श्वसन संबंधी बीमारियों, गंभीर तीव्र श्वसन संक्रमण, इन्फ्लूएंजा जैसी बीमारी से ग्रसित लक्षणों आदि से संबंधित है. भारत में वर्तमान में 61,149 सक्रिय कोविड-19 मामले हैं.

यह भी पढ़ें:- कैबिनेट ने जम्मू-कश्मीर में स्थानीय निवासी नियमों में बदलाव को मंजूरी दी
First published: May 20, 2020, 5:19 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading