Home /News /nation /

2015 बेअदबी मामला: डेरा प्रमुख राम रहीम से आज होगी पूछताछ, रोहतक जेल के लिए SIT रवाना

2015 बेअदबी मामला: डेरा प्रमुख राम रहीम से आज होगी पूछताछ, रोहतक जेल के लिए SIT रवाना

डेरा सच्चा प्रमुख गुरमीत राम रहीम से होगी पूछताछ. (फाइल फोटो)

डेरा सच्चा प्रमुख गुरमीत राम रहीम से होगी पूछताछ. (फाइल फोटो)

2015 Sacrilege Case: बुर्ज जवाहर सिंह वाला गुरुद्वारा से गुरु ग्रंथ साहिब की प्रति चोरी, बरगाड़ी और बुर्ज जवाहर सिंह वाला में हाथ से लिखे हुए अपवित्र पोस्टर लागना और बरगाड़ी में पवित्र किताब के फटे हुए पन्ने मिलने से जुड़े तीन मामलों को तब भारतीय जनता पार्टी और शिरोमणि अकाली दल की सरकार ने सीबीआई को सौंप दिए थे. हालांकि, पंजाब सरकार ने सितंबर 2018 में जांच SIT को सौंप दी थी.

अधिक पढ़ें ...

    रोहतक. डेरा सच्चा सौदा (Dera Sacha Sauda) के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह (Gurmeet Ram Rahim Singh) से 6 साल पुराने बेअदबी मामले में आज पंजाब पुलिस का विशेष जांच दल पूछताछ करेगा. रोहतक के सुनारिया जेल में बंद राम रहीम से जवाब हासिल करने के लिए पुलिस का दल रवाना हो चुका है. डेरा प्रमुख पर दो शिष्याओं के साथ दुष्कर्म करने के आरोप हैं, जिसके चलते वह सुनारिया जेल में बंद है. 2015 के बेअदबी मामले में राम रहीम को गुरु ग्रंथ साहिब के स्वरूप चोरी करने के मामले में आरोपी बनाया गया है. बीते महीने पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने पंजाब पुलिस से पूछताछ के लिए कहा था.

    अधिकारियों ने जानकारी दी है कि डेरा प्रमुख से पूछताछ करने जा रही 4 सदस्यीय SIT की अगुवाई आईजी एसपीएस परमार कर रहे हैं. इस विशेष दल में सीनियर एसपी एमएस भुल्लर, डीएसपी लखबीर सिंह और इंस्पेक्टर दलबीर सिंह शामिल हैं. पत्रकारों से बातचीत के दौरान परमार ने बताया, ‘यह जांच प्रक्रिया का हिस्सा है, जिसे हम आगे बढ़ा रहे हैं.’ उन्होंने जानकारी दी है कि SIT ने राम रहीम के लिए सवाल तैयार कर लिए गए हैं.

    यह भी पढ़ें: छेड़छाड़ में स्कूल से दंडित राम रहीम की स्टार बाबा बनने से उम्रकैद तक की कहानी

    बुर्ज जवाहर सिंह वाला गुरुद्वारा से गुरु ग्रंथ साहिब की प्रति चोरी, बरगाड़ी और बुर्ज जवाहर सिंह वाला में हाथ से लिखे हुए अपवित्र पोस्टर लागना और बरगाड़ी में पवित्र किताब के फटे हुए पन्ने मिलने से जुड़े तीन मामलों को तब भारतीय जनता पार्टी और शिरोमणि अकाली दल की सरकार ने सीबीआई को सौंप दिए थे. हालांकि, पंजाब सरकार ने सितंबर 2018 में जांच SIT को दी थी.

    मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, SIT ने अपनी चार्जशीट में दावा किया है कि गुरमीत राम रहीम ने बेअदबी के आदेश दिए थे. कहा गया है कि डेरा प्रमुख ने ये आदेश सिख उपदेशक की तरफ से किए गए अनुयायियों के अपमान का बदला लेने के लिए दिए गए थे. इस मामले में डेरा समिति के तीन सदस्यों हर्ष धुरी, संदीप बरेटा और प्रदीप कलेर के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था, लेकिन वे फरार हैं.

    Tags: 2015 Sacrilege Case, Gurmeet Ram Rahim Singh, Punjab Police, SIT

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर