तमिलनाडु: पार्टनर के साथ रह रही समलैंगिक युवती को पुलिस ने जबरन पकड़ा, पेरेंट्स की शिकायत पर की कार्रवाई

पुलिसकर्मियों ने 22 वर्षीय युवती को उसकी मर्जी के खिलाफ पकड़कर माता-पिता को सौंप दिया. (फोटो- रॉयटर्स)
पुलिसकर्मियों ने 22 वर्षीय युवती को उसकी मर्जी के खिलाफ पकड़कर माता-पिता को सौंप दिया. (फोटो- रॉयटर्स)

कोझिकोड निवासी युवती के माता-पिता बेटी के दूसरी महिला के साथ रिश्ते से नाखुश थे. उन्होंने अक्टूबर में पुलिस में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी. 22 वर्षीय समलैंगिक (Homosexual) युवती ने यह साफ किया है कि वह अपनी मर्जी से पार्टनर के साथ रह रही थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 28, 2020, 11:24 AM IST
  • Share this:
चेन्नई. तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई (Chennai) से LGBTQ समुदाय से जुड़ा एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. यहां शनिवार रात एक महिला को उसकी समलैंगिक (Homosexual) पार्टनर के घर से पुलिस ने जबरन पकड़कर पेरेंट्स को सौंप दिया. 22 वर्षीय युवती के माता-पिता ने पुलिस स्टेशन में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी. पुलिस ने युवती को केरल कोर्ट में पेश किया. गौरतलब है कि इसी तरह का एक और मामला साल 2018 में भी सामने आ चुका है.

अपनी मर्जी से रह रही थी युवती
मामला हैरान कर देने वाला इसलिए भी है क्योंकि कोझिकोड (Kozhikode) में रहने वाली युवती अपनी मर्जी से पार्टनर के साथ पिछले 20 दिनों से रह रही थी. यहां केरल पुलिस के दो सिपाहियों और चेन्नई पुलिस के एक सिपाही ने युवती का पीछा किया और उसे पकड़ लिया. युवती ने यह कदम इसलिए भी उठाया क्योंकि उसके माता-पिता किसी दूसरी महिला के साथ रिश्ते के खिलाफ थे.

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया कि खबर के मुताबिक, सूत्र बताते हैं कि दोनों महिलाओं की दोस्ती सोशल मीडिया (Social Media) प्लेटफॉर्म के जरिए हुई थी. उनके इस रिश्ते को 22 वर्षीय युवती के पेरेंट्स ने कभी मंजूर नहीं किया. इसके बाद युवती अक्टूबर के पहले सप्ताह में अपनी मर्जी से कोझिकोड का घर छोड़कर चेन्नई में पार्टनर के साथ रहने लगी थी.
न्यूज मिनट की एक रिपोर्ट के अनुसार, युवती के माता-पिता ने अक्टूबर की शुरुआत में गुमशुदा होने का मामला दर्ज कराया था. जिस पर एक्शन लेते हुए केरल पुलिस ने मीलों का सफर तय कर युवती को पकड़ा और अदालत में पेश किया. रिपोर्ट के मुताबिक, पूरी कार्रवाई के दौरान पुलिस ने युवती या उसकी पार्टनर को किसी भी तरह की कानूनी मदद नहीं लेने दी. रविवार को अदालत के सामने पेश होने पर युवती ने कहा कि वह चेन्नई लौटने से पहले 10 दिन अपने माता-पिता के घर में गुजारेगी. 2018 में सामने आए एक इसी तरह के मामले में केरल कोर्ट ने महिला के पक्ष में फैसला सुनाया था. ठीक इसी तरह यहां भी महिला को पुलिस ने उसकी पार्टनर के घर से पेरेंट्स की शिकायत के बाद जबरन पकड़ लिया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज