जम्मू-कश्मीर में कोरोना वायरस के 24 नए मामले, संक्रमितों की संख्या हुई 184

जम्मू-कश्मीर में कोरोना वायरस के 24 नए मामले, संक्रमितों की संख्या हुई 184
जम्मू-कश्मीर में 37000 से ज्यादा लोगों को निगरानी में रखा गया है. (सांकेतिक तस्वीर)

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में कोरोना वायरस (Coronavirus) के 24 नए मामलों का पता चला, जिसके बाद संक्रमित व्यक्तियों की कुल संख्या 184 पहुंच गई. राज्य में चार मरीजों की मौत हो चुकी है जबकि छह मरीज इलाज के बाद ठीक हो गए हैं.

  • Share this:
श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) में गुरुवार को कोरोना वायरस (Coronavirus) के 24 नए मामलों का पता चला, जिसके बाद संक्रमित व्यक्तियों की कुल संख्या 184 पहुंच गई. सरकार के प्रवक्ता रोहित कंसल ने बताया कि केंद्र शासित प्रदेश में 184 लोग संक्रमित हैं जिसमें से 152 कश्मीर में और 32 जम्मू में हैं.

कंसल ने बताया, "जम्मू कश्मीर में कोरोना वायरस के 24 नए मामलों का पता चला." उन्होंने बताया कि ये सभी पहले से संक्रमित लोगों के संपर्क में आए थे.

चार मरीजों की हो चुकी है मौत
प्रवक्ता ने बताया केंद्र शासित प्रदेश में मामलों का पता लगाने में वृद्धि आक्रामक परीक्षण का नतीजा है. अधिकारियों ने बताया कि जम्मू- कश्मीर में चार मरीजों की मौत हो चुकी है जबकि छह मरीज इलाज के बाद ठीक हो गए हैं. उन्होंने बताया कि 37000 से ज्यादा लोगों को निगरानी में रखा गया है जिसमें 9200 लोगों को सरकार की ओर से बनाए गए पृथक केंद्रों में रखा गया है या घर में पृथकवास में भेजा गया है.
केंद्र प्रशासित प्रदेश में 43798 लोगों को ऑब्ज़रवेशन में रखा गया है. 8157 लोगों को घर में ही क्वॉरंटाइन में किया गया है. वहीं 478 लोगों को अस्पताल में क्वॉरंटाइन रखा गया है. 174 लोगों को अस्पताल में आईसोलेट किया गया है. राज्य में 2649 लोगों के टेस्ट किए गए हैं जिसमें से 184 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं और 2465 लोग निगेटिव पाए गए हैं. यहां 4 मरीजों की मौत हो गई है जबकि 6 मरीज ठीक हो चुके हैं.



मस्जिदों में नहीं हुई शब-ए-बारात पर नमाज़
कश्मीर की किसी भी प्रमुख मस्जिद में शब-ए-बारात (Shab-e-Baraat) पर रात में नमाज़ नहीं हुई. लोग कोरोना वायरस के मद्देनजर लागू लॉकडाउन (बंद) की वजह से घर में ही रहे है. अधिकारियों ने गुरुवार को बताया कि प्रशासन और मज़हबी संगठनों ने लोगों से जमात (सामूहिक) नमाज़ नहीं पढ़ने, बल्कि घर में ही इबादत करने की अपील की थी.

श्रीनगर के जिलाधिकारी शाहिद इकबाल चौधरी ने शहर में शब-ए-बारात के मौके पर धार्मिक रूप से जमा होने और लोगों की आवाजाही पर रोक लगाने के आदेश जारी किए थे. सीआरपीसी की धारा 144 के तहत जारी आदेश में कहा गया है कि संबंधित अधिकारियों की सिफारिश, क्षेत्र से मिली रिपोर्ट और कोविड-19 की वजह से उपजे स्वास्थ्य संकट को देखते हुए इस मौके पर धार्मिक रूप से जमा होने पर रोक लगाने का फैसला किया गया.

जम्मू-कश्मीर के मुफ्ती-ए-आज़म निसार-उल-इस्लाम ने भी लोगों से शब-ए-बारात पर सामूहिक नमाज़ नहीं पढ़ने की गुजारिश की थी.

तबलीगी जमात के कार्यक्रम में हिस्सा लेने की जानकारी छुपाने वाले दो लोग गिरफ्तार
वहीं दिल्ली के निजामुद्दीन (Nizamuddin) में तबलीगी जमात (Tablighi Jamaat) के धार्मिक सम्मेलन में हिस्सा लेने वाले जम्मू-कश्मीर के उधमपुर (Udhampur) के दो लोगों को अपने यात्रा की जानकारी छुपाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है.

अधिकारियों ने बताया कि रामनगर के चिकित्सा प्रशासन की तरफ से उन्हें यह जानकारी मिली थी कि पृथक रहने से बचने के लिए दो लोगों ने अधिकारियों से अपने यात्रा इतिहास की जानकारी छुपाई. इसके बाद इन दोनों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है. इन दोनों को पृथक किया जाएगा और पृथक वास पूरा होने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी.

ये भी पढ़ें-
COVID-19 से निपटने को तैयार राम नगरी, अभी तक नहीं है एक भी पाजिटिव मरीज: डीएम

कोरोना वायरस: तमिलनाडु में सामने आए 96 नए केस, 84 तबलीगी जमात से जुड़े
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading