लाइव टीवी

तमिलनाडु में बारिश का कहर, 25 लोगों की मौत, राहत शिविर में 1000 लोग

भाषा
Updated: December 2, 2019, 9:25 PM IST
तमिलनाडु में बारिश का कहर, 25 लोगों की मौत, राहत शिविर में 1000 लोग
तमिलनाडु में भारी बारिश से 25 लोगों की मौत.

तमिलनाडु (Tamil Nadu) में भारी बारिश (Heavy Rains) से जनजीवन अस्‍त-व्‍यस्‍त हो गया है. अब तक 25 लोगों की मौत हो चुकी है और लगभग 1000 लोगों को राहत शिविर (Relief Camp) में रखा गया है.

  • Share this:
चेन्नई. तमिलनाडु सरकार (Tamil Nadu Government) ने सोमवार को बताया कि राज्य में 29 नवंबर से शुरू हुई बारिश (Heavy Rains) से जुड़ी घटनाओं में 25 लोगों की मौत हो गई है. इनमें 17 ऐसे लोग शामिल हैं, जिनकी कोयम्बटूर के पास मेट्टुपलयम के नादुर गांव में एक दीवार गिरने से मौत हो गई. राज्य में उत्तर-पूर्व मानसून तेज होने के कारण, बारिश के कहर का खामियाजा भुगत रहे तूतीकोरिन, कुड्डालोर और तिरुनेलवेली जिलों में राहत शिविरों (Relief Camp) में लगभग 1,000 लोगों को रखा गया है.

मुख्‍यमंत्री ने की समीक्षा
मूसलाधार बारिश के कारण चेन्नई के कुछ निचले इलाके और निकटवर्ती चेंगलपेट और कांचीपुरम जिले में बाढ़ की समस्या खड़ी हो गई है. मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने स्थिति का जायजा लेने के लिए उपमुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम और अन्य कैबिनेट मंत्रियों और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की.

दीवार गिरने से 17 लोगों की मौत

के पलानीस्वामी ने जलाशयों की निगरानी के आदेश दिए हैं. जिनमें से कई या तो पूर्ण रूप से भर गए हैं या तेजी से भर रहे हैं. एक आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया है कि 29 नवंबर से एक दिसंबर के बीच बारिश से जुड़ी घटनाओं में आठ लोगों की मौत हो गई. इसके अलावा, सोमवार को कोयंबटूर में एक दीवार ढहने से 17 लोग मारे गए, जिससे मरने वाले की कुल संख्या 25 हो गई है.

विज्ञप्ति में कहा गया है कि सरकार ने मेट्टुपालयम में मारे गए 17 लोगों के परिवारों को चार-चार लाख रुपये सहायता राशि देने की घोषणा की. वहीं पलानीस्वामी ने अन्य मृतकों के परिजनों को भी उचित मुआवजा देने का आदेश दिया.

बारिश से अफरा-तफरी
Loading...

मौसम विभाग ने रविवार को अगले दो दिनों में और बारिश होने का पुर्वानुमान जताया था. आज तमिलनाडु के तिरुवल्लुर, तोतुकुडी और रामनाथपुरम क्षेत्रों में स्कूल और कॉलेजों में छुट्टी थी. मद्रास यूनिवर्सिटी और अन्ना यूनिवर्सिटी में परीक्षाओं को स्थगित कर दिया गया था.

हर तरफ अलर्ट
अरब सागर में दबाव का क्षेत्र बनने के चलते मछुआरों को केप कोमोरिन और लक्षद्वीप क्षेत्र में समुद्र में न जाने की सलाह दी गई है. इस बीच शहर के पुलिस आयुक्त ए के विश्वनाथन ने चेन्नई में स्थिति का जायजा लिया और हालात की समीक्षा की. विश्वनाथन ने कहा कि स्थित को देखते हुए सभी विभागों को अलर्ट रखा गया है.

ये भी पढ़ें: जबरदस्त ठंड की चपेट में उत्तर भारत, हिमाचल और लद्दाख में तापमान शून्य से नीचे

ये भी पढ़ें: राजस्थान में बारिश से बढ़ी ठंड, सूबे में सर्दी से पहली मौत भरतपुर में

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 2, 2019, 9:05 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...