सर्दियों से पहले भारत में घुसने की कोशिश कर सकते हैं 250-300 आतंकी: अधिकारी

15 कोर के जनरल ऑफिसर कमांडिंग लेफ्टिनेंट जनरल बीएस राजू (Photo-ANI)
15 कोर के जनरल ऑफिसर कमांडिंग लेफ्टिनेंट जनरल बीएस राजू (Photo-ANI)

Terrorists Infiltration: बीएस राजू ने आगे कहा कि सर्दियों का मौसम आने से पहले 250-300 आतंकी भारतीय क्षेत्र में घुसने की कोशिश कर सकते हैं. नियंत्रण रेखा पर स्थिति काबू में है. हमारी सीमाओं पर निगरानी का जाल मजबूत है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 26, 2020, 10:22 PM IST
  • Share this:
श्रीनगर. भारतीय सेना (Indian Army) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने सोमवार को जानकारी दी कि सर्दियों से पहले 250-300 आतंकी भारत में घुसने की कोशिश कर सकते हैं. अधिकारी ने आतंक का रास्ता चुनने वाले युवाओं से लौट आने की भी अपील की. 15 कोर के जनरल ऑफिसर कमांडिंग लेफ्टिनेंट जनरल बीएस राजू (General Officer CommandingLt Gen BS Raju)ने सोमवार को श्रीनगर (Srinagar) में कहा कि मैं ये बात साफ कर देना चाहता हूं कि जो भी युवा मिलिटेंसी का रास्ता छोड़ना चाहते हैं उनका स्वागत है. राजू ने कहा कि पिछले कुछ महीनों में तीन आतंकियों ने आत्मसमर्पण किया है. हम मिलिटेंसी छोड़ने के लिए युवाओं को प्रोत्साहित करते हैं.

बीएस राजू ने आगे कहा कि सर्दियों का मौसम आने से पहले 250-300 आतंकी भारतीय क्षेत्र में घुसने की कोशिश कर सकते हैं. नियंत्रण रेखा पर स्थिति काबू में है. हमारी सीमाओं पर निगरानी का जाल मजबूत है.  बता दें इसके पहले विदेश मंत्रालय ने जानकारी दी थी कि पाकिस्तानी सैनिकों ने इस साल जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर बिना किसी उकसावे के 3800 से ज्यादा बार संघर्ष विराम का उल्लंघन किया और ड्रोन के जरिए हथियारों, मादक पदार्थों की तस्करी को बढ़ावा दिया. बता दें अधिकतर मामलों में पाकिस्तान की ओर से घुसपैठ कराने की कोशिश में नियंत्रण रेखा पर गोलीबारी की जाती है.

ये भी पढ़ें- तिरंगे को लेकर दिए बयान से मुसीबत में महबूबा, 3 नेताओं ने दिया PDP से इस्तीफा



लगातार संघर्षविराम का उल्लंघन कर रहा पाकिस्तान
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने बताया था कि पाकिस्तानी सुरक्षा बलों ने लगातार बिना किसी उकसावे के गोलीबारी कर संघर्षविराम समझौते का उल्लंघन किया और असैन्य इलाकों को भी निशाना बनाया. इसके साथ ही उसने एलओसी पार से आतंकियों को घुसपैठ कराने का भी प्रयास किया.

उन्होंने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘यह दोनों पक्षों के बीच 2003 के संघर्षविराम सहमति का सरासर उल्लंघन है. इस साल अब तक पाकिस्तानी बलों ने बिना किसी उकसावे के 3800 से ज्यादा बार संघर्षविराम का उल्लंघन किया.’’

ये भी पढ़ें- सर्वाधिक प्रभावित 10 राज्यों में शामिल बंगाल लेकिन अब भी नहीं आया कोरोना का पीक

ड्रोन के जरिए हथियार, गोला-बारूद गिराने की भी कोशिश
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि एलओसी के पास के इलाके में ड्रोन के जरिए हथियार और गोला-बारूद भी गिराने के प्रयास किए गए. उन्होंने कहा, ‘‘ पाकिस्तान ने ड्रोन के जरिए अंतरराष्ट्रीय सीमा से हथियारों और मादक पदार्थ की तस्करी के भी प्रयास किए. ’’ श्रीवास्तव ने कहा कि डीजीएमओ (सैन्य संचालन महानिदेशक) स्तरीय वार्ता में पाकिस्तान के समक्ष लगातार यह मुद्दा उठाया जाता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज