अपना शहर चुनें

States

Kisan Tractor Rally को लेकर शाम 4.30 बजे दिल्ली पुलिस करेगी अहम प्रेस कॉन्फ्रेंस

किसान आंदोलन के तहत 26 जनवरी को किसानों द्वारा ट्रैक्‍टर मार्च निकाले जाने का प्‍लान है...
किसान आंदोलन के तहत 26 जनवरी को किसानों द्वारा ट्रैक्‍टर मार्च निकाले जाने का प्‍लान है...

दिल्ली पुलिस के स्पेशल कमिश्नर (इंटेलिजेंस) दीपेंद्र पाठक शाम 4:30 बजे एक अहम प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाले हैं. दिल्ली पुलिस प्रेस कॉन्फ्रेंस में ही किसान ट्रैक्टर रैली को लेकर अपनी स्थिति स्पष्ट करेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 24, 2021, 3:46 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कृषि कानूनों को रद्द कराने की मांग पर अड़े किसान दिल्ली में गणतंत्र दिवस (Republic Day) यानी 26 जनवरी को किसान ट्रैक्टर रैली (Farmer's Tractor Rally) निकालेंगे. किसान संगठनों की ओर से कुछ रूट पर करीब 100 किलोमीटर का दायरा इसके लिए तय किया गया है. इसको लेकर दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की ओर से शनिवार को कुछ सहमति बनने की चर्चा भी जोर शोर से हुई. अभी तक इस पर कोई आधिकारिक बयान दिल्ली पुलिस की तरफ से नहीं आया है. लेकिन इस पर अब दिल्ली पुलिस के स्पेशल कमिश्नर (इंटेलिजेंस) दीपेंद्र पाठक शाम 4:30 बजे एक अहम प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाले हैं. दिल्ली पुलिस प्रेस कॉन्फ्रेंस में ही किसान ट्रैक्टर रैली को लेकर अपनी स्थिति स्पष्ट करेगी.

उधर, ट्रैक्टर रैली निकालने को लेकर अभी तक दिल्ली पुलिस की ओर से कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं होने के बाद भी किसान संगठन करीब 100 किलोमीटर के दायरे में इसको निकालने की अपनी तैयारी में जुटे हैं. बताया जाता है कि यह जहां से चलेगी, वहीं आकर खत्म होगी. किसान संगठनों की ओर से कुछ रूट तय किए गए हैं जिसमें सिंघु बॉर्डर, टिकरी बॉर्डर, गाजीपुर बॉर्डर (यूपी गेट), शाहजहां बॉर्डर और पलवल तय किए गए हैं. परेड के यह सभी रूट अलग-अलग तय किए गए हैं.

इस बीच देखा जाए तो केंद्र सरकार और किसान संगठनों के बीच कृषि कानूनों को रद्द करने को लेकर करीब दर्जनभर वार्ता हो चुकी हैं. लेकिन अभी तक इस पर कोई सहमति नहीं बन सकी है. वहीं, किसान संगठन भी अपने रुख को लेकर लगातार प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए सरकार और मीडिया को अवगत कराते रहे हैं. किसान रैली को लेकर किसान संगठन जरूर दिल्ली पुलिस के बीच बने गतिरोध को समाप्त होने का दावा कर रहे हों, लेकिन अभी तक दिल्ली पुलिस की ओर से इस बाबत कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है.



यह पूरी स्थिति दिल्ली पुलिस की ओर से की जाने वाली प्रेस कॉन्फ्रेंस में ही स्पष्ट होने की संभावना जताई जा रही है. बताया जाता है कि रैली के रूटों को लेकर किसान संगठनों ने लिखित में दिल्ली पुलिस को पत्र सौंपे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज