स्पूतनिक वैक्सीन के करीब 28 लाख डोज आज पहुंचेंगे भारत, अगले महीने 50 लाख

स्पूतनिक की उपलब्धता को तेजी से बढ़ाया जा रहा है.. (कॉन्सेप्ट इमेज)

जून महीने में स्पूतनिक-V (Sputnik-V) के 50 लाख डोज की सप्लाई की जाएगी. अगले दो महीने के भीतर 1.8 करोड़ डोज की सप्लाई की जाएगी. माना जा रहा है कि स्पूतनिक की बड़ी सप्लाई होने के साथ ही देश में वैक्सीनेशन कार्यक्रम तेज रफ्तार पकड़ेगा. अभी इसके 21 लाख डोज की सप्लाई भारत को की जा चुकी है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. वैक्सीनेशन कार्यक्रम (Vaccination Drive) में तेजी लाने के प्रयासों के मद्देनजर आज रात रूसी वक्सीन स्पूतनिक-V (Sputnik-V) के करीब 28 लाख डोज पहुंच जाएंगे. साथ ही जून महीने में इस वैक्सीन के 50 लाख डोज की सप्लाई की जाएगी. अगले दो महीने के भीतर 1.8 करोड़ डोज की सप्लाई की जाएगी. माना जा रहा है कि स्पूतनिक की बड़ी सप्लाई होने के साथ ही देश में वैक्सीनेशन कार्यक्रम तेज रफ्तार पकड़ेगा. अब तक इसके 21 लाख डोज की सप्लाई भारत को की जा चुकी है.

    इस बीच खबर है कि केंद्र सरकार अब हर रोज एक करोड़ लोगों को वैक्सीन लगाने की योजना बना रही है. सूत्रों के मुताबिक जुलाई के दूसरे या तीसरे हफ्ते से ये संभव है. फिलहाल इस योजना को अमल में लाने के लिए सरकार हर महीने 30 से 32 करोड़ वैक्सीन के प्रोडक्शन पर ध्यान दे रही है.

    कहा जा रहा है कि आने वाले महीनों में सरकार को कोविशिल्ड और कोवैक्सीन की 25 करोड़ डोज मिल सकती है. इसके अलावा सरकार की नज़र स्पूतनिक वी और दूसरे वैक्सीन पर भी है. उम्मीद की जा रही है कि आने वाले समय में कुछ और विदेशी वैक्सीन को भी सरकार हरी झंडी दे सकती है. योजना है कि हर टीका केंद्र पर प्रतिदिन 100 से 150 लोगों को टीका लगाया जाए.

    दिसंबर तक 18 से अधिक उम्र के सभी लोगों के वैक्सीनेशन का दावा
    केंद्र सरकार ने शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में एक बार फिर दावा किया है कि दिसंबर महीने तक देश में 18 से अधिक उम्र के सभी लोगों का टीकाकरण कर दिया जाएगा. बीते शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने भी कहा था कि दिसंबर महीने तक देश में कोरोना वैक्सीनेशन का काम पूरा कर लिया जाएगा. उन्होंने कहा था, 'वैक्सीन के बारे में पिछले सप्ताह स्वास्थ्य विभाग ने विस्तृत जानकारी दी थी.' विभाग की तरफ से बताया गया था कि दिसंबर तक 216 करोड़ वैक्सीन डोज मौजूद होंगे. यानी 108 करोड़ लोगों के वैक्सीनेशन का पूरा खाका पेश किया गया था. विभाग ने वैक्सीन के नाम भी बताए थे. कोविशील्ड, कोवैक्सीन, नोवावैक्सीन, जेनोवा और स्पूतनिक-V का जिक्र किया गया था.