पश्चिम बंगाल में नंदीग्राम का महामुकाबला, असम में 39 सीटों पर होगी वोटिंग

दोनों राज्यों की 69 सीटों पर वोटिंग होगी. (तस्वीर-ap)

दोनों राज्यों की 69 सीटों पर वोटिंग होगी. (तस्वीर-ap)

पश्चिम बंगाल (West Bengal) के साथ आज उत्तर-पूर्व के सबसे बड़े राज्य असम (Assam) में भी दूसरे चरण की वोटिंग (2nd Phase Voting) होगी. पश्चिम बंगाल में 30 तो असम में 39 सीटों पर आज वोटिंग की जाएगी. पश्चिम बंगाल की 30 विधानसभा सीटों पर 171 प्रत्याशी किस्मत आजमा रहे हैं जबकि असम की 39 सीटों पर 345 उम्मीदवार मैदान में हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. लंबे और तीखी बयानबाजी वाले चुनाव प्रचार (Election Campaign) के बाद अब पश्चिम बंगाल के नंदीग्राम (Nandigram) के चुनावी महामुकाबले का दिन आ गया है. आज पश्चिम बंगाल में दूसरे चरण के चुनाव के लिए वोटिंग की जाएगी. नंदीग्राम की सीट भी इनमें से एक है. इस सीट पर सिर्फ बंगाल ही नहीं पूरे देश की निगाहें लगी हुई हैं. साथ ही आज उत्तर-पूर्व के सबसे बड़े राज्य असम (Assam) में भी दूसरे चरण की वोटिंग (2nd Phase Voting) होगी. पश्चिम बंगाल में 30 तो असम में 39 सीटों पर आज वोटिंग की जाएगी. पश्चिम बंगाल की 30 विधानसभा सीटों पर 171 प्रत्याशी किस्मत आजमा रहे हैं जबकि असम की 39 सीटों पर 345 उम्मीदवार मैदान में है.

पश्चिम बंगाल में इस चरण में नंदीग्राम में भी वोटिंग होगी. राज्य के पूर्वी मिदनापुर जिले में पड़ने वाला यह इलाका शुभेंदू अधिकारी और उनके परिवार का गढ़ कहा जाता है. चुनाव प्रचार के दौरान ममता और शुभेंदू के बीच जुबानी जंग भी जमकर हुई है. आज दोनों ही नेताओं के प्रभाव का टेस्ट होना है. दरअसल शुभेंदु अधिकारी और उनके परिवार का पूर्वी और पश्चिमी मिदनापुर सहित पहले-दूसरे चरण की 40-45 सीटों पर वर्चस्व है. बांकुड़ा, पुरुलिया, झाड़ग्राम और बीरभूम के अलावा अल्पसंख्यक बहुल मुर्शिदाबाद में परिवार का जबरदस्त प्रभाव है. कभी ममता के बेहद खास रहे अधिकारी परिवार के असर का फायदा पहले टीएमसी को मिलता था जो अब बीजेपी को मिलने की उम्मीद है. इस सीट पर खुद उतरकर ममता ने सारे गणित को बदलकर रख दिया है. अब अपने गढ़ में शुभेंदू की कड़ी परीक्षा है.

चार जिलों की कुल 30 विधानसभा सीटों पर आज चुनावी लड़ाई

बंगाल में चार जिलों की कुल 30 विधानसभा सीटों पर आज चुनावी लड़ाई हो रही है, इनमें नौ सीट पूर्वी मेदिनापुर जिले की हैं जबकि बांकुड़ा की 8 सीट, पश्चिमी मेदिनापुर की 9 सीट और 24 दक्षिण परगना की 4 सीटें हैं. बीते विधानसभा चुनाव में तो तृणमूल ने यहां एकतरफा जीत हासिल की थी. इस बार बीजेपी ने पूरा जोर लगाया हुआ है.
असम में बीजेपी पर 2016 वाली सफलता दोहराने का दबाव

वहीं असम में दूसरे चरण में ज्यादातर सीटें बराक घाटी, मध्य असम और कुछ सीटें निचले असम की हैं. पहले चरण में ऊपरी असम के तकरीबन सभी इलाकों में वोटिंग हो चुकी है. पहले चरण में 47 सीटों पर वोटिंग हुई थी. आज 39 सीटों पर वोटिंग होगी. बीते विधानसभा चुनावों में इन 39 सीटों में से बीजेपी को 22, कांग्रेस को 6, AIUDF को 5, असम गण परिषद को 2 और बीपीएफ को 4 सीटें मिली थीं. बीते चुनाव में बीपीएफ ने बीजेपी के साथ गठबंधन किया था. लेकिन इस बार वो बीजेपी के बजाए कांग्रेस के साथ है. बीजेपी ने यूपीपीएल के तौर पर नया साथी चुना है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज