भारत-US में 3 अरब डॉलर की डिफेंस डील पर सहमति, ट्रंप बोले-आतंक पर लगाम लगाए पाक

भारत-अमेरिका के बीच 3 समझौतों पर हुए हस्ताक्षर

डोनाल्‍ड ट्रंप की यात्रा के दूसरे दिन दोनों देशों ने 3 समझौता पत्रों पर हस्ताक्षर किये, जिसमें से एक समझौता ऊर्जा क्षेत्र से संबंधित है, इसके अलावा तीन अरब डॉलर के रक्षा समझौते को भी अंतिम रूप दिया.

  • Share this:
    नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (US President Donald Trump) के बीच द्विपक्षीय संबंधों सहित विविध विषयों पर व्यापक वार्ता के बाद दोनों देशों ने मंगलवार को तीन समझौता पत्रों पर हस्ताक्षर किए. इसमें तीन अरब डॉलर के रक्षा समझौतों को भी अंतिम रूप दिया गया. विदेश मंत्रालय की विज्ञप्ति के अनुसार, दोनों देशों ने मानसिक स्वास्थ्य के क्षेत्र में एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये.

    इसके अलावा चिकित्सा उत्पादों की सुरक्षा के विषय पर भी सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किये गए. इसमें भारत की ओर से सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गेनाइजेशन तथा अमेरिका का फूड एंड ड्रग्स एडमिनिस्ट्रेशन शीर्ष संस्था है. भारत और अमेरिका के बीच एक और सहयोग पत्र पर भी हस्ताक्षर किये गए जो इंडियन ऑयल कारपोरेशन व एक्जान मोबिल इंडिया एलएनजी लिमिटेड तथा चार्ट इंडस्ट्रीज आईएनसी के बीच है.

    पाक पर आतंकवाद खत्‍म करने के लिए बनाएंगे दबाव : ट्रंप
    अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने भी साझा बयान में कहा कि तीन अरब डॉलर से ज्‍यादा के रक्षा समझौते पर सहमति बनी है. जिसमें रोमियो हेलीकॉप्‍टर भी शामिल है. जबकि एक समझौता एनर्जी क्षेत्र से जुड़ा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ सामरिक मुद्दों, कारोबार, आतंकवाद से मुकाबला, ऊर्जा सहित विभिन्न विषयों पर व्यापक चर्चा के बाद ट्रंप ने संयुक्त संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि दोनों देश अपने नागरिकों को कट्टरपंथी इस्लामी आतंकवाद से सुरक्षा प्रदान करने को प्रतिबद्ध हैं. अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, 'इस प्रयास में अमेरिका पाकिस्तान के साथ उसकी धरती से परिचालित होने वाले आतंकवादियों से मुकाबला करने में सार्थक रूप से काम कर रहा है.'

    'भारत अमेरिका का संबंध, 21वीं सदी का सबसे महत्‍वपूर्ण गठजोड़'
    प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि राष्ट्रपति ट्रंप का ऐतिहासिक और भव्य स्वागत हमेशा याद रखा जाएगा. उन्होंने कहा कि अमेरिका और भारत के संबंध सिर्फ दो सरकारों के बीच नहीं हैं, बल्कि लोक केंद्रित हैं. उन्होंने कहा कि यह संबंध, 21वीं सदी का सबसे महत्वपूर्ण गठजोड़ है. राष्ट्रपति ट्रंप ने मादक पदार्थ और इससे जुड़ी समस्याओं से लड़ाई को प्राथमिकता दी है.

    दोनों देशों में हुई इन मुद्दों पर चर्चा
    1. तीन अरब डॉलर के रक्षा समझौतों को अंतिम रूप दिया.
    2. मादक पदार्थो की तस्करी, मादक पदार्थ से जुड़े आतंकवाद और संगठित अपराध जैसी गम्भीर समस्याओं के बारे में एक नए तंत्र पर भी सहमति बनी.
    3. कट्टरपंथी इस्लामी आतंकवाद से निपटने में सहयोग करने को सहमत हुए.
    4. तेल और गैस के लिए अमेरिका भारत का एक बहुत महत्वपूर्ण स्त्रोत है. उद्योग 4.0 और 21वीं शताब्दी की अन्य उभरती प्रौद्योगिकी पर भी भारत अमेरिका गठजोड़, नवोन्मेष और उद्यमिता के नए मुक़ाम स्थापित करने जा रहा है.
    5. भारतीय पेशेवरों की प्रतिभा ने अमेरिकी कंपनियों के प्रौद्योगिकी नेतृत्व को मजबूत किया है.
    6. वैश्विक स्तर पर भारत और अमेरिका का सहयोग हमारे समान लोकतांत्रिक मूल्यों और उद्देश्यों पर आधारित है.
    7. हिंद प्रशांत क्षेत्र में नियम आधारित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था के लिए अमेरिका का सहयोग विशेष महत्व रखता है.

    प्रधानमंत्री मोदी ने मीडिया से कहा, 'आतंकवाद के समर्थकों को जिम्मेदार ठहराने के लिए आज हमने अपने प्रयासों को और आगे बढ़ाने का निश्चय किया है. आज राष्ट्रपति ट्रंप और मैंने हमारे संबंधों को समग्र वैश्विक सामरिक गठजोड़ के स्तर पर ले जाने का निर्णय लिया है. कुछ ही समय पहले स्थापित हमारा सामरिक ऊर्जा गठजोड़ सुदृढ़ होता जा रहा है और इस क्षेत्र में आपसी निवेश बढ़ा है.'

    ट्रंप ने बताया यात्रा को अविस्मरणीय
    राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि उनके लिए यह यात्रा अविस्मरणीय, असाधारण और सार्थक रही. भारत में पिछले दो दिन शानदार रहे, विशेष तौर पर मोटेरा स्टेडियम का कार्यक्रम. हमने तीन अरब डॉलर के रक्षा समझौतों को अंतिम रूप दिया. हमने 5जी दूरसंचार प्रौद्योगिकी, हिंद-प्रशांत में स्थिति पर भी चर्चा की. ट्रंप ने मीडिया के सामने मोदी से कहा, 'यह मेरे लिए बड़े सम्मान की बात थी. स्टेडियम में करीब सवा लाख लोग थे, मैं समझता हूं कि वे मुझसे अधिक आपके लिए थे. जब भी मैं आपका नाम लेता था, लोगों की हर्षध्वनि सुनाई देती... लोग आपको बेहद पसंद करते हैं.'

    प्रधानमंत्री मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति का भारत आने के लिए समय निकालने पर उनका आभार व्यक्त किया और उन्हें धन्यवाद दिया. उन्होंने कहा कि भारत और अमेरिका की इस विशेष मित्रता की सबसे महत्वपूर्ण नींव हमारे लोगों से लोगों के बीच संबंध है. चाहे वो पेशेवर हों या छात्र हो, अमेरिका में भारतीय समुदाय का इसमें सबसे बड़ा योगदान रहा है.

    ये भी पढ़ें: अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा- हेलिकॉप्टर समझौते से बढ़ेगी भारत की ताकत

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.