खुलासा: भारतीय सेना को निशाना बनाना चाहती थी PAK आर्मी, POK में मौजूद हैं जैश के तीन ऑपरेटिव

रिपोर्ट्स के अनुसार पीओके के नेजापीर सेक्टर में मौजूद लॉन्च पैड पर सभी मौजूद हैं.

News18Hindi
Updated: August 3, 2019, 9:01 PM IST
खुलासा: भारतीय सेना को निशाना बनाना चाहती थी PAK आर्मी, POK में मौजूद हैं जैश के तीन ऑपरेटिव
रिपोर्ट्स के अनुसार पीओके के नेजापीर सेक्टर में मौजूद लॉन्च पैड पर सभी मौजूद हैं.
News18Hindi
Updated: August 3, 2019, 9:01 PM IST
जम्मू और कश्मीर में होने वाली अमरनाथ यात्रा को सरकार ने शुक्रवार को रद्द कर दिया. सरकार की ओर से कहा गया कि ऐसा इसलिए किया गया क्योंकि यात्रा के दौरान आतंकी हमले की आशंका थी. इतना ही नहीं पर्यटकों को भी घाटी छोड़ने के लिए कहा गया है. वहीं हालिया रिपोर्ट्स के अनुसार पाकिस्तान की योजना थी कि वह कश्मीर घाटी की फॉरवर्ड पोस्ट्स पर भारतीय सेना पर हमला करे.

रिपोर्ट्स के अनुसार पाकिस्तान की योजना थी कि वह घाटी की शेर, बारूद, शक्ति और कईयां की पोस्ट पर मौजूद भारतीय जवानों पर अपनी बैट यानी बॉर्डर एक्शन टीम से हमला कराए.

हालिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि पाक अधिकृत कश्मीर में जैश-ए-मोहम्मद के तीन ऑपरेटिव्स हैं. वे इस इलाके में पाकिस्तान की स्पेशल सर्विस ग्रुप को ऑपरेशनल मदद करने के लिए मौजूद हैं. रिपोर्ट्स के अनुसार, पीओके के नेजापीर सेक्टर में लॉन्च पैड पर सभी मौजूद हैं.

पाक के बैट एक्‍शन को सेना ने किया नाकाम

बता दें कि भारतीय सेना ने 31 जुलाई और 1 अगस्त की रात को पाकिस्तान के बैट एक्शन की कोशिश को नाकाम किया था. इस दौरान केरन सेक्‍टर में चार पाकिस्‍तानियों को मार गिराया गया. ऐसा बताया जा रहा है कि उन चार पाकिस्‍तानियों में एसएसजी के कमांडों के फिर आतंकी भी हो सकते हैं. उनके शव भारतीय सेना के पास हैं. सेना उनकी बॉडी को रिकवर कराने की कोशिश कर रही है, लेकिन, पाकिस्‍तानी सेना लगातार फायरिंग करके बाधा डाल रही है.

यह भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर: पूर्व सदरे रियासत मौजूदा हालात पर बिफड़े, ‘मेरे पूर्वजों ने इस रियासत को बनाया है’

इब्राहिम अजहर पीओके में फिर से वापस आ गया
Loading...

इंटेलिजेंस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, जेएम प्रमुख मसूद अजहर का भाई इब्राहिम अजहर पीओके में फिर से वापस आ गया और उसे प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन के संचालन की देखरेख करने का काम सौंपा गया है.



जेएमएम ऑपरेटिव की उपस्थिति ने चेतावनी दी है कि एक बड़ा आतंकवादी हमला हो सकता था, जिसके परिणामस्वरूप कश्मीर घाटी में भारतीय सैनिकों की संख्या बढ़ा दी गई थी.

 

15 उच्च प्रशिक्षित जेएम कैडरों का एक समूह पहुंचा!
पीओके में इब्राहिम अजहर की मौजूदगी की रिपोर्ट में आगे यह पुष्टि की गई कि प्रशिक्षण शिविर खैबर पख्तूनख्वा का जमरूद इलाका से अपना 'अस्करी' पूरा करने के बाद 15 उच्च प्रशिक्षित जेएम कैडरों का एक समूह मरकज, सानन बिन सलमा, तरनब फार्म, पेशावर और खैबर पख्तूनख्वा के शिविरों में पहुंच गए हैं.

यह भी पढ़ें:  भारतीय सेना की बड़ी कार्रवाई, POK में 30 Km अंदर मौजूद आतंकी ठिकाने नष्ट किए: सूत्र

'अस्करी' प्रशिक्षण JeM के मौलिक 'साहित्य और हथियार' पाठ्यक्रम का हिस्सा है जो अपने कैडरों को सिखाता है. ऐसा माना जाता है कि इन सभी 15 आतंकवादियों को जम्मू और कश्मीर में घुसपैठ के लिए तैयार किया जा रहा है.
First published: August 3, 2019, 6:24 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...