महाराष्ट्र से पैदल यूपी आ रहे तीन मजदूरों की थकान और गर्मी से रास्ते में हुई मौत

महाराष्ट्र से पैदल यूपी आ रहे तीन मजदूरों की थकान और गर्मी से रास्ते में हुई मौत
देश में कोरोना वायरस मामलों का आंकड़ा 62,939 हो गया है. इनमें 41472 एक्टिव केस हैं.

लॉकडाउन (Lockdown) के तीसरे चरण में सरकार ने प्रवासियों (Migrant Laborer) को अपने अपने गृह राज्यों में जाने की इजाजत दे दी है.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण को दूर करने के लिए देश में पिछले 24 मार्च से लॉकडाउन (Lockdown) चल रहा है. लॉकडाउन के तीसरे चरण में सरकार ने प्रवासियों (Migrant Laborer) को अपने अपने गृह राज्यों में जाने की इजाजत दे दी है. हालांकि ज्यादातर प्रवासियों को कागजों के आभाव में ट्रेन से अपने राज्य में आने का मौका नहीं मिल पा रहा है. यही कारण है कि प्रवासी मजदूर अभी भी पैदल या ​फिर साइकिल से अपने राज्यों के लिए निकल रहे हैं. ऐसे में कड़ी धूप में पैदल या साइकिल से हजारों मील का सफर तय करना उनके लिए जिंदगी का आखिर सफर बन रहा है. ऐसा ही एक मामला मध्यप्रदेश के बड़वानी जिले में सामने आया है. जहां पर महाराष्ट्र से उत्तर प्रदेश पैदल जा रहे तीन मजदूरों की रास्ते में ही मौत हो गई.

ये तीनों मजदूर उन हजारों लोगों में से एक हैं जो लॉकडाउन के दौरान जल्द से जल्द अपने घर पहुंचना चाहते हैं. बताया जाता है कि ये तीनों पिछले हफ्ते पैदल घर के लिए निकले थे. डॉक्टरों ने शुरुआती जांच के बाद बताया कि गर्मी में पैदल चलने और थकान की वजह से उनके अंदर पानी की कमी हो गई और उनकी मौत हो गई. हालांकि अभी इन तीनों मजदूरों के शवों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आनी बाकी है.

बताया जाता है मृतकों की पहचान प्रयागराज जिले के छुड़िया गांव के निवासी लल्लूराम (55), सिद्धार्थ नगर निवासी प्रेम बहादुर (50) और फतेहपुर जिले के गिरजा गांव के निवासी अनीस अहमद (42) के रूप में हुई है. सेधवा पुलसि के थाना प्रभारी डी एस परिहार ने बताया कि ये लोग जब मध्यप्रदेश-महाराष्ट्र सीमा पर स्थित सेंधवा के पास पहुंचे तभी उनका स्वास्थ्य बिगड़ने लगा था. उन्होंने बताया कि ये मजदूर महाराष्ट्र के विभिन्न शहरों से होते हुए यहां तक पहुंचे थे.



इसे भी पढ़ें : - प्रवासी मजदूरों को लेकर सूरत से प्रयागराज आ रही ट्रेन के 20 डिब्बे पीछे छूटे


गर्मी में अधिक पैदल चलने की वजह से थक गए थे मजदूर
मजदूरों के साथियों ने बताया कि उनकी हालत बिगड़ने पर तीनों को पुलिस की मदद से अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां डॉक्टरों ने तीनों को मृत घोषित कर दिया. डॉक्टरों की प्रारंभिक जांच के मुताबिक गर्मी में अधिक पैदल चलने की वजह से तीनों काफी थक गए थे और इनके शरीर में पानी बिल्कुल खत्म हो गया था.इसके कारण इन लोगों को दिल का दौरा पड़ा और तीनों की मौत हो गई. हालांकि अभी पोस्टपार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारण की सही जानकारी हासिल हो सकेगी.

इसे भी पढ़ें : -
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज