Home /News /nation /

जेएनयू हिंसा में शामिल तीन कथित ABVP कार्यकर्ता फरार, कल विश्वविद्यालय जाएगी फॉरेंसिक टीम

जेएनयू हिंसा में शामिल तीन कथित ABVP कार्यकर्ता फरार, कल विश्वविद्यालय जाएगी फॉरेंसिक टीम

जेएनयू में 5 जनवरी को नकाबपोश लोगों ने हिंसा की थी जिसमें कई छात्र और शिक्षक घायल हो गए थे.

जेएनयू में 5 जनवरी को नकाबपोश लोगों ने हिंसा की थी जिसमें कई छात्र और शिक्षक घायल हो गए थे.

जेएनयू हिंसा मामले (JNU Violence Case) में शामिल कथित तौर पर एबीवीपी (ABVP) से जुड़े 3 संदिग्ध- कोमल शर्मा, रोहित शाह और अक्षत अवस्थी फिलहाल फरार हैं.

    नई दिल्ली. दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की स्पेशल इंवेस्टिगेशन टीम ने जेएनयू (JNU) में हुई छात्रों और शिक्षकों के साथ हुई हिंसा के एक वीडियो में दिख रही मास्क पहने और हाथ में छड़ी पकड़े हुई लड़की की पहचान कर ली है. वीडियो में जो महिला चेक शर्ट पहने और नीले स्कार्फ से अपना मुंह छिपाए हुए दिखाई दे रही है, वह दिल्ली यूनिवर्सिटी की छात्रा है. पुलिस का कहना है कि हालांकि अभी उसका नाम सामने नहीं आया है.

    वहीं न्यूज़ एजेंसी एएनआई ने दिल्ली पुलिस के हवाले से जानकारी दी है कि जेएनयू हिंसा मामले (JNU Violence Case) में शामिल कथित तौर पर एबीवीपी (ABVP) से जुड़े 3 संदिग्ध- कोमल शर्मा, रोहित शाह और अक्षत अवस्थी फिलहाल फरार हैं. फॉरेंसिक की टीम का पूरा दिन सर्वर से सीसीटीवी फुटेज प्राप्त करने में बीत गया है, एफएसएल टीम बुधवार को फिर जाएगी.

    लड़की को जारी किया जाएगा नोटिस
    जेएनयू के साबरमती हॉस्टल के अंदर दो अन्य लड़कों के साथ नकाबपोश महिला को एक छड़ी पकड़े और धमकी देते हुए देखा गया. हिंसा के बाद उनकी तस्वीरें वामपंथी संगठनों में खूब शेयर की गईं जिसके बाद कई लोगों ने उनकी पहचान एबीवीपी की सदस्य के रूप में की. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक महिला को जल्द ही जेएनयू हिंसा में दिल्ली पुलिस की जांच में शामिल होने के लिए नोटिस दिया जाएगा.

    शुक्रवार को क्राइम ब्रांच के डीसीपी और एसआईटी के इंचार्ज जॉय तिर्के ने हिंसा में शामिल 8 संदिग्धों के नामों का खुलासा किया था. इस आठ में से छह लेफ्ट संगठनों के छात्र थे वहीं दो एबीवीपी के छात्र बताए जा रहे थे हालांकि पुलिस ने इस बात का खुलासा नहीं किया था.

    दिल्ली हाईकोर्ट ने जारी किए ये निर्देश
    दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi Highcourt) ने वॉट्सऐप (Whatsapp) और गूगल (Google) को जेएनयू हमले के संबंध में पुलिस द्वारा मांगी गई जानकारी उनकी अपनी आंतरिक नीतियों के मुताबिक संरक्षित रखने और उपलब्ध करवाने का मंगलवार को निर्देश दिया.

    न्यायमूर्ति ब्रिजेश सेठी ने पुलिस से कहा कि वह गवाहों को जल्द से जल्द तलब करे और उन दो वॉट्सऐप समूहों के सदस्यों के फोन जब्त करे जिन पर पांच जनवरी को जेएनयू में हुई हिंसा का समन्वय किया गया था.

    अदालत ने जेएनयू प्रशासन और परिसर के भीतर स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की शाखा को निर्देश जारी किए और कहा कि पुलिस द्वारा मांग गए हमले के सीसीटीवी फुटेज वह संरक्षित रखें और जल्द से जल्द उपलब्ध करवाएं.

    (भाषा के इनपुट के साथ)


    ये भी पढ़ें-

    JNU हिंसा मामलाः जब्त होंगे वाट्सएप ग्रुप से जुड़े लोगों के फोन

    Tags: Akhil Bharatiya Vidyarthi Parishad (ABVP), Jnu, JNU violence, Left

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर