पाकिस्तान से गुजरात लाई जा रही थी 300 करोड़ की ड्रग्स, हिरासत में लिए गए 8 लोग

कोस्ट गार्ड को बड़ी सफलता हाथ लगी है. (प्रतीकात्‍मक फोटो)

कोस्ट गार्ड को बड़ी सफलता हाथ लगी है. (प्रतीकात्‍मक फोटो)

भारतीय कोस्ट गार्ड (Indian Coast Guard) और एटीएस गुजरात (ATS Gujarat) ने जाखू मे अंतरराष्ट्रीय समुद्री सीमा के पास भारतीय के इलाके में एक साझा ऑपरेशन चलाकर एक पाकिस्तानी मछली पकड़ने वाली नाव को कब्जे में लिया जिससे 30 किलो हेरोइन बरामद की गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 15, 2021, 5:08 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पाकिस्तान (Pakistan) के माली हालात ऐसी हो गई है कि वो दाने-दाने को मोहताज है लेकिन आंतक (Terror) के खिलाफ नीति में कोई बदलाव नहीं आया है. पाकिस्तान भले ही पिछले एक महीने से ज्यादा समय से एलओसी पर सीज फायर (Ceasefire) का पालन कर रहा हो लेकिन घाटी में आतंकियों को ड्रग्स (Drugs) के जरिए पैसा पहुंचाने की कोशिश तेज हो रही है. वहीं समुद्र रास्ते में ड्रग की बड़ी खेप की तस्करी को भी अंजाम देने में जुटा है. इसी तरह की कोशिश को भारतीय तट रक्षक और गुजरात एटीएस ने नाकाम कर दिया है.

भारतीय कोस्ट गार्ड और एटीएस गुजरात ने जाखू मे अंतरराष्ट्रीय समुद्री सीमा के पास भारतीय के इलाके में एक साझा ऑपरेशन चलाकर एक पाकिस्तानी मछली पकड़ने वाली नाव को कब्जे में लिया जिससे 30 किलो हेरोइन बरामद की गई.13 अप्रैल को कोस्ट गार्ड को भारत पाकिस्तान समुद्री सीमा के पास पाकिस्तानी नाव से ड्रग्स की तस्करी की खबर मिली थी. खबर मिलते ही कोस्ट गार्ड ने गुजरात एटीएस के साथ मिलकर ऑपरेशन शुरू किया और 14-15 अप्रैल की रात को भारतीय समुद्री इलाके में पाकिस्तानी बोट दिखाई दी.

कीमत 300 करोड़ रुपये से ज्यादा

नाव को हिरासत में लेने के बाद जब छानबीन की गई तो नाव से एक-एक किलो के 30 पैकेट हेरोइन के बरामद किए गए. इसकी कीमत 300 करोड़ रुपये से ज्यादा है. ये ड्रग्स पाकिस्तान से गुजरात में उतारी जानी थी. इस ऑपरेशन में पाकिस्तानी नाव PFBNUH में सवार 8 लोगों को भी हिरासत में लिया गया है. कोस्ट गार्ड का नार्को टेरेरिजम के खिलाफ ऑपरेशन जारी है.
5200 करोड़ रुपये से ज्यादा की ड्रग्स पकड़ी जा चुकी है

18 मार्च को ही लक्षद्वीप के मिनिकॉय द्वीप के पास एक ऑपरेशन में श्रीलंका की मछली पकड़ने वाली नाव से पाकिस्तान से लाई जा रही 3 हजार करोड़ रुपये की 300 किलो हेरोइन पकड़ी गई. ड्रग्स के साथ-साथ पांच Ak-47 रायफल और 1000 राउंड गोलियां भी बरामद की गईं है. कुल मिलाकर पिछले एक साल में 1.6 टन नारकोटिक्स कोस्टगार्ड ने पकड़ी है जिसकी कीमत 5200 करोड़ रुपये से ज्यादा है.

कोस्टगार्ड समुद्र में मुस्तैद हैं तो सुरक्षाबलों का एलओसी पर कड़ा पहरा है और यही वजह है कि मंगलवार रात को कश्मीर में बड़ी मात्रा में ड्रग्स की खेप को पकड़ी गई है. नॉर्थ कश्मीर के तंगधार के करनाह तहसील में एलओसी के पास फॉर्वर्ड एरिया में तस्कर 10 किलो ड्रग्स भारत में भेजने की कोशिश में थे. भारतीय सेना, बीएसएफ और जम्मू कश्मीर पुलिस के साझा ऑपरेशन में इस कोशिश को नाकाम किया गया. पकड़े गए ड्रग्स की कीमत 50 करोड़ से ज्यादा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज