Home /News /nation /

देश में अब तक चलीं 3060 श्रमिक स्‍पेशल ट्रेनें, 40 लाख लोग पहुंचे घर

देश में अब तक चलीं 3060 श्रमिक स्‍पेशल ट्रेनें, 40 लाख लोग पहुंचे घर

रेलवे ने जारी किए आंकड़े.

रेलवे ने जारी किए आंकड़े.

भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने कहा कि इनमें से 2608 रेलगाड़ियां अपने गंतव्य तक पहुंचीं जबकि 453 रेलगाड़ियां अभी रास्ते में हैं.

    नई दिल्ली. भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने एक मई से चल रही श्रमिक विशेष रेलगाड़ियों (Shramik Special) से करीब 40 लाख प्रवासी श्रमिकों (Migrant Workers) को उनके गंतव्य तक पहुंचाया है. आधिकारिक आंकड़े के मुताबिक, इस दौरान 3060 श्रमिक विशेष रेलगाड़ियां चलाई गईं. रेलवे ने कहा कि इनमें से 2608 रेलगाड़ियां अपने गंतव्य तक पहुंचीं जबकि 453 रेलगाड़ियां अभी रास्ते में हैं. इसने बताया कि रविवार को 237 रेलगाड़ियों से 3.1 लाख लोगों ने यात्रा की.

    जिन पांच राज्यों, केंद्रशासित प्रदेशों से सर्वाधिक संख्या में रेलगाड़ियां चलीं उनमें गुजरात से 853, महाराष्ट्र से 550, पंजाब से 333, उत्तरप्रदेश से 221 और दिल्ली से 181 ट्रेनें चलीं.





    जिन पांच राज्यों में सर्वाधिक रेलगाड़ियां पहुंचीं उनमें उत्तरप्रदेश में 1245, बिहार में 846, झारखंड में 123, मध्यप्रदेश में 112 और ओडिशा में 73 रेलगाड़ियां पहुंची हैं. राज्यों के आग्रह पर विशेष रेलगाड़ियां चल रही हैं जो प्रवासी श्रमिकों को उनके मूल स्थानों तक पहुंचाना चाहते हैं. रेलवे ने कहा कि रेलमार्ग 23 और 24 मई को काफी व्यस्त रहे लेकिन अब स्थिति ठीक है.

    News18 Polls: लॉकडाउन खुलने पर ये काम कबसे और कैसे करेंगे आप?


    रेलवे ने प्रवासी श्रमिकों को उनके घरों तक पहुंचाने के लिए एक मई से विशेष रेलगाड़ियों का परिचालन शुरू किया था.

    भारत में कोरोना के मामले 1.4 लाख के पार, एक मई की तुलना में हुए चार गुना
    देश में सोमवार को लगातार चौथे दिन, एक दिन में कोविड-19 के सर्वाधिक मामले सामने आए और करीब 7,000 नये मामले सामने के बाद देश में संक्रमण के कुल मामले 1.4 लाख के पार चले गये. एक मई के बाद से मामलों की संख्या चार गुना हो गयी जिस दिन प्रवासी श्रमिकों को उनके घरों तक पहुंचाने के लिए विशेष ट्रेनें शुरू की गयी थीं.

    देश में कोविड-19 संक्रमण से मृतक संख्या 4,000 के आंकड़े को पार कर गयी जिसमें एक मई की तुलना में तीन गुने से अधिक का इजाफा हुआ है. इस अवधि में इलाज करा रहे रोगियों की संख्या भी तीन गुनी से अधिक हो गयी है. उस समय से सही हो चुके कोविड-19 रोगियों की संख्या भी छह गुने से अधिक बढ़कर करीब 60,000 पर पहुंच गयी है.

    बुरी तरह प्रभावित महाराष्ट्र, गुजरात, तमिलनाडु और दिल्ली में लगातार संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं, वहीं बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, ओडिशा और झारखंड में भी रोगियों की संख्या दूसरे राज्यों से विशेष ट्रेनों से प्रवासियों की वापसी शुरू होने से पहले दर्ज संख्या से दस गुना अधिक तक हो गयी है.

    यह भी पढ़ें: भारत में जुलाई में चरम पर होगा कोरोना वायरस संक्रमण, 21 लाख मामलों की आशंका, ये है वजह

    Tags: Coronavirus in India, COVID 19, Indian railway, Lockdown, Migrant Workers

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर