Home /News /nation /

<Font color= red> पीएम की 'मन की बात' पर क्या कह रहे किसान </font>

<Font color= red> पीएम की 'मन की बात' पर क्या कह रहे किसान </font>

आज पीएम मोदी किसानों से मन की बात की। भूमि बिल को लेकर मचे घमासान और बेमौसम बारिश से फसलों की बर्बादी के बीच ये मन की बात महत्वपूर्ण हो गई है।

आज पीएम मोदी किसानों से मन की बात की। भूमि बिल को लेकर मचे घमासान और बेमौसम बारिश से फसलों की बर्बादी के बीच ये मन की बात महत्वपूर्ण हो गई है।

आज पीएम मोदी किसानों से मन की बात की। भूमि बिल को लेकर मचे घमासान और बेमौसम बारिश से फसलों की बर्बादी के बीच ये मन की बात महत्वपूर्ण हो गई है।

    नई दिल्ली। आज पीएम मोदी किसानों से मन की बात की। भूमि बिल को लेकर मचे घमासान और बेमौसम बारिश से फसलों की बर्बादी के बीच ये मन की बात महत्वपूर्ण है। पीएम के मन की बात से आखिर कितना आश्वस्त हुए किसान? प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लगी उनकी उम्मीदें किस हद तक हुईं पूरी? ये जानने के लिए आईबीएनखबर पहुंचा, किसानों के बीच भट्टा पारसौल। जहां किसान भारतीय प्रजा पार्टी के अध्यक्ष मनवीर तेवतिया के नेतृत्व में भूमि अधिग्रहण बिल के खिलाफ 15 फरवरी से सत्याग्रह कर रहे हैं, जिसके उन्होंने 20 फरवरी से आमरण अनशन में तब्दील कर दिया है।

    भट्टा गांव में चल रहे किसानों के अनशन में पहुंचे आछेपुर गांव के श्रीचंद नेताजी ने कहा कि एनडीए सरकार ने भूमि अधिग्रहण के लिए जो बिल लाया है, वो हमारी बर्बादी लेकर आएगा। उन्होंने कहा कि एक तो हमारी थोड़ी-थोड़ी जमीनें हैं। वो भी छिन जाएंगी तो हम कहां जाएंगे? आछेपुर गांव के ही रहने वाले उमेश सिंह भाटी ने कहा कि पहले फसलों के मुआवजे मिले, उसके बाद कुछ और। बारिश ने हमें बर्बाद कर दिया है। सिर्फ सर्वे से कुछ नहीं होने वाला मोदी जी। आछेपुर गांव की ही ओमवती आशंका जताती हैं कि हमारी जमीनें अगर सरकार ले लेगी तो हमारे बच्चे कहां जाएंगे? वो कहती हैं कि अगर अधिग्रहण के बाद हमें आधी जमीनें मिल जाएंगी, तभी तो हमारी अगली पीढियां जिएंगी।

    भारतीय प्रजा पार्टी की अगुवाई में चल रहे अनशन के दौरान बीपीपी के वरिष्ठ राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अबू सुफियान ने कहा कि मोदी जी ने जो मन की बात में 4 गुने मुआवजे की बात की है, उसका पैरामीटर उन्होंने बताया ही नहीं। ऐसे में मुआवजा किस आधार पर दिया जाएगा, ये किसी को नही पता। अध्यादेश के मुताबिक़ शहर से 40 किमी दूर के गांवों को 4 गुना मुआवजा मिलेगा। पहाड़ी क्षेत्रों को छोड़कर देश में ऐसे गांव है ही नहीं। ऐसे में पीएम मोदी किसानों के साथ सिर्फ छलावा कर रहे हैं।

    वहीं, भारतीय प्रजा पार्टी के प्रवक्ता पवन कुमार का कहना है कि वो मोदी जी से एक भी फीसदी सहमत नहीं। अबतक उन्होंने कुछ नहीं किया। मोदी ने चुनाव के समय कहा था कि वो अनाज का समर्थन मूल्य दो गुना करेंगे। लेकिन अबतक नहीं किया। ऐसे में मोदी किसानों को सिर्फ बरगला रहे हैं।

    पारसौल गांव के अनिल मलिक का कहना है कि सिर्फ 4 गुने मुआवजे से क्या होगा? सर्किल रेट पर मुआवजा वैसे भी कम मिलता है। हमें अपनी जमीनें चाहिए। इस दौरान अन्य किसानों ने क्या कुछ कहा? नीचे लाइव ब्लॉग में पढ़ें भट्टा पारसौल से मन की बात की लाइव कवरेज।

    Tags: Narendra modi

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर