• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • 2019 में केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों के 36 जवानों ने की आत्महत्या: एनसीआरबी

2019 में केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों के 36 जवानों ने की आत्महत्या: एनसीआरबी

एनसीआरबी ने आत्महत्या के मामलों का बल-वार ब्यौरा नहीं दिया. (File Photo)

एनसीआरबी ने आत्महत्या के मामलों का बल-वार ब्यौरा नहीं दिया. (File Photo)

NCRB 2019 Suicide Data: राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (National Crime Record Bureau) के मुताबिक पिछले छह सालों में 433 जवानों ने आत्महत्या कर ली.

  • Share this:
    नई दिल्ली. राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (National Crime Record Bureau) के ताजा आंकड़ों के अनुसार 2019 में केंद्रीय गृह मंत्रालय (Home Ministry) के तहत आने वाले सशस्त्र पुलिस बलों (Armed Forces) के 36 जवानों ने आत्महत्या कर ली. छह साल में ऐसी कुल 433 घटनाएं हुयी हैं. आंकड़ों के अनुसार छह साल के दौरान केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (Central Armed Police Forces) के 433 कर्मियों ने आत्महत्या की. वर्ष 2018 में सबसे कम 28 ऐसे मामले दर्ज किए गए जबकि 2014 में सबसे ज्यादा 175 मामले सामने आए.

    वर्ष 2017 में ऐसी घटनाओं की संख्या 60 थी जबकि 2016 में 74 और 2015 में 60 थी. गृह मंत्रालय के प्रशासनिक नियंत्रण में आने वाले सीएपीएफ में सात केंद्रीय सुरक्षा बल शामिल हैं. इसमें असम राइफल्स (Assam Rifles) के अलावा सीमा सुरक्षा बल (Border Security Force), केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (Central Reserve Police Force), केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (Central Industrial Security Force), भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (Indo-Tibetan Border Police), सशस्त्र सीमा बल (Sashastra Seema Bal) और राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (National Security Guard) शामिल हैं.

    एनसीआरबी (NCRB) ने कहा कि एक जनवरी 2019 को सीएपीएफ (CAPF) में 9,23,800 कर्मी थे. ये बल सीमाओं की सुरक्षा के अलावा आंतरिक सुरक्षा बनाए रखने तथा गैरकानूनी गतिविधियों पर अंकुश लगाने में केंद्र और राज्य सरकारों की सहायता में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं.

    ये भी पढ़ें- केंद्र सरकार ने परीक्षाओं के लिए जारी की SOP, मानने होंगे ये नियम

    एनसीआरबी ने आत्महत्या के मामलों का बल-वार ब्यौरा नहीं दिया.

    सीआरपीएफ के जवान ने की खुदकुशी
    बता दें बुधवार को ही एक सीआरपीएफ के जवान की खुदकुशी की खबर सामने आई है. जम्मू-कश्मीर के डोडा जिले में तैनात केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के सहायक उपनिरीक्षक (एएसआई) ने बुधवार को सरकारी राइफल से कथित तौर पर खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली. अधिकारियों ने बताया कि 52 वर्षीय अमृत भारद्वाज 33वीं बटालियन में तैनात थे और रात की ड्यूटी करने के बाद कोटली स्थित पुलिस परिसर में बने बैरक में लौटने के तुरंत बाद खुद को गोली मार ली.

    मामले की हो रही जांच
    भदरवाह के पुलिस अधीक्षक राज सिंह गौरिया ने बताया, ‘‘घटना सुबह करीब सात बजकर 30 मिनट पर हुई और एएसआई को तुंरत उप जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.’’ उन्होंने बताया कि भदरवाह थाने में संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज कर आगे की जांच की जा रही है.

    पुलिस अधीक्षक ने बताया कि सभी कानूनी औपचारिकताओं को पूरा कर शव सीआरपीएफ को सौंप दिया गया है. उन्होंने कहा कि तत्काल आत्महत्या की वजह पता नहीं चली है. अधिकारियों ने बताया कि भारद्वाज मूल रूप से असम के भरलीपुर गांव के रहने वाले थे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज