Home /News /nation /

तबाही की बारिश, कई किसानों की गई जान

तबाही की बारिश, कई किसानों की गई जान

देश के कई राज्यों में बेमौसम बारिश और ओलों ने किसानों की महीनों की मेहनत पड़ पानी फेर दिया। जिसके चलते कई किसानों की जान चली गई।

    नई दिल्ली। देश के कई राज्यों में बेमौसम बारिश और ओलों ने किसानों की महीनों की मेहनत पड़ पानी फेर दिया। बेमौसम बारिश के चलते खराब हुई फसलों के चलते हजारों हेक्टेयर फसलें बर्बाद हो गई। कई शहरों में कर्ज नहीं चुका पाने के चलते किसान खुदकुशी को भी मजबूर होने लगे हैं।

    भारी बारिश और आंधी के चलते पेड़ भी गिरने की घटना भी सामने आई है। मूसलाधार बारिश के कारण तापमान में तो कमी आई है, लेकिन किसानों के लिए मुसीबत का सबब भी बन गई। मौसम विभाग ने आगे भी बेमौसम बारिश की आशंका जताई है।

    उत्तर भारत के कई इलाकों में भारी बारिश के चलते खेतों में खड़ी फसल तबाह होने से हजारों किसान बर्बादी के कगार पर पहुंच गए हैं। मध्यप्रदेश के ग्वालियर, चंबल समेत छतरपुर, टीकमगढ़ और राजस्थान से सटे इलाकों में बारिश ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है। बारिश के साथ साथ ओले गिरने से फसलों पूरी तरह तबाह हो गईं। मौसम विभाग ने एमपी के कई इलाकों में भारी बारिश की आशंका जताई है। यूपी के मथुरा में भी फसलें बर्बाद होने से तबाह हुए किसान आंदोलन की तैयारी कर रहे हैं।

    महाराष्ट्र के जलगांव में फसलें बर्बाद होने के बाद कर्ज चुकाने में नाकाम दो किसानों ने खुदकुशी कर ली। वहीं राजस्थान के कोटा में भी दो किसानों ने खुदकुशी कर ली। आज खाद्य उपभोक्ता मामलों के मंत्री राम विलास पासवान की अगुवाई में केंद्रीय टीम चंडीगढ़ जाएगी। पासवान के नेतृत्व वाली ये टीम हरियाणा में बेमौसम बारिश से फसलों को हुए नुकसान का जायजा लेगी।

    वहीं यूपी के मुराबाद में फसल बर्बाद होने से एक किसान की खुदकुशी का मामला सामने आया है। जहां किसान की लाश रेलवे ट्रैक पर मिली है। बताया जा रहा है कि पिछले दिनों हुई बारिश के चलते रामपाल की फसल बर्बाद हो गई थी, जिसके बाद से वो काफी तनाव में था। बेवक्त बारिश ने लखनऊ में जहां आम लोगों को गर्मी से निजात दिला दी। वहीं आसपास के किसानों के चेहरों पर तनाव की लकीरें भी खींच दी।

    Tags: उत्तर प्रदेश, मथुरा, लखनऊ

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर